blogid : 1876 postid : 738

सचिन जी के लाजवाब बाउंसर का जवाब (कविता/हास्य-व्यंग्य))

Posted On: 15 Jun, 2010 Others में

मुझे भी कुछ कहना हैविचारों की अभिव्यक्ति

Dr. Aditi Kailash

46 Posts

1272 Comments

ये पोस्ट खासकर alrounder जी के लिए हैं…….जिन्होंने बड़ी मेहनत से बाउंसर फेंका, पर हमें आउट ना कर सकें……दुबारा बाउंसर फेंका, फिर भी हम बच गए…….आप चाहे तो आप भी एन्जॉय कर सकते है……..इसे सिरिअसली न लें…..ये तो सिर्फ एक मजाक का मजकिया जवाब है…….

वैधानिक चेतावनी: अगर आप सब टी वी देखते है तो आप इसका भरपूर मज़ा ले पाएंगे….

ये पंक्तियाँ वो हैं जो alrounder जी ने हमें अपने पहले ओवर की सांतवी बॉल पर बाउंसर फेंका था….

अब कौन सामने है aditikailash
अब मेरे सामने हैं अदिति कैलाश !
आम ब्लोगर्स मैं थोड़ी सी ख़ास !
भीषण गर्मी मैं सर्दी का एहसास !
फोटो से नहीं होता उम्र का आभास !
ये कहाँ से आ गई लिखती झकास !
पर तुमको मैं बोल देता हूँ बिंदास !
देखें कैसे होता है तुम्हारा पप्पू पास

ये हमारा पहला जवाब
allrounder ji,
बहुत दिनों से आपके बाउंसर का इंतजार था…..आपने कब चुपके से डाल दिया पता ही नहीं चला……हमारी बिंदास बातों से डर तो नहीं गए थे……हमने आपके बाउंसर का जवाब बाउंसर से ही दिया है, बुरा मत मानियेगा….
आपको शुभकामनायें….

पहले ओवर में ही आप, डाल गए नो बॉल
सोचो क्या होगा फ़ाइनल में आपका हाल
कर लो जितनी कोशिश कर सकते हो फिलहाल
नहीं चाहते रह जाये आपके मन में कोई मलाल
मन में कोई मलाल लिखेंगे अपना ब्लॉग झक्कास
ब्लॉग पढके आपको भी हो जायेगा ये अहसास
सोचा फिर भी बता ही दे आज आपको बात एक खास
अब तक तो हुआ है आगे भी होगा हमारा पप्पू ही पास


alroundar जी का दूसरा बाउंसर
टी-२० मैं शामिल सभी खिलाडियों मैं से ७ खिलाडियों पर मैंने अपने तेज़ bouncer फेंके, मगर उनमें से ज्यादातर खिलाडियों ने मेरे bouncer का जवाव झुककर देने मैं ही अपनी भलाई समझी मगर उनमें से कुछ खिलाडियों ने मेरे bouncer का जवाव बहुत खतरनाक ढंग से दिया है, अब मैं उन खिलाडियों पर अपने इस ओवर मैं दोबारा bouncer फ़ेंक रहा हूँ देखता हूँ इस बार वे कैसे इसका सामना करते हैं !
अदिति कैलाश :-

क्या कहती हो तुम , मुझे भी कुछ कहना है !
तो हम लोगो को यहाँ क्या चुप रहना है ?
चुप रहके तुम्हारे लिखे लेखों को सहना है ?
सुनिए F . I . R की चंद्रमुखी चौटाला !
हमें पता चला, तुम और तुम्हारे चाचा जी R .K खुराना
मिलकर करने वाले हो चुनाव मैं घोटाला !
मगर पापा कसम हमने भी इसबार ऐसा BOUNCER डाला !
की तुम्हे चंद्रमुखी से लापतागंज की सुरीली बना डाला !
अरे संपादक जी आप भी यहाँ पर गैर कानूनी कार्य करवा रहे हो !
बाल-श्रम कानून मैं वर्जित है फिर इस नन्ही सी जान से इतनी मेहनत करवा रहे हो!
अगर ये इनाम जीती तो इस प्रतियोगिता पर स्टे लगवा दूंगा !
बाल श्रम को बढ़ावा देने के लिए आपको भी अन्दर करवा दूंगा



बहुत मज़ा आया आपका दूसरा बाउंसर झेल कर…पर फिर भी आप हमें आउट नहीं कर पाए…….वैसे कोशिश बहुत अच्छी की थी……बहुत मजा आया बैटिंग करने में…..तो चलिए अब आप भी झेलिये हमारा दूसरा बाउंसर……

allrounder allrounder का शोर मचाते हो
बैटिंग के टाइम पे कहाँ जाके छुप जाते हो
सही पहचाना गुलगुले तुमने
हम हैं FIR की
चौटाला चंद्रमुखी

भूलना मत जरुरत में बन सकते है
तारक मेहता की सूरजमुखी
अरे तुम क्या सुरीली बना के हमारी आवाज़ दबाओगे
पापा कसम कहते हैं गुड्डू, प्रशंसकों से बहुत मार खाओगे
ना करना भूल समझने की हमें इलाहाबाद वाले शर्मा
गलत बात सुनके हमारा भी दिमाग जाता है गरमा
अभी भी बहुत वक़्त है
संभल जाओ प्यारे
श्री आदि मानव आके नहीं तो
कर जायेंगे तुम्हारे वारे न्यारे
फिर न कहना हमने नहीं था समझाया
अरे छोडो लैपटॉप, ये सब तो है मोहमाया
सुन लो तुम जीतेगा पप्पू और बजेगा हर तरफ बाजा
रह जाओगे तुम खटखटाते चंदारानी का दरवाज़ा
रह जाओगे तुम खटखटाते चंदारानी का दरवाज़ा


Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (5 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग