blogid : 25951 postid : 1360178

धर्म के ठेकेदार

Posted On: 12 Oct, 2017 Others में

Jan JagaranJust another Jagranjunction Blogs weblog

ANIL SINGH

5 Posts

1 Comment

इन्सान बनकर आया था जमी पर, हिन्दु मुसलमान बन गया।
रंग तो रंग थे लेकिन उनको भी नहीं छोड़ा, भगवा बना हिन्दु, तो हरा मुसलमान बन गया।
वोट की चली ऐसी हवा कि नेता ही धर्म का ठेकेदार बन गया।
तरक्की की तमन्ना लेकर वोट किया था मैने, अब तो लगता है वोट देकर ठेकेदारों को मै गुनहगार बन गया।

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग