blogid : 20034 postid : 808112

मीडिया

Posted On: 25 Nov, 2014 Others में

AMIR KHURSHEED MALIKबहुत कुछ अच्छा हुआ है , जिसे सहेजना जरुरी है ...... बहुत कुछ अच्छा हो रहा है , जिसे ढूंढना बहुत जरुरी है !

आमिर खुर्शीद मलिक

13 Posts

5 Comments

लोकतंत्र का चौथा स्तम्भ ( मीडिया ) आज स्वयं सवालों के घेरे में आ चुका है ! मीडिया जब अपनी व्यक्तिगत नीतियों और हितों के आवरण में उलझा अपना चेहरा लेकर सामने आता है , …….तो अविश्वास का बीज जन्म ले ही लेता है ………… देर – सबेर ही सही , सच्चाई का खुलासा होता जरुर है …… लेकिन इस दरमियान एक अनचाहा नुकसान सामाजिक ताने-बाने को हो चुका होता है , जिसकी भरपाई कई बार असंभव हो जाती है ! इतना तय है कि मीडिया के लिए कि देश हित,निष्पक्षता और मानवीयता से बढ़कर कोई और नजरिया उत्तम नहीं है ! जहाँ पर इन से समझौता होगा , विवाद पैदा होंगे ही ! जो देश मीडिया को ईमानदारी और निष्पक्षता के सर्वश्रेष्ठ स्वरुप की पहचान देता है ….. उसके लिए जवाबदेही से बचना असंभव है !

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग