blogid : 1048 postid : 284

Career in Video Editing-वीडियो एडिटिंग में सुनहरा भविष्य

Posted On: 12 Jul, 2011 Others में

नई इबारत नई मंजिलJust another weblog

Career Blog

197 Posts

120 Comments

Career in Video Editing 2वीडियो एडिटिंग (Video Editing) का करियर (Career) चुनौतियों से भरा है। अगर आपमें शूट किए गए प्रोग्राम्स का संपादन (Editing) कर उसे सजा-संवारकर प्रभावशाली तरीके से पर्दे पर पेश करने की क्रिएटिविटी है, तो इस क्षेत्र का चयन करियर के रूप में कर सकते हैं। क्योंकि इस फील्ड से संबंधित प्रोफेशनल्स (Professionals) की मार्केट में खूब डिमांड है। यदि आपने ऐसे पाठ्यक्रमों में प्रवेश ले लिया और इस विधा का मन लगाकर अध्ययन कर लिया तो आपको मिलेगा सुनहरे करियर के साथ बेहतर सैलरी और सम्मान के साथ ही इलेक्ट्रानिक मीडिया (Electronic Media) तथा बॉलीवुड और टेलीविजन (Bollywood and Television) के लिए बनने वाले कार्यक्रमों में कार्य करने का अवसर। देश में पिछले कुछ वर्षो में न्यूज एवं मनोरंजन चैनलों (News and Entertainment Channels) के साथ प्रोडक्शन हाउसेज (Production Houses) की बढती संख्या ने इस फील्ड के प्रोफेशनल्स (Professionals) की डिमांड बढा दी है। बॉलीवुड में बनने वाली फिल्मों की संख्या भी दिन प्रतिदिन बढ रही है। बडी संख्या में बनने वाले टीवी सीरियलों को बेहतर रूप देने के लिए अन्य प्रोफेशनल्स के साथ स्किल्ड एवं एक्सपर्ट एडिटर्स (Skilled and Expert Editors) की डिमांड खूब बढी है। यदि आपमें क्रिएटिव सोच है और आप इस स्किल को तराशना चाहते हैं तो यह एक ऐसी दुनिया है, जहां करोडों वर्ष पहले खत्म हो चुके डायनासोर को सिल्वर स्क्रीन (Silver Screen) पर पल भर में जीवित दिखा सकते हैं और इसमें एडिटिंग करके इसे और सुंदर दिखा सकते हैं। यह एक ऐसी दुनिया है कि जो आप सोचते हो, उसे आप स्क्रीन पर दिखा भी सकते हो।


कैसे होगी एंट्री  (Entry)

देश के कुछ संस्थानों में 10+2 के बाद तो कुछ में स्नातक (Graduation) करने के उपरांत वीडियो एडिटिंग (Video Editing) पाठ्यक्रम में प्रवेश दिया जाता है। संस्थानों में वीडियो एडिटिंग (Video Editing) प्रमाण पत्र (Certificate) से लेकर डिग्री पाठ्यक्रम तक के कोर्स उपलब्ध हैं। सभी संस्थानों में प्रवेश पाने का अपना अलग-अलग मानक है।


कौन से हैं कोर्स  (Courses)

फिल्मों (Movies), धारावाहिकों (Serials) तथा मीडिया इंडस्ट्री (Media Industry) में ट्रेंड वीडियो एडिटर्स की डिमांड को देखते हुए इससे संबंधित कई कोर्स चलाए जा रहे हैं। नोएडा स्थित जागरण इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट ऐंड मास कम्युनिकेशन (Jagran Institute of Management And Mass Communication, Noida) में एडिटिंग में छह माह का डिप्लोमा कोर्स तथा तीन माह का सर्टिफिकेट कोर्स संचालित किया जाता है। इसके अलावा एनएलई (Non-linear editing) का प्रशिक्षण मास कम्युनिकेशन और जर्नलिज्म कोर्स इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के तहत भी दिया जाता है। इसके अलावा दिल्ली एनसीआर में कई ऐसे संस्थान हैं जहां एडिटिंग (Editing) से संबंधित कोर्स संचालित किए जाते हैं। नॉन-लीनियर एडिटिंग (Non-linear editing) में बढती संभावनाओं को देखते हुए कई संस्थान डिप्लोमा कोर्स (Diploma Course) संचालित कर रहे हैं।


करियर की संभावनाएं  (Career Opportunities)

वीडियो एडिटर (Video Editor) के रूप में प्रोडक्शन हाउसों (Production Houses), इलेक्ट्रॉनिक मीडिया (Electronic Media), विज्ञापन एजेंसियों (Advertising Agencies) में अच्छे पैकेज पर स्वतंत्र रूप से कार्य कर सकते हैं। स्किल्ड वीडियो एडिटर के लिए विदेशों में जॉब की कमी नहीं है। इस फील्ड के विशेषज्ञों को बेहतर सैलरी पर हाथों-हाथ लिया जाता है। वर्तमान दौर क्षेत्रीय भाषाओं (Regional Languages) की फिल्मों एवं म्यूजिक एलबम का है। इसका बाजार तेजी से उभर रहा है। इसमें भी करियर की अपार संभावनाएं हैं। इसके अलावा अगर आपमें क्रिएटिविटी, दृश्यों को समझने और परफेक्ट साउंड मिक्सिंग  (Sound mixing) की क्षमता है और मार्केट की डिमांड के अनुसार एडिटिंग सॉफ्टवेयर (Editing Software) में परिपक्व हैं, तो कुछ ही समय में आप पैसा और नाम दोनों कमा सकते हैं।


Career in Video Editing 1आकर्षक वेतन  (Attractive Salaries)

एक वीडियो एडिटर (Video Editor) का पारिश्रमिक उसके अनुभव एवं विशेषज्ञता पर निर्भर होता है। शुरुआती दौर में इस फील्ड के कैंडिडेट्स को देश में प्रतिमाह 10,000 से लेकर 15,000 तक की नौकरी आसानी से मिल जाती हैं। अनुभव बढने के साथ अभ्यर्थी बेहतर पारिश्रमिक की उम्मीद कर सकता है। इसके अलावा प्रोडक्शन हाउसों (Production Houses) में स्वतंत्र रूप से कार्य करके प्रति घंटा के हिसाब से अच्छी कमाई कर सकता है। एनएलई कोर्स (Non-linear editing Course) करने और इसमें विशेषज्ञता हासिल करने के बाद विभिन्न चैनलों में आपके लिए दरवाजे हमेशा के लिए खुले हैं।


वीडियो एडिटिंग (Video Editing) के अंतर्गत किसी न्यूज स्टोरी, डॉक्यूमेंट्री, टेलीफिल्म या अन्य कार्यक्रमों के लिए शूट अर्थात पिक्चराइज्ड किए गए फुटेज या क्लिपिंग (Footage or Clipping) से स्क्रिप्ट और स्टोरी की मांग के अनुरूप दृश्य (शॉट्स) काटकर क्रमबद्ध तरीके से व्यवस्थित किए जाते हैं और अनावश्यक दृश्य हटा या डिलीट कर दिए जाते है। इसके अलावा इसमें ऑडियो और विजुअल्स (Audio and Visuals) की मैचिंग भी होती है। आवश्यकतानुसार स्पेशल इफेक्ट्स (Special Effects) भी डाले जाते हैं, वॉयस ओवर दी जाती है तथा म्यूजिक या च्वाइस ऑफ म्यूजिक डाला जाता है। उसके बाद पैकेजिंग होती है। गौरतलब है कि वीडियो एडिटिंग दो तरह की होती है- लीनियर एडिटिंग और नॉन लीनियर एडिटिंग (Linear and Non Linear Editing Editing) । टेप-टू-टेप एडिटिंग (Tape  to Tape Editing) को लीनियर एडिटिंग (Linear Editing) कहते हैं इसके अंतर्गत एक या एक से अधिक टेप (वीडियो केसेट) के फुटेज से शॉट्स काटकर स्क्रिप्ट या स्टोरी के अनुरूप एक अलग टेप में क्रमबद्ध तरीके से रिकॉर्ड किए जाते हैं, जिसे मास्टर कॉपी (Master Copy) कहते हैं। इस प्रक्रिया के अंतर्गत एक-एक शॉट को ढूंढने के लिए पूरे टेप को बार-बार रिवर्स और फारवर्ड करना पडता है, जो बहुत ही समय लेने वाला, ऊबाऊ और मेहनत का काम है। वर्तमान में नॉन लीनियर एडिटिंग (Linear and Non Linear) के आ जाने से आज लीनियर एडिटिंग (Linear Editing) की उपयोगिता बहुत कम रह गई है। एडिटिंग सॉफ्टवेयर (Editing Software) की मदद से कंप्यूटर द्वारा की जाने वाली एडिटिंग नॉन लीनियर एडिटिंग कही जाती है। इसके अंतर्गत शूट (पिक्चराइज्ड) किए गए फुटेज को सॉफ्टवेयर और कैप्चर कार्ड (Software and Capture Card) की मदद से डिजिटल फार्म में कंप्यूटर की हार्ड डिस्क में कैप्चर किया जाता है। नॉन लीनियर एडिटिंग में स्पेशल इफेक्ट्स (Special Effects), ग्राफिक्स (Graphics), म्यूजिक (Music), साउंड इफेक्ट्स (Sound Effects) आदि भी बहुत आसानी से डाले जा सकते हैं।


कहां से करें कोर्स

जागरण इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट ऐंड मास कम्युनिकेशन कानपुर, नोएडा।

सत्यजीत रे फिल्म ऐंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट, कोलकाता।

फिल्म ऐंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट ऑफ तमिलनाडु।

फिल्म ऐंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया, पुणे।

सेंट जेवियर्स कॉलेज मुंबई।

सेंटर फॉर डेवलपमेंट ऑफ इमेजिंग टेक्नोलॉजी, तिरुअनंतपुरम।


Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग