blogid : 8115 postid : 89

कांग्रेस द्वारा राहुल गाँधी को देश का अगला प्रधानमंत्री थोपने की तैयारी

Posted On: 15 Sep, 2012 Others में

aarthik asmanta ke khilaf ek aawajLOKTANTR

ashokkumardubey

166 Posts

493 Comments

देशवासियों , सावधान! अब तक तो आप अंडर- अचीवर और एक कमजोर प्रधानमंत्री श्री मनमोहन सिंह को झेल रहे थे , अब आप गाँधी परिवार के युवा राजकुमार श्री राहुल गाँधी को झेलने के लिए तैयार हो जाईये . बहुत जल्द पहले वे ग्रामीण विकास मंत्री बनाये जायेंगे और अगला चुनाव आने तक उनको पी एम् पद के लिए यह कांग्रेस तैयार कर लेगी भले वे नेता कहलाने के कोई गुण रखते हों या नहीं, इस देश को तो उनको भी झेलना हीं होगा अगर कांग्रेस अगली सरकार बनाने के लिए अगुवा बनी तो, जो की संभव तो नहीं लगता पर असंभव भी नहीं क्यूंकि जब अपने देश में राजनीती धनबल द्वारा हीं चलता है चुनाव में विजय उसीकी होती है जिस पार्टी के पास पैसा ज्यादा है फिर क्या दिक्कत है? और अगर दुर्भाग्यवश बहुमत नहीं आता किसी कारण से तो दुसरे दल जो की विरोधी कहलाते हैं चुनाव बाद साथ हो लेते हैं . अभी हाल में खुलासा आया था की किस पार्टी के पास कितना धन है और उसमे कांग्रेस सबसे ऊपर है और क्यूँ न हो ? जब यह देश की सबसे पुरानी पार्टी है . इन बिन्दुओं के मद्दे नजर अब राहुल भी इस देश के सबसे उपयुक्त पी एम् कांग्रेस पार्टी की नजर में हैं अब चाहे उनके बनने के बाद देश कैसे भी चले कुछ भी होता रहे उनको तो यहाँ की जनता को झेलना ही पड़ेगा इस देश में लोकतंत्र जो है . लेकिन अगर कांग्रेस सचमुच राहुलजी को पी एम् में बनाना ही चाहती है तो कम से कम उनको एक बार भारत भ्रमण पर निकलना चाहिए और बजाय राजनीती करने के पिछड़े प्रदेशों की जनता से उनकी समस्या को रूबरू होकर देखना चाहिए और उसका कैसे? जल्दी समाधान किया जाये उसके लिए कोई ठोस और कारगर कदम उठाना चाहिए.अगर वे ऐसा करते हैं तब तो वे एक नेता के रूप में जाने जा सकते हैं मेरी राय में. क्यूंकि एक नेता की परिभासा मेरे हिसाब से यही है केवल झूठे सपने और दिलासे अब तक जनता को ये नेता देते रहे हैं और जो लोग समस्यायों से जूझ रहें हैं उनकी हालत में कोई सुधार नहीं है सारे साल जीडीपी और इन्फ्लेसन की दुहाई ये अर्थशास्त्री देते रहते हैं और बैंकों के ब्याज दर घटाते- बढ़ाते रहते हैं जिस बात को इस देश के एक प्रतिशत लोग भी शायद नहीं समझते फिर भी ये अपने को बड़े अर्थशास्त्री कहते हैं . महंगाई ,भ्रष्टाचार ,काला धन ,नक्सल्वाद , आतंकवाद ,पीने का पानी ,स्वास्थ्य, सिक्छा इत्यादि जो आम आदमी के लिए सरकार द्वारा जन कल्याणकारी योजनायें बनती हैं इस नाम पर फंड तो मुहैया कराया जाता है पर सारा का सारा बंदरबांट करके हडप लिया जाता है क्या? किसी ऐसी समस्या का समाधान हमारे भावि युवा पी एम् बताएँगे या कुछ करके दिखायेंगे? देश के किसी एक जिला में ऐसा करके पहले दिखाएँ उनको नेता किसको कहते हैं पता चल जायेगा हाँ अगर वे कुछ ऐसा कर पाएंगे तब तो सचमुच जनता के नेता कहलायेंगे और इस देश की जनता चिल्लाकर कहेगी अगला प्रधानमंत्री कौन हो ? तो यह नारा पूरे देश में गूंजेगा राहुल गाँधी हो और जब ऐसा नारा गूंजेगा तब जरुर वे एक सफल प्रधानमंत्री के रूप में उभरेंगे और आज अपने देश के राजनितिक गलियारों में राहुल की छबि को लेकर उनकी छीछालेदर हो रही है वह भी नहीं होगी . काश इस ब्लाग को राहुलजी तहत कांग्रेस के और अनुभवी नेता जो राहुल गाँधी के मार्गदर्शन का काम कर रहें हैं वे भी पढ़ते तो मुझे उम्मीद है, वे भी इस प्रस्ताव से सहमत होते और अपने युवा राहुल गाँधी को काबिल नेता कहलाने का गौरव हासिल करने का अवसर देते केवल गाँधी परिवार के होने मात्र से ही उनको यह विशाल भारत देश अपना भावी नेता एवं प्रधानमंत्री मान लेगा ऐसा कैसे कांग्रेस सोंच रही है? उनकी तो मत मारी गयी है या उनकी पार्टी में ही कोई षड्यंत्र कर रहा है, यह प्रश्न? अब तक अनुतरित है ..

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग