blogid : 7002 postid : 699223

नादान पर बदनाम क्रिकेटर

Posted On: 6 Feb, 2014 Sports में

क्रिकेट की दुनियाक्रिकेट की हर हलचल पर गहरी नजर के साथ उसके विविध पक्षों को उकेरता ब्लॉग

Cricket

833 Posts

126 Comments

एक वक्त था जब भारतीय क्रिकेट टीम का ऊंचा मनोबल दक्षिण एशिया में ही अपने विरोधी टीमों के खिलाफ देखने को मिलता था. धीरे-धीरे स्थिति में बदलाव आया और भारतीय टीम अपने ऊंचे मनोबल के साथ विश्व की दूसरे टीमों के साथ दो-दो हाथ करने लगी. उनके भद्दे कमेंट और इशारों का जवाब अपने बल्ले और गेंदबाजी से देने लगी. हालांकि पड़ोसी देशों को छोड़कर विदेशी जमीन पर मजबूत टीमों के खिलाफ भारतीय टीम का प्रदर्शन कोई खास नहीं रहा, लेकिन टीम ने उनका सामना करना सीख लिया था.


S Sreesanth 1आज टीम में ऐसे बहुत से खिलाड़ी हैं जो अपने विरोधियों को जवाब उन्हीं की शैली में देते हैं. ऐसे ही एक खिलाड़ी हैं पूर्व टेस्ट क्रिकेटर एस श्रीसंत जो आजकल फिक्सिंग के गंभीर आरोपों के चलते क्रिकेट से दूर हो चुके हैं. वैसे श्रीसंत अन्य खिलाड़ियों से बिलकुल ही जुदा रहे हैं. मैदान पर उनका आक्रामक स्वभाव उन्हें सब खिलाड़ियों से अलग करता है.


भारतीय क्रिकेट के तेज गेंदबाज शांताकुमारन श्रीसंत ने जब अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपना कदम रखा था तब उनके बारे में ऐसा कहा जा रहा था कि बहुत दिनों बाद भारतीय टीम को एक ऐसा गेंदबाज मिला है जिसकी गेंदबाजी से टीम में बॉलिंग डिपार्टमेंट की स्थिति सुधरेगी. लेकिन श्रीसंत के लगातार विवादों में रहने से चयनकर्ताओं और कप्तान को मौका ही नहीं मिला कि उनकी गेंदबाजी का वे फायदा उठा सकें.


Read: फुस हुआ “बिन्नी” बम


जब-जब उन्हें टीम में शामिल किया गया शुरुआत के कुछ मैचों में वह ठीक गेंदबाजी करते थे लेकिन जैसे ही उन्हें बाकी बचे मैचों में मौका दिया जाता वह अपने ही रंग में दिखाई देने लगते. उनका आक्रामक तेवर और विरोधी टीमों के खिलाफ उनका रवैया उनके लिए नुकसान साबित होता. अपने इस रवैये के चलते उन्हें कई बार टीम से बाहर होना पड़ा तो कई बार अपने सीनियर खिलाड़ियों के गुस्से का शिकार.


क्रिकेट के मैदान पर अपनी अपरिपक्वता का परिचय देने वाले एस श्रीसंत कभी भी अपने कॅरियर को लेकर गंभीर नहीं रहे. चयनकर्ताओं ने उन्हें कई बार मौका दिया लेकिन उन्होंने अपनी अय्याश जिंदगी से अलग हटकर कभी भी इसका फायदा नहीं उठाया. मैदान पर उनके व्यवहार को देखते हुए कई बार चेतावनी भी दी जाती रही है. उनकी यही अपरिपक्वता है जिसकी वजह से आज वह स्पॉट फिक्सिंग जैसे गंभीर आरोपों में घिरे हुए हैं.


खैर स्पॉट फिक्सिंग मामले में बीसीसीआई से आजीवन प्रतिबंध प्रमाण पत्र पा चुके श्रीसंत को आज भी भरोसा है कि भारतीय टीम में जल्दी ही वापसी करेंगे. श्रीसंत ने कहा कि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया है और उन्हें उम्मीद है कि यह बुरा दौर जल्दी गुजर जाएगा.


Read more:

खिलाड़ी नहीं अय्याश है श्रीसंत

जब कांडा और श्रीसंत का हुआ मिलाप

वनडे टीम को ‘पुजारा’ की जरूरत

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग