blogid : 7002 postid : 1358493

पाकिस्तान के खिलाफ धमाकेदार पारी खेलने वाला वो क्रिकेटर, जिसे फिर कभी नहीं चुना गया

Posted On: 5 Oct, 2017 Sports में

क्रिकेट की दुनियाक्रिकेट की हर हलचल पर गहरी नजर के साथ उसके विविध पक्षों को उकेरता ब्लॉग

Cricket

849 Posts

126 Comments

अगर आप क्रिकेट के जबर्दस्त फैन हैं, तो आप कई पुराने क्रिकेटर्स के बारे में जानते होंगे. सुनील गावस्कर, कपिल देव, मोहिंदर अमरनाथ, माधव आप्टे. इन मशहूर नामों में से आखिरी नाम माधव आप्टे सुनने वाले बहुत कम लोग हैं. माधव ने 1951 में रणजी ट्रॉफी से अपना कॅरियर शुरू किया था. अपने पहले ही मैच में उन्होंने शतक जमाया था.


symbolic image
प्रतीकात्मक तस्वीर


पाकिस्तान के खिलाफ खेली थी शानदार पारी

1952 में पाकिस्तान के खिलाफ माधव आप्टे ने डेब्यू किया था. जिसमें उनके प्रदर्शन की जमकर तारीफ हुई थी. आप्टे ने अपने गुरु वीनू के साथ पहले ओपनिंग की और पहले टेस्ट में 30 और दस नाबाद रन बनाये.


madhav apte
माधव आप्टे


छोटे से कॅरियर में बेहतरीन प्रदर्शन

केवल 7 टेस्ट मैच खेलने वाले माधव आप्टे ने 49.27 की औसत से 542 रन बनाए. इनमें तीन अर्धशतक और एक शतक शामिल है. उनके भाई अरविंद आप्टे भी भारत के लिए टेस्ट खेल चुके हैं.


cricket 2


वेस्टइंडीज दौरे के बाद कभी नहीं चुने गए माधव

डेब्यू करने के बाद माधव आप्टे का वेस्ट इंडीज दौरे के लिए चयन हो गया. इस दौरे पर आप्टे पाली उमरीगर के बाद दूसरे सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी थे. आप्टे ने 51.1 की औसत से पांच मैच में 460 रन बनाये थे. इनमें पोर्ट ऑफ स्पेन में बनाए शानदार 163 रन भी थे. जबकि उमरीगर ने इतने ही मैचों में 62.22 की औसत से 560 रन बनाये थे. भारत वेस्ट इंडीज से सीरीज 0-1 से हार गया था.


madhav apte 1



वेस्टइंडीज दौरे के बाद कभी नहीं चुने गए माधव

वेस्ट इंडीज दौरे के बाद आप्टे ने 1954 में केवल एक फर्स्ट क्लास मैच खेला. इस वर्ष भारत ने कोई टेस्ट नहीं खेला. इस मैच में आप्टे ने 30 रन बनाए थे. लेकिन इसके बाद वह कभी टेस्ट टीम के लिए नहीं चुने गए. टीम से उन्हें ड्रॉप किया जाना आज भी एक रहस्य बना हुआ है. एक इंटरव्यू में आप्टे ने कहा था ‘भारतीय क्रिकेट का अनसुलझा रहस्य है मेरा न चुना जाना. उस दौर के क्रिकेटर भी नहीं जान पाए कि मुझे टीम में क्यों नहीं चुना गया.’


madhav apte 2


क्रिकेटर के बाद लेखक बने माधव

मई 2015 में माधव आप्टे ने अपनी आत्मकथा ‘एज लक वुड हैव इट’ वानखड़े स्टेडियम, मुंबई में लान्च की. इस लान्चिंग समारोह में सुनील गावस्कर जैसे दिग्गज शरीक हुए थे.

उनके शानदार कॅरियर को देखते हुए उनका ना चुना जाना, उन्हें आज भी खलता है. …Next

Read More:

विराट 6 तो धोनी इतने बार हुए हैं नर्वस 90 के शिकार, जानें बाकि क्रिकेटर्स का हाल

कंगारुओं के छक्के छुड़ाने में रोहित शर्मा सबसे आगे, इन 4 टीमों के खिलाफ भी बेहद खास है रिकॉर्ड

फास्ट बॉलर बनना चाहते थे सचिन, मशहूर होने से पहले इस फील्ड में खेलते थे ये सितारे

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग