blogid : 1 postid : 1371833

कभी इनकी वजह से चलती थी रजनीकांत की फिल्में, पंखे से लटक कर दी थी जान!

Posted On: 2 Dec, 2017 Entertainment में

Shilpi Singh

  • SocialTwist Tell-a-Friend

साल 2011 में विद्या बालन की फिल्म ‘द डर्टी पिक्चर’ ने बॉलीवुड में जबरदस्त नाम कमाया। इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर धमाल मचा दिया, लेकिन फिल्म की कामयाबी के पीछे एक ऐसा नाम छुपा था जो कभी साउथ फिल्म इंडस्ट्री की जरूरत बन चुका था। जी हां, ये नाम था अभिनेत्री सिल्क स्मिता. दरअसल, ‘द डर्टी पिक्चर’ की कहानी सिल्क स्मिता की कहानी थी। आइए जानते हैं आखिर कैसे टॉलीवुड की सबसे बड़ी आइटम गर्ल अचनाक से गुमनामी में खो गई?


cover




बेहद गरीब परिवार से थीं सिल्क


Silk



ऐसा माना जाता है कि सिल्क का परिवार इतना गरीब था कि घर वाले उन्हें पढ़ने के लिए सरकारी स्कूल भी नहीं भेज सकते थे। ऐसे में चौथी क्लास में ही उनकी पढ़ाई छूट गई। उनका बचपन का नाम विजयालक्ष्मी था जिसे फिल्मों में आने के बाद उन्होंने बदल लिया। घर का खर्च और खुद का पेट पालने के लिए सिल्क फिल्मों में मेकअप असिस्टेंट का काम करने लगीं। स्मिता शूटिंग के दौरान हीरोइन के चेहरे पर टच अप का काम किया करती थीं, फिल्मों में हीरोइनों को काम करता देख उनकी आखों में भी हीरोइन बनने का सपना सजने लगा।


एक ब्रेक ने चमका दी किस्मत


silk-smitha-

स्मिता को 1978 में कन्नड़ फिल्म ‘बेदी’ में पहली बार काम करने का मौका मिला। हालांकि, उन्हें बड़ा ब्रेक ‘वांडीचक्रम’ (1979) से मिला इस फिल्म में उन्होंने स्मिता का किरदार निभाया, जो लोगों को काफी पसंद आया। साथ ही, उन्होंने मद्रासी चोली का फैशन भी शुरू कर दिया, इस किरदार की शोहरत के चलते उन्होंने अपना नाम सिल्क स्मिता कर लिया। 1983 में उन्होंने ‘सिल्क सिल्क सिल्क’ नाम की भी फिल्म की, कॅरियर के तीन सालों के दौरान ही उन्होंने करीब 200 फिल्मों में काम कर लिया।


साउथ की फिल्मों की लाइफ थीं स्मिता


smita

दक्षिण भारतीय सिनेमा में 1970 के दशक के आखिर से 1990 के शुरू तक सिल्क स्मिता का जादू दर्शकों के सिर चढ़ कर बोलता था। वह बॉक्स ऑफिस पर भारी भीड़ खींचने वाली अभिनेत्री बन गई थीं। साउथ की फिल्मों में उनका असर इस कदर था कि तमिल और तेलुगु की कई ऐसी फिल्में, जिनमें नामी हीरो होने के बावजूद कोई उन्हें खरीदने को तैयार न था, उनमें यदि सिल्क का एक अदद कैबरे डांस डाल दिया जाता, तो वह हाथों-हाथ बिक जाता था।



पैसे के लिए शिफ्टों में किया काम


Smitha11


सिल्क का जादू अब इंडस्ट्री में चलने लगा था, उनके फैन्स इतने ज्यादा बढ़ चुके थे कि हर डायरेक्टर फिल्म में उनका एक गाना जरूर डालना चाहता था। ऐसे में सिल्क एक दिन में 3-3 शिफ्ट किया करती थी। वो एक गाने के लिए 50 हजार रुपए तक लेती थीं साउथ के सुपरस्टार शिवाजी गणेशन, रजनीकांत, कमल हासन, चिरंजीवी तक अपनी फिल्मों में उनका एक गाना जरूर डालना चाहते थे। लगातार फिल्मों के चलते उन्होंने 10 सालों में करीब 500 फिल्मों में काम कर लिया।


निर्माता बनकर हुआ करोड़ों का घाटा


silks

फिल्मों में अभिनय और गाने से सिल्क ने अच्छी आमदनी की। ऐसे में उनके एक करीबी मित्र ने उन्हें प्रोड्यूसर बनकर और पैसे कमाने का लालच दिया, जिसके बाद उन्हें पहली दो फिल्मों में ही 2 करोड़ रुपए का घाटा हो गया। उनकी तीसरी फिल्म तो बतौर प्रोड्यूसर पूरी ही नहीं हो सकी। फिल्मों में हुए घाटे का असर उनके निजी जीवन पर भी हुआ और मानसिक तौर पर वो काफी कमजोर हो गईं।


पंखे से झूलती मिली स्मिता की लाश


Silk-Smitha 1


23 सितंबर, 1996 को सिल्क स्मिता की मौत हो गई। उनकी लाश घर में पंखे से झूलती हुई पाई गई। उनकी मौत की खबर ने दक्षिण फिल्म उद्योग को हिलाकर रख दिया। पुलिस ने इसे आत्महत्या बताकर केस बंद कर दिया। हालांकि, कई लोगों का मानना था कि उनकी मौत के पीछे की वजह कुछ और ही है। इस तरह 18 सालों तक साउथ इंडस्ट्री पर राज करने वाली ये एक्ट्रेस एक पहेली बनकर दुनिया से चली गईं।….Next


Read More:

कभी अजय देवगन को दिल दे बैठी थीं रवीना, लेकिन फिर सुसाइड करने की आई नौबत

55 साल की नौकरानी है ओम पुरी का पहला प्यार, 14 साल में बनाए थे शारीरिक संबंध

इस सुपरस्टार के साथ 15 साल रिश्ते में रही तब्बू, फिर भी नहीं बन पाई उनकी पत्नी



Tags:                                 

Rate this Article:

0 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 5 (0 votes, average: 0.00 out of 5, rated)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran