blogid : 8115 postid : 1243986

बिहार की राजधानी पटना को स्मार्ट सिटी बनाने का सपना देख रहें हैं मुख्य मंत्री नितीश कुमार

Posted On: 6 Sep, 2016 Others में

aarthik asmanta ke khilaf ek aawajLOKTANTR

ashokkumardubey

166 Posts

493 Comments

आजकल हिंदी दैनिक अख़बार “दैनिक जागरण” में हर रोज पटना की साफ़ सफाई की चरचा पढ़ने को मिलती है साथ में पटना के मेयर अफजल इमाम का बयां भी छपता है, वे रात दिन एक किये हुए हैं कैसे पटना शहर साफ़ दिखेगा जबकी उनको हर रोज कूड़ों का अम्बार हर गली मोहल्ले यहाँ तक की सड़क किनारे भी देखने को मिल रहा है बीच में यह भी खबर छपी थी की अब कूड़ों का उठान रात्रि में ही हो जायेगा ताकि सुबह सड़क किनारे कचरा ना दिखाई दे और पटना शहर साफ़ दिखाई दे . लेकिन जब भी कोई यात्री जो बाहर का है वह पटना जंक्शन स्टेशन पर उतरते हीं जान जाता है की पटना जो बिहार राज्य की राजधानी है वह कितना साफ़ सुथरा है गंदगी उसको स्टेशन पर ही नजर आने लगती है इतना हीं नहीं यहाँ आवागमन के साधन भी सही नहीं हैं स्टेशन के नजदीक चारो तरफ रेडी वाले खोमचे वाले ट्रैफिक के आवागमन को भी बाधित करते हैं और गंदगी भी वही फैलाते हैं खासकर खाने पीने की वस्तु बेचने वाले जगह जगह मीट मांस मुर्गा मुर्गी बेचने वाले गंदगी में और इजाफा करते हैं और वहां इतनी सड़ांध बदबू निकल रही होती है की कोई भी बिना नाक ढंके वहां से गुजर नहीं सकता और कामो बेष यह हाल स्टेशन से लेकर पटना के हर गली मुहल्लों में देखने को मिलेगा हाँ अगर कोई इलाका साफ़ है पटना में तो मंत्रियों के आवास वाला इलाका एवं राज भवन का इलाका वहां आपको पटना की अलग सूरत नजर आयरगी जब मंत्री साफ़ इलाके में रह रहें हैं तब पटनावासी भी साफ़ इलाके में ही रहते होंगे ऐसा ही हमारे मुख्यमंत्री नितीश कुमार का ख्याल है सफाई के नाम पर रोज मीटिंग जुरूर होती है, अखबार में पढ़ने को भी मिलता है की घर घर कूड़ा उठान किया जायेगा टेंडर हो गए हैं लेकिन एक इलाका पटना का ऐसा भी है जो दानापुर निगम का इलाका है वार्ड नंबर ३८ यहाँ के ही श्री राजकिशोर यादव चेयरमैन हैं पर हालात यह है की क्या बयां किया जाए कूड़ों का अम्बार लगा हुवा है महीनों से कोई भी कूड़ा उठाने नहीं आया डस्ट बीन भी नहीं लोग सड़क किनारे कूड़ा फेंक जाते है तक़रीबन हजार घरों से ऊपर की बस्ती होगी सबके घरों का कूड़ा एस के पुरम लेन नंबर -५ के मुख्य द्वार पर डाला जाता है सीवर का कनेक्शन नहीं होने से सीवरेज का पानी लेन की सड़क के प्रवेश द्वार पर महीनों से बाह रहा है उसको में नाले से जोड़ा नहीं जा रहा है हमलोग कितनी बार निगम कार्यालय में लिखित आवेदन भी दिए यहाँ के चेयरमैन से अनुरोध भी की किए पर नतीजा ढांक के तीन पात हम सभी इस अति दयनीय स्थिति में रहने को मजबूर हैं जिस शहर को स्मार्ट सिटी बनाने की कवायद चल रही है . अफ़सोस तो इस बात है की दैनिक जागरण अखबार ने एक अच्छा कार्यक्रम शुरू किए हुवा है “जागरण आपके द्वार ” मालूम नहीं क्यों जागरण के जागरूक रिपटरों की नजर वार्ड नम्बर ३८ पर क्यों नहीं पड़ी? क्या इसलिए की यह दानापुर का इलाका है जो पटना में नहीं है पर मैं बता दूँ यह इलाका पटना जिले के अंदर हीं आता है निगम कोई हो बेशक दानापुर निगम हो , क्या? एस. के. पुरम, के वासी ऐसा कभी समझेंगे की यह शहर स्मार्ट सिटी बनने जा रहा है ?स्मार्ट सिटी की सूचि में यह इलाका भी शामिल किए जाए . आशा हीं नहीं वरन मुझे पूर्ण विश्वास है की जागरण परिवार के सचेतक लोग इसका संज्ञान लेंगे बेशक इसको छापें या ना छापें कमसे कम हमलोगों को गंदगी में जीने से निजात तो दिलाएंगे कोई पहल करके, प्रशासन को यहाँ की तकलीफ बताकर इसे अति विलम्ब दूर कराने का काम करेंगे ताकि हमलोग भी एक साफ़ सुथरे वातावरण में जी सकें मैं इसके लिए जागरण समूह का आभारी रहूँगा
अशोक कुमार दुबे ,
एस के पुरम लेन नंबर -५
आर पी एस मोड़ बेली रोड
दानापुर पटना ८०१५०३
मोबाइल ९७७११२८३५२

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग