blogid : 7002 postid : 1392698

'द वॉल' राहुल द्रविड़ के आज तक नहीं टूटे ये रिकॉर्ड, आंकड़ों के सरताज हैं द्रविड़

Posted On: 11 Jan, 2019 Sports में

Shilpi Singh

क्रिकेट की दुनियाक्रिकेट की हर हलचल पर गहरी नजर के साथ उसके विविध पक्षों को उकेरता ब्लॉग

Cricket

1176 Posts

126 Comments

राहुल द्रविड़ भारतीय क्रिकेट का वो सितारा हैं, जिन्‍होंने क्रिकेट जगत को अपना कायल बनाया। फैंस ही नहीं, आलोचक भी उनकी सराहना करते हैं। ‘द वॉल’ के नाम से मशहूर द्रविड़ शानदार खिलाड़ी के साथ-साथ एक बेहतरीन इंसान के तौर पर भी जाने जाते हैं। एक समय था जब सचिन, गांगुली और द्रविड़ की तिकड़ी दुनिया के अच्‍छे-अच्‍छे गेंदबाजों के छक्‍के छुड़ा देती थी। आज राहुल द्रविड़ 45 वर्ष के हो गए। अपने क्रिकेट कॅरियर के दौरान उन्‍होंने बेहतरीन रिकॉर्ड बनाए हैं। आइये राहुल के जन्मदिन पर आपको उन रिकॉर्ड के बारे में बताते हैं, जो उन्‍हें एक शानदार बल्‍लेबाज के रूप में पहचान दिलाते हैं।

 

 

 

22 जून 1996 को शुरू किया करियर
राहुल द्रविड़ के बेमिसाल करियर की शुरुआत हुई 22 जून 1996 को। क्रिकेट के मक्का लॉर्ड्स में जब द्रविड़ ने कदम रखा तो विश्व क्रिकेट शायद इस बात से अंजान था कि अगले 15 साल विश्व क्रिकेट में इस नाम का कितना डंका बजने वाला है।

 

 

एक टेस्ट की दोनों पारियों में शतक लगाने वाले द्रविड़ तीसरे भारतीय
एक टेस्ट की दोनों पारियों में शतक लगाने वाले द्रविड़ सिर्फ तीसरे भारतीय है, एडिलेड में उनके शानदार दोहरे शतक की बदौलत भारत ने ऑस्ट्रेलिया पर दो दशक बाद जीत दर्ज की। रावलपिंडी में अपनी 270 रन की पारी के दौरान द्रविड़ ने क्रीज पर सबसे ज्यादा देर रुकने का रिकॉर्ड बना दिया। 2011 के शर्मनाक इंग्लैंड दौरे पर जहां कोई और बल्लेबाज शतक भी नहीं लगा पाया द्रविड़ ने तीन शतक लगाए।

 

 

बेहद कामयाब रहा है करियर
द्रविड़ ने अपने शानदार करियर में 164 टेस्टों में 52.31 का औसत निकाला और 36 शतक तथा 63 अर्धशतक बनाए। इसके अलावा उन्होंने विश्व रिकॉर्ड 210 कैच भी लपके। एकदिवसीय में उन्होंने 344 मैचों में 39.16 के औसत से 10889 रन बनाए जिनमें 12 शतक और 83 अर्धशतक शामिल है। एकदिवसीय में उन्होंने काफी समय विकेटकीपिंग की जिम्मेदारी भी संभाली थी जिसकी बदौलत उन्होंने 114 कैच लपके और 14 बल्लेबाजों को स्टंप भी किया।

 

 

आंकड़ों के सरताज द्रविड़
द्रविड़ ने अपने करियर में 164 टेस्ट मैच में 52.31 की शानदार औसत से 13288 रन बनाए हैं इस दौरान उन्होंने 36 शतक और 63 अर्धशतक लगाए हैं। टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में सर्वाधिक रन बनाने के मामले में सचिन तेंदुलकर के बाद द्रविड़ दूसरे नंबर पर हैं। इसके साथ साथ टेस्ट में सर्वाधिक कैच लेने का रिकॉर्ड भी द्रविड़ के नाम है।

 

 

कुछ ऐसे हुई थी विजेता के साथ शादी
द्रविड़ और विजेता की फैमिली एक-दूसरे को करीब तीस साल से जानते थे। द्रविड़ और विजेता का एक-दूसरे के घर आना जाना भी था लेकिन शादी की बात होने से पहले दोनों ने कभी एक-दूजे को पर्सनली नोटिस नहीं किया था। क्रिकेट सुपरस्टार से शादी करने वाली विजेता को शादी से पहले क्रिकेट की एबीसीडी भी पता नहीं थी। आमतौर पर अपनी पर्सनल लाइफ को मीडिया से दूर रखने वाले राहुल द्रविड़ की शादी डॉ. विजेता पेंढरकर से 4 मई 2003 को हुई थी। यह एक अरेंज्ड मैरज थी लेकिन दोनों की फैमिली वाले एक-दूसरे को काफी लंबे वक्त से जानते थे।

 

 

युवा क्रिकेटरों को कर रहे हैं तैयार

 

वैसे तो क्रिकेट के मैदान पर राहुल द्रविड़ अनेक रिकॉर्ड अपने नाम कर चुके हैं, लेकिन पिछला एक साल उनके लिए कुछ खास लेकर आया था। राहुल की ही शागिर्दी में अंडर 19 टीम इंडिया ने वर्ल्ड कप भारत के नाम किया। इस जीत ने राहुल द्रविड़ को एक मंजे हुए कोच के रूप में स्थापित कर दिया। यही नहीं राहुल के ये चेले आईपीएल नीलामी में भी छाए रहे और अंडर 19 टीम इंडिया के कप्तान पृथ्वी शॉ ने तो टीम इंडिया में सफलतापूर्वक जगह बना ली। इतना ही नहीं अंडर 19 टीम के खिलाड़ी भी अपने गुरू राहुल को श्रेय देने से नहीं चूके। अब आलम यह है कि चर्चाएं इस बात की भी होने लगी हैं कि राहुल टीम इंडिया के कोच कब बनेंगे।…Next

Read More:

इस साल कोहली की कप्तानी में तीन देशों में जीत, 15 साल बाद एडिलेड में मिली जीत खास

ऑस्ट्रेलिया के पर्थ स्टेडियम में भारत के लिए खराब रहा है रिकॉर्ड, नसीब हुई सिर्फ एक बार जीत

पहला टेस्ट जीतने के बाद 14 में से सिर्फ एक सीरीज हारी है टीम इंडिया, बना सकती है ये रिकॉर्ड

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग