blogid : 13187 postid : 841265

रुबाई

Posted On: 24 Jan, 2015 Others में

Man ki laharenJust another weblog

अरुण

593 Posts

120 Comments

रुबाई
*******
खड़ा हो सामने संकट भयावह काल बनकर
निपटना ही पडे ..उससे हमें तत्काल बढ़कर
निरर्थक.. सोच चर्चा भजन पूजन..ये सभी तो
दिमागी फितूर… बैठे आदमी के भाल चढ़कर
– अरुण

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...

  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग