blogid : 7002 postid : 1391359

जब मैदान पर आपस में खेलते-खेलते भिड़ गए पाक-भारत के ये 5 खिलाड़ी

Posted On: 19 Sep, 2018 Sports में

Shilpi Singh

क्रिकेट की दुनियाक्रिकेट की हर हलचल पर गहरी नजर के साथ उसके विविध पक्षों को उकेरता ब्लॉग

Cricket

1179 Posts

126 Comments

एशिया कप 2018 के सुपर हिट मुकाबले पर सबकी नजरे टिकी हुई हैं और हो भी क्यों ने आखिर भारत और पाकिस्तान जो एक साथ खेल रहे हैं। दरअसल, भारत और पाकिस्तान के बीच जब भी क्रिकेट मैच होता है तो दोनों देशों के क्रिकेट प्रेमियों का जुनून तमाम हदें पार कर जाता है। ये जुनून सिर्फ क्रिकेट प्रेमियां तक ही सीमित नहीं रहा है बल्कि इसका असर अक़्सर दोनों टीमों के खिलाड़ियों पर भी होता देखा गया है। हम आपको बताने जा रहे हैं ऐसी ही घटनाओं के बारे में जब दोनों देशों के खिलाड़ी अपना आपा खो बैठे और बीच मैदान पर ही एक दूसरे के साथ लड़ बैठे।

 

 

1. गौतम गंभीर कामरान अकमल

2010 एशिया कप के दौरान पाकिस्‍तानी विकेटकीपर कामरान अकमल बैटिंग कर रहे गौतम गंभीर के खिलाफ बेवजह अपील कर उन्‍हें परेशान कर रहे थे। तब गंभीर और अकमल के बीच खूब बहस हुई. आखिरकार धोनी को बीच बचाव करना पड़ा और मामला शांत हो गया, हालांकि दोनों क्रिकेट आज भी एक दूसरे को पंसद नहीं करते हैं।

 

 

2. हरभजन सिंह शोएब अख्‍तर

2010 एशिया कप में भारत को पाकिस्तान के खिलाफ मैच में आखिरी 7 गेंद में जीत के लिए 7 रन बनाने थे। ऐेसे में शोएब अख्‍तर ने हरभजन सिंह को परेशान करने वाली गेंद डालने के बाद जैसे ही उन्‍हें उकसाया। इन दोनों के बीच मैदान पर जमकर बहस शुरु हो गई। हरभजन सिंह ने इसके बाद मोहम्‍म्‍द आमिर की गेंद पर छक्‍का जड़कर भारत को जीत दिला दी। जीत दिलाने के बाद हरभजन सिंह ने शोएब अख्‍तर को भी अपना आक्रामक रुख दिखाया। हालांकि हरभजन का कहना है कि दोनों क्रिकेट के मैदान पर तो दुश्मन हैं लेकिन बाहर बहुत अच्छे दोस्त हैं।

 

 

3. गौतम गंभीर शाहिद अफरीदी

साल 2007 में जब पाकिस्तान की टीम भारत दौरे पर आई थी तब 5 वनडे मैचों की सीरीज के तीसरे मुकाबला कानपुर के ग्रीन पार्क स्टेडियम में खेला गया था, जिसमें गौतम गंभीर और शाहिद अफरीदी के बीच जमकर कहासुनी हो गई थी। गंभीर, शाहिद की गेंद पर सिंगल के लिए दौड़ रहे थे। दोनों की टक्कर हुई और गंभीर को लगा कि अफरीदी ने जानबूझकर ऐसा किया है, उसके बाद दोनों में बहस होने लगी। बाद में अंपायर और दोनों टीम के खिलाड़ीयों ने मिलकर मामले को शांत करवाया था।

 

 

4. वीरेंद्र सहवाग शोएब अख्‍तर

साल 2003 में एक मैच में शोएब अख्‍तर वीरेंद्र सहवाग को एक के बाद एक बाउंसर फेंके जा रहे थे, ताकि वो शॉट खेलें और आउट हो जाएं। शोएब की इस हरकत से परेशान होकर सहवाग अख्‍तर के पास गए और बोले हिम्मत है तो नॉन स्ट्राइकर एंड पर सचिन को बाउंसर डालो। इसके बाद सचिन ने शोएब की बाउंसर पर छक्‍के जड़े तब सहवाग बोले ‘बाप बाप होता है और बेटा बेटा होता है’।

 

 

5. मियांदाद – किरण मोरे

 

 

1992 विश्व कप में सि़डनी में भारत और पाकिस्तान के बीच मैच चल रहा था। विकेट कीपर किरण मोरे बार बार अपील कर रहे थे जिससे जावेद मियांदाद को चिढ़ हो रही थी। एक बार मोरे ने पिच कूदते हुए रन आउट की अपील की। इस पर जावेद नाराज़ हो गए और दोनों के बीच कुछ कहासुनी भी हुई। अगली बॉल पर मोरे ने स्टंप की गिल्लियां उड़ा दीं हालंकि जावेद साफ साफ क्रीज़ के अंदर थे। फिर अचानक जावेद मियांदाद पिच पर उछलते हुए मोरे की नक़ल करने लगे। ये मैच भारत जीत गया लेकिन विश्व कप पाकिस्तान ने जीता।…Next

 

Read More:

विराट कोहली से सुरेश रैना तक, एशिया कप में इन भारतीयों ने खेली है शानदार पारी

एशिया कप: भारत-पाकिस्तान मैच में ये 8 खिलाड़ी होंगे गेम चेंजर्स

6 बार एशिया कप का विजेता बन चुका है भारत, रोहित के पास 7वीं ट्रॉफी जीतने का मौका

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग