blogid : 318 postid : 331

Inflation: क्या होती है मुद्रास्फीति

Posted On: 14 Dec, 2012 Others में

अर्थ विमर्शव्यापार जगत की गुत्थियां शेयर बाजार की हलचल महंगायी और बजट की सरगर्मियां सब पर रखता राय

Business

173 Posts

129 Comments

आज जब हम बाजार जाते हैं तो हर चीज सोच-समझ कर खरीदते हैं लेकिन आज से 8 साल पहले जब हम बाजार जाते थे तो जो चीज पसंद आती थी वो ले लेते थे. पहले पायल 100 रुपए में ढेर सारे सामान ले के आती थी जो एक रिक्शे पर भी ठीक से नहीं आता था लेकिन अब ये स्थिति हो गई है कि 500 रुपए का सामान भी एक छोटे से बैग में ही आ जाता है. कारण पैसों की कीमत का कम होना और यह स्थिति मुद्रास्फीति कहलाती है.


Read: सीबीआई से कब तक भागेंगे मुलायम जी !!


जब बहुत कम माल के लिए बहुत अधिक धन की आपूर्ति करनी पड़े तब इसका जन्म होता है या फिर हम इसको इस तरह समझ सकते हैं कि आज से दो साल पहले हम कोई सामान 100 रुपए में खरीदते थे लेकिन आज उस सामान को खरीदने के लिए 2000 हजार रुपए देने पड़ते हैं. यानि समय के साथ मुद्रा की कीमत कम हो जाने से उसी सामान के लिए मूल्य अधिक चुकाना पड़ता है. इस स्थिति को हम मुद्रास्फीति कहते हैं.


Read: धोनी के खिलाफ मुंह खोलोगे तो बाहर जाओगे !


मुद्रा स्फीति के कई प्रकार होते हैं जो अर्थव्यवस्था की अलग-अलग स्थितियों को दर्शाते हैं जिनमें से मुख्य प्रकार निम्नवत हैं:


1.   Creeping Inflation: (धीरे-धीरे बढ़ता हुआ) – इसमें मुद्रास्फीति धीरे-धीरे बढ़ती है यानि 1 साल में लगभग 10%.

2.   Galloping Inflation (तेजी से बढ़ने वाली) – इसमें मुद्रास्फीति तेजी से बढ़ती है यानि 1 साल में 20,100,200…%.

3.   Hyperinflation (अति मुद्रा स्फीति) – इसमें मुद्रास्फीति तेजी से बढ़ती है यानि 1 साल में 30% से भी ज्यादा.

4.   Stagflation (रुकी मुद्रा स्फीति) – इसमें मुद्रास्फीति की स्थिति न तो बढ़ती है न ही घटती है.

5.   Deflation: (अपस्फीति) – इसमें मुद्रास्फीति की स्थिति एक दम कम हो जाती है या ये कहें कि इस स्थिति में पैसे का सही मूल्य पता चलता है.


Read

कुछ इस तरह का है वालमार्ट का कड़वा सच

जानिए रेपो और रिवर्स रेपो रेट

क्या है फिक्स्ड डिपॉजिट में निवेश का फंडा


Tag : Inflation, What is Inflation, level of prices, economy, goods and services,  मुद्रा स्फीति, मुद्रास्फीति, कीमत


Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग