blogid : 7002 postid : 1390371

भारत-इंग्लैंड टेस्ट फिक्स होने का दावा, श्रीलंका के साथ हुए मैच पर भी उठे सवाल

Posted On: 28 May, 2018 Sports में

Shilpi Singh

क्रिकेट की दुनियाक्रिकेट की हर हलचल पर गहरी नजर के साथ उसके विविध पक्षों को उकेरता ब्लॉग

Cricket

1170 Posts

126 Comments

क्रिकेट में फिक्सिंग एक ऐसा शब्द है जो किसी भी क्रिकेटर का करियर खरबा कर सकता है। वैसे फिक्सिंग के साए से क्रिकेट कभी अछूता नहीं रहा है। ऐसे में एक स्टिंग ऑपरेशन में दावा किया गया है कि भारत और श्रीलंका के बीच पिछले साल खेले गए साल 2016 के टेस्ट मैच में पिच से छेड़छाड़ की गई थी। इतना ही नहीं इसमें इंग्लैंड के भारत और ऑस्ट्रेलिया के श्रीलंका दौरे पर भी कई सावल उठाए हैं। हालांकि इसमें किसी खिलाड़ी का नाम अभी तक सामने नहीं आया है। इस खुलासे के तुरंत बाद इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल यानी आईसीसी ने तुरंत इस मामले पर जांच के आदेश दे दिए हैं।

 

 

इंग्लैंड टेस्ट मैच पर उठे सवाल

टीम इंडिया और इंग्लैंड के बीच दिसंबर 2016 में चेन्नई में हुए टेस्ट मैच पर फ़िक्सिंग का साया मंडरा रहा है। मैच फ़िक्सिंग को लेकर इंग्लैंड के तीन खिलाड़ी शक़ के घरे में हैं हालांकि इंग्लैंड के कप्तान जो रुट ने इसे बक़वास बताया है। दरअसल एक न्यूज़ चैनल ने रविवार को एक डाक्यूमेंट्री ”क्रिकेट के मैच फ़िक्सर्स” टेलीकास्ट की जिसमें चेन्नई टेस्ट के फिक्स होने का दावा किया गया है।

 

 

बुकीज के संपर्क में थे इंग्लैंड के खिलाड़ी

17 महीने पहले हुए टेस्ट मैच के एक 10 ओवर के दौरान इंग्लैंड के तीन खिलाड़ियों पर मैच फ़िक्स करने का आरोप लगाया गया है। हालंकि क़ानूनी उलझन की वजह ये नहीं बताया गया कि ये कौन से दस ओवर थे। प्रोग्राम में डी कंपनी का कथित सदस्य अनील मुनव्वर को बिजनेसमैन के भेस में एक अंडरकवर रिपोर्टर को ये कहते सुना गया है कि इंग्लैंड के कुछ खिलाड़ी उन दस ओवरों में रन बनाने में हेराफेरी करने के लिए तैयार हो गए थे ताकि बुकीज़ को फ़ायदा हो सके। ”क्रिकेट के मैच फ़िक्सर्स” में दावा किया गया है कि पहले से जानकारी रखने वाला और पैसा लगाने वाला धनी व्यक्ति प्रति मैच लगभग 90 करोड़ रुपये तक कमा सकता है जबकि इसमें मदद करने वाले खिलाड़ियों की छह अंकों में कमाई हो सकती है।

 

 

गॉल टेस्ट पर भी फंसा पेंच

वहीं, ऑस्ट्रेलियाई अखबारों ने छापा कि ”क्रिकेट के मैच फ़िक्सर्स” में दिखाया गया है कि 2016 में गॉल में खेले गए श्रीलंका भारत मैच फिक्स। भारत और श्रीलंका के बीच पिछले साल खेले गए टेस्ट मैच में पिच से छेड़छाड़ की गई थी। उसी साल आॅस्ट्रेलिया और श्रीलंका के बीच गॉल में ही खेले गए मैच को भी फिक्स बताया है। ऑस्ट्रेलिया के बीच दूसरे टेस्ट में ग्राउंड्समैन को रिश्वत देकर पिच के साथ छेड़छाड़ करवाई गई। उस मैच में कंगारू टीम पहली पारी में 106 और दूसरी पारी में सिर्फ 183 पर ऑलआउट हो गई और तीन दिन के भीतर ही मैच 229 रनों से हार गए। खबर के मुताबिक अल जजीरा के स्टिंग ऑपरेशन में बताया गया है कि फिक्सर्स ने इस मैच की पिच को फिक्स करने के लिए पिच क्यूरेटर को 37,000 डॉलर की रिश्वत दी थी। ऑस्ट्रेलिया के दो खिलाड़ियों पर संदेह है, हालांकि अभी तक क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के तरफ से कोई बयान नहीं आया है।

 

 

ICC करेगी पूरी जांच

”क्रिकेट के मैच फ़िक्सर्स” देखने के बाद ICC ने इस मामले में जांच करवाने की बात कही थी। ICC के महाप्रबंधक (भ्रष्टाचार विरोधी इकाई) एलेक्स मार्शल ने एक बयान में कहा, ‘हमें जो जानकारी मिली है, उसके आधार पर भ्रष्टाचार विरोधी के सदस्यों के साथ जांच शुरू कर दी गई है। वहीं उन्होंने आगे कहा, ‘हमने दोबारा गुजारिश की है कि क्रिकेट में भ्रष्टाचार संबंधित सभी सबूत और सहायक सामग्री तुरंत रिलीज की जाए ताकि हम पूर्ण और व्यापक जांच कर सकें’।….Next

 

Read More:

आईपीएल के इन हीरो को भूले दर्शक, कभी मैदान पर चलता था जादू

IPL के स्टार गेंदबाज हुआ करते थे कामरान, अब करते हैं खेतों में काम

IPL में बल्लेबाजी से धमाल मचाने वाले 6 खिलाड़ी, जो आज तक नहीं ठोक पाए शतक

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 1.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग