blogid : 1 postid : 1375376

गेंदबाज बनना चाहते थे हिटमैन, इस घटना के बाद करने लगे बल्‍लेबाजी!

Posted On: 18 Dec, 2017 Sports and Cricket में

Avanish Kumar Upadhyay

  • SocialTwist Tell-a-Friend

रोहित शर्मा क्रिकेट जगत का वो धाकड़ बल्‍लेबाज है, जिसकी बल्‍लेबाजी के कायल दुनिया भर के खिलाड़ी और क्रिकेट प्रेमी हैं। रोहित ने ऐसे रिकॉर्ड बनाए हैं, जो निकट भविष्‍य में शायद ही कोई बल्‍लेबाज तोड़ पाए। रोहित के नाम वनडे में तीन दोहरा शतक ठोकने का अनूठा रिकॉर्ड है। रोहित को उनकी शानदार बल्‍लेबाजी के लिए ही हिटमैन कहा जाता है। मगर उनकी इस सक्‍सेस के पीछे कड़ी मेहनत है। रोहित से हिटमैन बनने तक का उनका सफर आसान नहीं रहा है। खासबात यह है कि रोहित की पहचान धाकड़ बल्‍लेबाज की है, लेकिन वे बल्‍लेबाज नहीं, बल्कि गेंदबाज बनना चाहते थे। आइये आपको बताते हैं रोहित की जिंदगी से जुड़ी कुछ ऐसी ही खास बातें।


rohit sharma


इस घटना के बाद और बढ़ गया क्रिकेट से प्‍यार


rohit sharma1


डोंबिवली के वन रूम सेट में रहने वाले गुरुनाथ शर्मा और पूर्णिमा शर्मा के बड़े बेटे रोहित के यहां तक पहुंचने की कहानी दिलचस्‍प है। डोंबिवली से क्रिकेटीय दुनिया की दूरियों ने उन्हें बोरीवली में अपने परिवार के अन्य सदस्यों के साथ रहने को मजबूर किया। बोरीवली भी मुंबई का उत्तरी सिरा और मुंबई के क्रिकेट के मक्का से बहुत दूर है। क्रिकेट के लिए अपनी किशोरावस्‍था में रोहित ने माता-पिता का घर और छोटे भाई का साथ छोड़ा। वीकेंड पर ही परिवार से मुलाकात होती थी। क्रिकेट शहर में एक ओर था और घर दूसरे सिरे पर। लोकल ट्रेन का लंबा और कठिन सफर रोहित की जिंदगी का हिस्सा बन गया था। एक बार लोकल ट्रेन की ऐसी ही एक यात्रा के दौरान रोहित का दरवाजे से बाहर लटका प्रैक्टिस किट बैग नीचे गिर गया। रोहित अपने किट बैग के लिए अगले स्टेशन पर उतरकर वापस पटरियों के किनारे-किनारे दौड़ते हुए पिछले स्टेशन तक आए। इस घटना के बाद रोहित का क्रिकेट को लेकर प्‍यार और बढ़ गया।


उंगली में फ्रैक्‍चर के बाद करने लगे बल्‍लेबाजी


rohit sharma1


आज रोहित शर्मा की क्रिकेट जगत में एक शानदार बल्‍लेबाज के रूप में पहचान है। मगर आपको जानकर हैरानी होगी कि रोहित बल्‍लेबाज नहीं, बल्कि गेंदबाज बनना चाहते थे। उन्होंने अपना कॅरियर गेंदबाज के तौर पर शुरू किया था। जूनियर क्रिकेट के दिनों में 2005 में आई श्रीलंका की टीम के खिलाफ 50 ओवर के मैच के दौरान रोहित के दाहिने हाथ की उंगुली में फ्रैक्चर हो गया। इसी घटना के बाद हिटमैन का गेंदबाजी का कॅरियर लगभग खत्म हो गया। चोट लगने की वजह से रोहित गेंद को ठीक से ग्रिप नहीं कर पा रहे थे। इसके बाद उन्होंने बल्लेबाजी पर ध्यान देना शुरू किया और आज उसका परिणाम दुनिया के सामने है।


रोहित के रिकॉर्ड को तोड़ पाना आसान नहीं


Rohit Sharma2


रोहित ने अभी तक तीन दोहरा शतक ठोका है। खासबात यह है कि रोहित ने जब-जब दोहरा शतक जड़ा, तब-तब इंडिया ने मैच जीता है। हिटमैन ने कॅरियर का पहला दोहरा शतक 2013 में ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ बनाया था। बंगलुरू के एम चिन्‍नास्‍वामी स्‍टेडियम में हुए इस मैच में रोहित ने 209 रन बनाए थे। इसके बाद सन् 2014 में श्रीलंका के खिलाफ कोलकाता के ईडन गार्डन्‍स में 264 रनों की पारी खेली। कॅरियर का तीसरा दोहरा शतक भी श्रीलंका के खिलाफ ही बनाया। रोहित ने 13 दिसंबर 1017 को मोहाली के पीसीए स्‍टेडियम में श्रीलंका के खिलाफ 208 रन बनाए…Next


Read More:

जिम में इतना वक्त बिताते हैं विराट, जानें ब्रेकफास्‍ट से लेकर डिनर तक में क्‍या खाते हैं कोहली
जब इस भारतीय गेंदबाज ने जड़े थे लगातार 4 छक्‍के, बनाया था खास रिकॉर्ड!
जब ढेर हुए दिग्गज भारतीय बल्लेबाज, तब इन दो गेंदबाजों की बैटिंग ने दिलाई जीत



Tags:                             

Rate this Article:

0 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 5 (0 votes, average: 0.00 out of 5, rated)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran