blogid : 7002 postid : 1386582

वो 5 मौके, जब बल्लेबाजों को मिले कई जीवनदान और बना दिया बड़ा स्कोर!

Posted On: 25 Feb, 2018 Sports में

क्रिकेट की दुनियाक्रिकेट की हर हलचल पर गहरी नजर के साथ उसके विविध पक्षों को उकेरता ब्लॉग

Cricket

798 Posts

126 Comments

एक कहावत है कि भाग्य हमेशा वीरों का साथ देता है। अगर इस बात को क्रिकेट के परिप्रेक्ष्य में देखें तो जब भी एक चर्चित खिलाड़ी को मैच में एक से ज्यादा जीवनदान मिले हैं। उसने उस मौके का फायदा उठाते हुए विपक्षी टीम की बखिया जमकर उधेड़ी है। क्रिकेट में बल्लेबाज को जीवनदान छूटे हुए कैच, छूटे हुए रन आउट और नो बॉल पर आउट होने पर मिलता है। क्रिकेट इतिहास ऐसे वाकयों से भरा पड़ा है जब बल्लेबाजों ने छूटे हुए कैच का फायदा उठाते हुए अपनी टीम की जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।




cover



1. विराट कोहली

2015 विश्व कप की है जब भारत और पाकिस्तान के बीच मैच खेला जा रहा था। जब विराट बल्लेबाजी करने आए तो कुछ ओवर बाद ही उन्होंने शाहिद अफरीदी की गेंद को हवा में खेल दिया, लेकिन कैच छुट गया। उस वक्त विराट 3 रन पर थे, कोहली ने उसके बाद 76 रनों का पार खेली और एक बार फिर उनका विकेट पाक के हाथों से निकल गया। कोहली ने दो जिवनदान मिलने के बाद क107 रनों की पार खेली।


india-cup-pakistan-2015-icc-cricket-world_86c4779a-4083-11e7-b7e5-3de2b6485255

2. एरन फिंच

2013-14 में जब इंग्लैड और ऑस्ट्रेलिया वनडे श्रृंखला खेल रहे थे, उस दौरान एक वनडे मैच में एरन फिंच ने 121 रनों की पारी खेलकर इंग्लैंड को हराने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। फिंच 4 रन पर बल्लेबाजी कर रहे थे जब अंपायर ने उन्हें नॉटआउट करार दिया, ये गलत फैसला इंग्लैंड को बेहद भारी पड़ा। एरन ने 121 रनों की शानदार पारी खेली।


Aaron Finch



3. वीरेंद्र सहवाग

भारतीय टीम के ओपनर सहवाग का 219 रनों की वो पारी तो आपको जरुर याद होगी। लेकिन क्या आपको ये याद है कि इस दौरान सहवाग को कितने जिवनदान मिले थे। छवे ओवर में सहवाग रन आउट होने से बच थे, उसके बाद 77 रनों पर एक बार फिर से वो रन आउट होने से बालबाल बचे। हवाग शायद ही अपना दोहरा शतक पूरा कर पाते क्योंकि जब वह 168 रनों पर बल्लेबाजी कर रहे थे तब डेरेन सैमी ने उनका आसान सा कैच छोड़ दिया था। इसके बाद सहवाग ने कोई मौका नहीं दिया और 219 रन ठोक डाले।


2011128124821408734_20



4. सचिन तेंदुलकर

सचिन तेंदुलकर के लिए साल 2011 का विश्व कप तो बहुत बढ़िया रहा लेकिन पाकिस्तान के खिलाफ सेमीफाइल मुकाबले में सचिन तेंदुलकर पूरे मैच में परेशान नजर आए और उनके लगातार पांच कैच छूटे। सचिन की इस दौरान एक स्टंपिंग भी छूटी। इन सभी जीवनदानों का सचिन ने खूब फायदा उठाया और 85 रन बना गए। भारत ने 260 रन बनाए और टीम इंडिया मैच 29 रनों से जीत गई।




Pakistan-vs-India-Semi-Final-World-Cup-2011-02






5. लेंडल सिमंस


dc-Cover-vmnk3q1pnatqjffs8182gasjo0-20160331221535.Medi

टी20 विश्व कप 2016 सेमीफाइनल में वेस्टइंडीज और इंडिया की टीमें भिड़ीं, भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 192 रन बनाए। जवाब में बल्लेबाजी करने उतरी वेस्टइंडीज ने अपने शुरुआती दो विकेट 19 रनों पर गंवा दिए थे। लेंडल सिमंस को रविचंद्रन अश्विन ने कैच आउट करा दिया। लेकिन ये गेंद नो बॉल हो गई, यही नहीं दो और मौकों पर भी सिमंस नो बॉल के कारण नॉट आउट रहे। सिमंस ने 82 रन ठोके और वेस्टइंडीज की 7 विकेट से जीत में एक अभिन्न भूमिका निभाई।…Next




Read More:

कोई इंजीनियर तो कोई MBBS, इतने पढ़े लिखे हैं ये 6 भारतीय क्रिकेटर

दो विश्वकप जीत का हिस्सा रह चुके हैं श्रीसंत, जयपुर की राजकुमारी से की है शादी

अजहरुद्दीन ने डेब्यू मैच में लगाया था शतक, सलमान की गर्लफ्रेंड से की थी दूसरी शादी

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग