blogid : 1151 postid : 277

हर मुसलमान हत्यारा है

Posted On: 7 Oct, 2010 Others में

मनोज कुमार सिँह 'मयंक'राष्ट्र, धर्म, संस्कृति पर कोई समझौता स्वीकार नही है। भारत माँ के विद्रोही को जीने का अधिकार नही है॥

atharvavedamanoj

76 Posts

1140 Comments

राहुल मायनो गाँधी और शेख उमर अब्दुल्ला को समर्पित-
तू गाली दे, सर काट मेरा, मुझको उसकी परवाह नहीं|
मैं अमर नहीं होने आया,आगे बढ़ने की चाह नहीं ||
पर मानवता के हत्यारे, ये जेहादी आतंकवादी|
क्या इसको झुठला सकता है, तू सचमुच में है उन्मादी?
तेरे वीभत्स पृष्ठों में बस शोणित ही है, कुछ और नहीं|
भातृत्व,त्याग और प्रेम नहीं और मानवता को ठौर नहीं|
चंगेज,हलाकू,बाबर,औरंगजेब,गजनवी हत्यारे|
नादिर,तैमुर,उलुग,गोरी और बख्तियार जैसे सारे|
कुछ झांकी है,कुछ झांकी है,जिन्ना से कितने बाकी हैं|
जनके हांथों से रक्त सना,मानवता के अपराधी हैं|
इनके विरुद्ध मेरा जीवन खप भी जाए तो कम होगा|
मैं इस धरती पर आऊंगा,जब तक वेदों में दम होगा|
जब तक शैतानी आयत पढ़ ला इल्लाहा चिल्लाएगा|
भारत माता के प्रांगन में आयातित शब्द उठाएगा|
जब तक निकृष्ट हिन्दू ,कुत्सित जैचंद मार्ग के अनुयायी|
पूरब पश्चिम को जोड़ेगें,हिन्दू मुस्लिम भाई भाई|
बेमेल सियासत का सौदा,योरप अमेरिका में होगा|
भारत माता लाचार बनी, सुत ही जब तक देंगें धोखा|
तब तक मयंक इनके विरुद्ध,पूनम सा नहीं सरल होगा|
बाबरी नहीं कट्टरता से बाबर का मसला हल होगा |
हर मुसलमान कटघरे में है,सबने मारा और काटा है|
सन सैतालिस में भारत को एक मुसलमान ने बांटा है|
जब तक आदर्श लुटेरे हैं,जब तक जेहादी प्यारा है|
इसमें कोई शक नहीं यहाँ हर मुसलमान हत्यारा है|
अब कश्मीर की बारी है, तुम काश्मीर को काटोगे|
कांग्रेसी कुत्तों के संग मिल सारे भारत को बांटोगे|
और आरएसएस कुछ न बोले या बीजेपी तलवा चाटे|
तू मुस्लिम मत के लालच में हिन्दू से हिन्दू को बांटे|
यह मुझको नहीं सहन होगा,यह मुझको है स्वीकार नहीं|
में एक अकेला ही काफी,बेशक कोई आधार नहीं ||

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (8 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...

  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग