blogid : 25489 postid : 1381320

ताकि, प्रथा विकास की चलती रहे ..............

Posted On: 24 Jan, 2018 Others में

Parivartan- Ek LakshyaJust another Jagranjunction Blogs weblog

bnpal

9 Posts

1 Comment

हाँ ,
लिखनी चाहिए –
यश गाथा भी ,
जब लगे
कि, ऐसा न करना
अन्याय है .
जब कोई करता हो
ह्रदय मिलाने की बात,
कायनात को
खुशियों से भर पाने की बात,
जब ,
कीर्तिमानों का प्रवाह ,
उमंगों अरमानों का उत्साह
साध कर समय
लिखता है
विश्व का भविष्य
तब लिखना चाहिए
वर्तमान की यश गाथा
ताकि ,
प्रथा विकास की चलती रहे .
************************

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग