blogid : 2537 postid : 41

आजादी पूरी या अधूरी

Posted On: 25 Jun, 2011 Others में

modern social problemsJust another weblog

ajaykumar2623

44 Posts

50 Comments

हर साल 15 अगस्त को हम स्वतंत्रता दिवस बड़े धूम धाम से मनाते हैं. शायद कुछ शहीदों का सम्मान भी किया जाता है जैसे की भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद आदि.लेकिन क्या सच्चे अर्थों में हम आजाद हैं?शायद नहीं.
सन 1857 के विद्रोह के बाद अंग्रेजों ने भारतीय दंड संहिता 1860 बनाया जिसका इस्तेमाल कई क्रांतिकारियों को फांसी देने में किया गया था.अगर ध्यान से देखा जाये तो मंगल पाण्डेय,भगत सिंह,सुखदेव,राजगुरु आदि को फांसी की सज़ा इसी कानून के द्वारा दी गयी थी .फिर हमारे देश के शीर्षस्थ नेताओं चाहे वो गाँधी जी हो,जवाहर लाल नेहरु हो या कोई और इन लोगों ने उस कानून को क्यों अपनाया?क्या ये नया कानून बनाने में सक्षम नहीं थे? या इन्होने सत्ता हासिल करने के लिए अंग्रेजों से समझौता कर लिया था जिसका पता किसी को नहीं है.
जो पुलिस वाला 14 अगस्त 1947 को स्वतंत्रता संग्राम सेनानिओं पर लाठियां भांज रहा था वो 15 अगस्त 1947 को भी पुलिस में ही था जबकि उससे पहले हमारे यही नेता उन्हें अंग्रेजों के तलवे चाटने वाले,देश के दलाल जैसे शब्दों से सम्बोधित करते थे फिर उन्होंने सब कुछ क्यों नहीं बदल डाला .
इसके अलावा और भी कानून हैं जो अंग्रेजों ने बनाये थे अपनी जडें मजबूत करने के लिए और वो आज भी लागू हैं
ध्यान से देखा जाये तो कांग्रेस का यह दलबदलूपन आज भी दिखता है जैसे की वर्तमान प्रधान मंत्री जब विपक्ष में थे तो ये सांसद विकास निधि को व्यर्थ बताते थे लेकिन आज अपनी यूपीए २ सरकार में सांसद विकास निधि को बढाकर ५ करोड़ कर दिया है जो पहले २ करोड़ थी.ये निधि पी वी नरसिंह राव की सरकार में शुरू की गयी थी
और तो और इनकी योजनायें ऐसी हैं जो शायद आगे किसी पार्टी को सत्ता में न रहने दे
बात करते हैं मनरेगा की.ज्यां द्र की रिपोर्ट के आधार पर शुरू की गयी इस योजना का शुरुआती खर्च जीडीपी का मात्र 0.03% था जो अब कई गुना बढ़ चुका है.ध्यान देने की बात ये है की ज्यां द्र ने ये भी कहा थ की जीडीपी का 5%हो जाने पर इस योजना को बंद कर्ण की नौबत आ जायेगी और जो भी सरकार इसे बंद करेगी उसे भारी विरोध का सामना करना पड़ेगा
अब क्या ये सोचने वाली बात नहीं है किआज भी हमारी आज़ादी अभी अधूरी है क्योंकि कांग्रेस का सत्ता मोह अभी तक भंग नहीं हुआ है .

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (13 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग