blogid : 14295 postid : 1385571

चूँकि वो औरत है

Posted On: 24 Mar, 2018 Common Man Issues में

Achyutam keshvamहम समय शम्भु के चाप चढ़े सायक हैं. हम पीड़ित मानवता के नव नायक हैं हम मृतकों को संजीवन मन्त्र सुनाते हम गीत नहीं युग गीता के गायक हैं

achyutamkeshvam

103 Posts

250 Comments

चूँकि वो औरत है
****************
उसे बदल लेना चाहिए
अपना नाम सरनाम
शादी होते ही .
भले ही समझा जाता हो इसे प्रतिज्ञावानों में लज्जाजनक
और कहावत हो कि अगर एसा …न हो तो नाम बदल देना .

चूँकि वो औरत है
****************
उसे कामना करनी चाहिए
अपनी कम उम्र होने
और पति से जल्दी मर जाने की
इसके लिए रखना चाहए
हर वर्ष करवा चौथ निर्जल

चूँकि वो औरत है
****************
उसे चुप रहना चाहिए
जब उसी के मंगल विवाह के
निमन्त्रण पत्र पर
लड़के को चिरंजीवी
(यानि खूब लम्बी उम्र वाला )
और उसे सौभाग्यकांक्षी
(यानि कम उम्र और पति से जल्दी मरने की कामनावाली)
लिखा हो .

चूँकि वो औरत है
****************
उसे सहना चाहिए
जब उसके भाई से पति के
सम्बन्ध सूचक शब्दसंज्ञा साले को
गाली की तरह इस्तेमाल किया जाता हो
खुलेआम

चूँकि वो औरत है
****************
उसे लेनी चाहिए परमीशन
भाई को राखी बाँधने की
माँ-बाप की मृत्यु पर शोक में जाने की
रोज सबसे बाद में झूठा बचा खुचा खाने की
कौन सा गहना-कपड़ा
कब कहाँ किस तरह कितनी देर पहनना है इसकी
बोलने और न बोलने की
बोलना है तो कब कहाँ कितना
कितनी तेज या धीमी आवाज में इसकी
जीने की साँस लेने की
खुश होने पर कैसे हँसना है या नहीं हँसना है
हंसना है तो कब कहाँ कितना
कितनी तेज या धीमी आवाज में इसकी
दुखी होने पर रोना है या नहीं इसकी
रोना है तो तो कब कहाँ कितना
कितनी तेज या धीमी आवाज में इसकी
और
परमिशन न मिलने पर
नहीं होना चाहिए दुखी
करना चाहिए एडजस्ट

चूँकि वो औरत है
****************
तो उसे उठाना चाहए
उस गृह-विभाजन की निन्दित जिम्मेदारी
जिसका कारण है
पति-जेठ-देवर की धन स्पृहा
और मनोमालिन्य
जिसके बाद उसके हाथ उसके नाम
नहीं आनी कानी कौड़ी

चूँकि वो औरत है
****************
उसे नहीं माँगना चाहिए
कोई हक
नहीं करनी चाहिए
भाई से माँ -पिता की सम्पत्ति में
अपने हिस्से की माँग
नहीं करना चाहिए
पति से कोई अपेक्षा

चूँकि वो औरत है
****************
उसे दे देना चाहिए चुपचाप
जब जो महा?पुरुष माँगे
अपना धन
अपना सम्मान
अपना शरीर
अपनी आन
अपना मान

चूँकि वो औरत है
****************
इसलिए
उसे चुपचाप गुलामी स्वीकार जीना चाहिए
और
इसी भाँती चुपचाप एकदिन
घुलते-घुलते मर जाना चाहिए

चूँकि वो औरत है
****************
चूँकि वो औरत है
****************
चूँकि वो औरत है
****************

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (4 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग