blogid : 25489 postid : 1386530

" ईश्वर है "

Posted On: 23 Feb, 2018 Others में

Parivartan- Ek LakshyaJust another Jagranjunction Blogs weblog

bnpal

16 Posts

1 Comment

ईश्वर है
और …
ईश्वर कोई सिध्दांत नहीं
हरेक कारण की ओट में छिपा
वह अदृश्य
दृश्य बनता
अपने होने का भान देता
अपनत्व की पहचान देता
निष्प्रह सम्मान देता .
कल मैं
सारे दिन रोया
कारणों की-
पहचान में खोया
उसने सभाला मुझे
तुम्हारे रूप में
तुम न आते
तुम न आते तो
मैं
न जानें
कब तक रोता
और तुम जानते न जानते
कभी तो वह –
तुम बनता
मुझसे बात करता
मुझे माफ़ करता .

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग