blogid : 1 postid : 1351968

... तो 2030 तक साफ हवा में सांस लेने की लगा सकते हैं आस!

Posted On: 8 Sep, 2017 social issues में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

प्रदूषण और लगातार बढ़ती वाहनों की संख्‍या पर जारी बहस के बीच केंद्र सरकार साल 2030 तक देश में पूरी तरह इलेक्ट्रॉनिक कारों का दौर लाना चाहती है। यानी उम्‍मीद की जाए कि 2030 तक हमें शुद्ध ऑक्‍सीजन मिलने लगेगा। हमें प्रदूषित वायु से मुक्ति मिल जाएगी। वातावरण वायु प्रदूषण मुक्‍त हो जाएगा। अभी तक की कवायद से तो ऐसा ही लग रहा है कि 2030 तक हम साफ हवा में सांस लेने आस लगा सकते हैं।


traffic


‘पेट्रोल-डीजल की कारों का भविष्य ज्‍यादा नहीं’

दरअसल, केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कार निर्माता कंपनियों को चेताया है कि पेट्रोल-डीजल की कारों का भविष्य ज्‍यादा नहीं है। हमें वैकल्पिक ईंधन का रुख करना चाहिए। उन्‍होंने कहा कि मैं ये करने जा रहा हूं, आप इसे पसंद करें चाहे न करें। मैं आपसे पूछूंगा नहीं। प्रदूषण दूर करने के लिए मेरे विचार बहुत साफ हैं। जो कंपनियां सरकार की योजनाओं में सहयोग करेंगी, उन्हें कुछ न कुछ फायदा जरूर मिलेगा। मगर जो सहयोग नहीं करेगा, उसकी जेब पर असर ज्‍यादा होगा। ऑटोमोबाइल कंपनी से जुड़े एक कार्यक्रम में पहुंचे गडकरी ने कहा कि पेट्रोल-डीजल से चलने वाले वाहनों की निर्माता कंपनियों को इलेक्ट्रॉनिक या फिर बायो ईंधन का रुख करना पड़ेगा। उधर, भारत में कार निर्माता कंपनियां 2020 तक बीएस-6 इंजन के साथ आने के लिए खुद को तैयार कर रही हैं, इसलिए गडकरी की बातों का उन पर खास असर नहीं दिख रहा है।


gadkari


‘2030 तक देश में हों सिर्फ इलेक्‍ट्रॉनिक वाहन’

गडकरी ने सरकार की योजना पर बात करते हुए कहा कि उनका बड़ा लक्ष्य यह है कि 2030 तक देश में सिर्फ इलेक्ट्रॉनिक वाहन हों। इसके लिए उन्होंने इंडस्ट्री के लोगों को कुछ नया सोचने, रिसर्च करने और नई तकनीक पर काम करने की सलाह दी है। उन्होंने कहा कि आज हर आदमी के पास कार है। सड़कों पर कारों की संख्या बढ़ती जा रही है। अगर यही रफ्तार रही तो सड़कों पर एक अतिरिक्त लेन बनाने की जरूरत पड़ जाएगी। गडकरी ने स्‍पष्‍ट कहा कि डीजल-पेट्रोल वाहन नहीं चलेंगे, मैं इसे बंद कर दूंगा। नई तकनीक अपनाने की बात के साथ यह चेतावनी भी दी कि बाद में ज्‍यादा गाडि़यां होने की बात कहकर कोई बच नहीं पाएगा, सबको बदलना होगा। उन्‍होंने बताया कि केंद्रीय कैबिनेट में यह प्रस्ताव अपने अंतिम दौर में है। इसमें चार्जिंग स्टेशन खोलने का प्रस्ताव भी शामिल है। सरकार की योजना करीब 2000 ड्राइविंग स्कूल खोलने की भी है।


Read More:

BlockNarendraModi कैंपेन के बाद घटने की बजाय इतने बढ़ गए प्रधानमंत्री मोदी के फॉलोवर्स
शिक्षा में आगे बढ़ रहे हमारे कदम पर इन पड़ोसी देशों से अभी पीछे हैं हम
इन विवादित बाबाओं के पास है बेशुमार दौलत, जानें कौन है कितनी संपत्ति का मालिक




Tags:                       

Rate this Article:

0 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 5 (0 votes, average: 0.00 out of 5, rated)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran