Saroj Chaudhary

The President, Mithilanchal Mukti Morcha

159 Posts

33 comments

Saroj Chaudhary


Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.

Sort by: Rss Feed

शिक्षा हमें सोचना सिखाती है

Posted On: 3 Feb, 2017  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

में

0 Comment

Page 1 of 1612345»10...Last »

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

के द्वारा: Saroj Chaudhary Saroj Chaudhary

के द्वारा: Saroj Chaudhary Saroj Chaudhary

के द्वारा: Deepak Kapoor Deepak Kapoor

के द्वारा: Saroj Chaudhary Saroj Chaudhary

के द्वारा: Saroj Chaudhary Saroj Chaudhary

के द्वारा: Saroj Chaudhary Saroj Chaudhary

के द्वारा: Saroj Chaudhary Saroj Chaudhary

के द्वारा: Saroj Chaudhary Saroj Chaudhary

के द्वारा: Saroj Chaudhary Saroj Chaudhary

के द्वारा: Saroj Chaudhary Saroj Chaudhary

के द्वारा: Saroj Chaudhary Saroj Chaudhary

के द्वारा: Saroj Chaudhary Saroj Chaudhary

के द्वारा: yatindranathchaturvedi yatindranathchaturvedi

के द्वारा: Saroj Chaudhary Saroj Chaudhary

के द्वारा: Saroj Chaudhary Saroj Chaudhary

के द्वारा: yatindranathchaturvedi yatindranathchaturvedi

के द्वारा: Saroj Chaudhary Saroj Chaudhary

राज ठाकरे आजकल गुजरात के दौरे पर है । वो गुजरात और मोदी के काम का जायजा लेने गये है । उन्हे आशा है की मोदी से कुछ सिखने को मिलेगा । वो देखेन्गे की मोदी ने किसी को गुजरातमे आनेसे नही रोका है । गुजरात को मजदूरो की जरूरत है । गुजराती लोग आज मजदूरी नही करते, करवाते है । लेकिन राज के लिये उलझन तो रहेगी । गुजरात और महाराष्ट्र मे फर्क है । मराठी जनता को कोन्ग्रेसने साकी बनके ईतनी दारु पिलाई है की ये लोग खुद मजदूर बनके रेह गये है, धन्धे के लिये जो आत्मविश्वास चाहिये वो छिन लिया है । महाराष्ट्र मे बाहरसे आये मजदूरो को ज्यादा कर्यक्षम माना जाता है । और वही लोग मेहनत-मजदूरी वले धन्धे और नौकरी पर कबजा जमा लेते है । आप लोग भारतिय नागरिको को कही भी बसने के अधिकार की बाते उठते हो । ठीक है, अधिकार है । लेकिन जब आरक्षण की बात आती है तो सांप सुंघ जाता है । क्या सबको एक जैसी पढाई और नौकरी पाने का अधिकार नही है ? मुझे मालुम है, आप बोलोगे की दबे कुचले लोग । तो महाराष्ट्रके भूमिपुत्र दबे कुचले नही है ? राज ठकरे मे है दम जो उनके लिये खूद आरक्षण बनाये । बाकी भारत के लोग राज ठकरे कोसने के बजाय अपनी अपनी कामचोर सरकार को कोसो । क्यो नही सबको रोजगार देती ?

के द्वारा: bharodiya bharodiya




latest from jagran