blogid : 11280 postid : 38

ट्रैजेडी से कम नहीं रहा मीना कुमारी का निजी जीवन

Posted On: 27 May, 2012 Others में

हिन्दी सिनेमा का सफरनामाभारतीय सिनेमा जगत की गौरवमयी गाथा

100 Years of Indian Cinema

150 Posts

69 Comments

meena kumariट्रैजेडी क्वीन नाम से मशहूर मीना कुमारी का फिल्मी सफर भले ही किसी सुनहरे सपने से कम नहीं रहा लेकिन जब उनके निजी जीवन का जिक्र उठता है उनकी तन्हाई और उदासी साफ-साफ झलक उठती है. महजबीं से मीना कुमारी बनी यह अभिनेत्री अपने जीवन में निराशा और अकेलेपन से छुटकारा नहीं पा सकी.


पंजाब के एक छोटे से गांव का रहने वाला धरम सिंह देयोल एक प्रतियोगिता जीतकर बॉलिवुड में आया. बॉलिवुड में आते ही उसे मीना कुमारी जैसी स्थापित अभिनेत्री के साथ काम करने का अवसर मिला. यह धरम सिंह देयोल कोई और नहीं बॉलिवुड के मशहूर अभिनेता धर्मेंद्र हैं, जिन्होंने अपनी फिल्मी पारी धर्मेंद्र के नाम से शुरू की.


फिल्मों में साथ अभिनय करते-करते धर्मेंद्र और मीना कुमारी एक दूसरे को चाहने लगे. लेकिन विडंबना देखिए उस समय मीना कुमारी कमाल अमरोही से शादी कर चुकी थीं और धर्मेंद्र तो विवाह करने के बाद ही फिल्मों में आए थे. मगर फिर भी धर्मेंद्र और मीना कुमारी एक-दूसरे के साथ समय बिताते और अपनी भावनाएं बांटते थे.


फिल्म काजल के प्रीमियर की पार्टी ओडियन सिनेमा के साहनी बंधु ने अपनी दिल्ली स्थित कोठी पर दी थी. इस पार्टी में मेहमानों की भीड़ थी, सब खाने-पीने में मशगूल थे. पार्टी में धर्मेंद्र भी थे जो वहां बहुत देर तक रुके. खाने-पीने का दौर भी चल ही रहा था. थोड़ा पीने के बाद मीना कुमारी वापस होटल चली गईं. फिल्म काजल की पूरी यूनिट होटल इम्पीरियल में ठहरी थी.


जब एक फिल्म ने बदल दी हीमैन धर्मेंद्र की किस्मत


होटल जाते समय मीना कुमारी  को यह चिंता सताने लगी कि धर्मेंद्र कहीं ज्यादा ना पी लें. उन्हें लगा कि उन्हें वहीं धर्मेंद्र के साथ ही रुकना चाहिए था. वह वापस उस पार्टी में आ गईं. अभी तक तो मीना कुमारी और धर्मेंद्र के बीच रोमांस की केवल अटकले ही लगाई जा रही थीं लेकिन अब इन अटकलों को आधार मिल गया था. दोनों विवाहित थे इसीलिए उनके संबंध को कभी नाम नहीं मिल पाया.


हर मुलाकात में फूलों की सौगात देने वाले कमाल अमरोही भी विवाह के पश्चात मीना कुमारी को एक खुशहाल जीवन नहीं दे सके. बैजू बावरा ने मीना कुमारी और महल ने कमाल अमरोही को स्टार बना दिया था.


घरवालों को बताए बिना मीना कुमारी ने कमाल अमरोही के साथ विवाह कर लिया था और कुछ समय बाद उन्होंने घर छोड़कर कमाल के साथ रहना शुरू कर दिया. लेकिन कुछ ही समय में विवाह से जुड़े उनके सुनहरे सपने टूटने लगे. मीना के फिल्मी कॅरियर में कमाल अमरोही का हस्तक्षेप बहुत ज्यादा बढ़ गया. मीना कौन सी फिल्म करेगी कौन सी नहीं यह सब कमाल अमरोही ही देखते थे. मीना कुमारी किस हीरो के साथ काम करेंगी, कमाल इस पर बहुत सख्त होने लगे. मीना कुमारी के पास पैसे नहीं होते थे, उन्हें अपनी छोटी-छोटी जरूरत के लिए भी कमाल से पैसे मांगने पड़ते थे.


इन सब से आहत होकर मीना कुमारी घर छोड़कर चली गई. वह पहले अशोक कुमार के घर गईं लेकिन अशोक कुमार ने उन्हें घर जाने के लिए कहा. कुछ समय तक अपनी बहन मधु, जिनके पति महमूद थे, के घर रहने के बाद वह एक छोटे से घर में रहने आ गईं. धर्मेंद्र के साथ मीना कुमारी का संबंध लगभग तीन साल तक चला. लेकिन जैसे ही धर्मेंद्र को कामयाबी मिलने लगी वह मीना कुमारी को भी भूल गए. ज्यादा पीने की आदत और बीमारियों की वजह से मीना कुमारी का शरीर भारी होने लगा था. धर्मेंद्र के लिए वह एक उपयुक्त अभिनेत्री नहीं रह गई थीं. धरम ने मीना के साथ आखिरी फिल्म 1968 चंदन का पालना की. अब ही-मैन धर्मेद्र पर मर मिटने वाली हीरोइनों की कमी नहीं थी. वक्त ने धर्मेंद्र के मन में भी मीना का आकर्षण समाप्त कर दिया था.


कुंठा ने मीना को नशे का आदी बना दिया. लाखों कमाने वाली मीना के पास अपने आखिरी दिनों में एक फ्लैट और एक गाड़ी के सिवाय कुछ भी न था. एक अगस्त 1932 को मुंबई में जन्मीं महजबीं को अपने अभिनय सफर में चार बार फिल्मफेयर पुरस्कार (बैजू बावरा, परिणीता, साहब बीबी और गुलाम और काजल) मिले थे.



उम्र ढलने के साथ और भी जवान होने लगी रेखा



Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 4.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग