blogid : 12075 postid : 1323270

दुआ ....

Posted On: 6 Apr, 2017 Others में

SukirtiJust another weblog

Alka

42 Posts

236 Comments

कोई दूर कितना भी हो ,
हम कह न पाएं जो दिल की सदा

चाहे खास मौका हो ,
गर दे न पाएं हम उनको दुआ ,

उदासी की बदली हाँ छाती तो है ,
ये आँख कुछ नम हो जाती तो है

पर ये तो दस्तूर दुनिया का है ,
कभी पास कभी दूर कोई जो है

आज का दिन हमारे लिए खास है ,
दुआ देने का ये मेरा अंदाज है

सदा तुम रहो खुश आसमान छुओ
प्रिय ये खुदा से दुआ आज है |

अलका

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग