blogid : 1 postid : 1301874

नए साल पर कोई ‘यादगार लम्हा’ जिसे आप देना चाहते हैं शब्द

Posted On: 23 Dec, 2016 Junction Forum में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

कई भावनाएं, कई किस्से और यादें. हर बीता साल हमारे जहन में बहुत से लम्हें छोड़ जाता है. अक्सर ऐसा होता है कि जिन बातों पर कभी हम परेशान हो रहे होते हैं, वो बातें आगे चलकर हमारी यादों में जुड़ जाती है. जैसे, स्कूल के दिनों में कोई गलती करने पर हमारे टीचर्स हमें डांटते थे या बैंच पर खड़ा कर देते थे. उस मासूम-सी सजा के दौरान हम अपने दोस्तों के साथ अक्सर मस्ती करते थे, जिसपर हमें और भी सजा मिलती थी. उस वक्त सजा मिलने पर हमें बहुत बुरा लगता था लेकिन आज सालों बाद जब हम उन दिनों को याद करते हैं तो हमारे चेहरे पर मुस्कान आ जाती है.



paper

इसी तरह मन की कई भावनाएं ऐसी होती हैं जिन्हें हम दूसरों से शेयर करना चाहते हैं लेकिन जीवन की आपा-धापी में किसी के पास इतना वक्त कहां है. ऐसे में ‘जागरण जंक्शन’ मंच आपकी रूचि के अनुसार कुछ ऐसे विषय लेकर हाजिर है, जिसके बारे में आप लिखना चाहते हैं. आप इन सवालों में से अपनी पसंद के अनुसार किसी भी विषय का चुनाव करके, अपनी भावनाओं को शब्द दे सकते हैं. तो देर किस बात की, आने वाले साल की शुरूआत अपने दिल की बातों को शब्द देने के साथ कीजिए. हमें आपके दिलचस्प लेखों का इंतजार रहेगा.



1. नए साल से जुड़ी हुई कोई घटना या यादगार लम्हा, जो आपको आज भी याद है

2. बचपन में आप नया साल कैसे मनाते थे, तब से आज में क्या बदलाव महसूस करते हैं

3. अगर आपको मौका मिले तो देश को नए साल का क्या तोहफा देंगे?

4. पिछले साल किन घटनाओं ने आपको निराश किया?

5. नए साल पर सरकार द्वारा जनता को क्या तोहफा देना चाहिए?

6. नोटबंदी के बाद नए साल में क्या बदलाव देखने को मिलेगा?

7. नए साल में राजनीति, आर्थिक और सामाजिक क्षेत्र में क्या बदलाव आ सकते हैं और क्यों?

8. किन सामाजिक घटनाओं या बुराईयों को पुराने साल में ही छोड़ देना चाहिए?

9. नए साल पर क्या संकल्प है?

10. नए साल में देश में क्या बदलाव देखना चाहते हैं?


नोट : अपना ब्लॉग लिखते समय इतना अवश्य ध्यान रखें कि आपके शब्द और विचार अभद्र, अश्लील और अशोभनीय न हो तथा किसी की भावनाओं को चोट न पहुंचाते हो.




Tags:             

Rate this Article:

0 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 5 (0 votes, average: 0.00 out of 5, rated)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



latest from jagran