blogid : 7002 postid : 1391543

जब टूट गया ता हर भारतीय क्रिकेट फैन का दिल, 2007 के विश्व कप से बांग्लादेश ने किया था बाहर

Posted On: 28 Sep, 2018 Sports में

Shilpi Singh

क्रिकेट की दुनियाक्रिकेट की हर हलचल पर गहरी नजर के साथ उसके विविध पक्षों को उकेरता ब्लॉग

Cricket

1006 Posts

126 Comments

डिफेंडिंग चैंपियन भारत शुक्रवार को सातवें बार एशिया कप खिताब पर कब्जा करने के इरादे से दुबई अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में बांग्लादेश से भिड़ेगा। भारत ने 2016 में भी फाइनल में बांग्लादेश को हराकर अपना छठा एशिया कप खिताब जीता था। वहीं, बांग्लादेश तीसरी बार फाइनल में पहुंचा है। पहले दो मौकों पर वह जीत हासिल करने से चूक गया था। वैसे भारत और बांग्लादेश का मैच जब भी होता है, तो लोग साल 2007 का मैच याद आता है। तो चलिए जानते हैं कैसा रहा था वो पल जब भारत विश्व कप से हारकर हुआ था बाहर।

 

 

2007 के वर्ल्‍ड कप में हारी थी भारत

2007 के वर्ल्‍ड कप में त्रिनिदाद के क्वींस पार्क ओवल में हुए ग्रुप-बी मुकाबले में भारतीय टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला जरूर किया, लेकिन सलामी बल्लेबाज सौरभ गांगुली (66) और युवराज सिंह (47) के अलावा कोई भी शीर्ष बल्लेबाज चल नहीं सका था और पूरी टीम 49.3 ओवरों में 191 रन बनाकर धराशायी हो गई थी।

 

 

राहुल की कप्तानी में हारी भारत

उस समय टीम की कमान राहुल द्रविड़ के हाथ में थी, हालांकि द्रविड़ भी 14 रनों का ही योगदान दे सके थे। मौजूदा कप्तान महेंद्र सिंह धोनी उस मैच में विकेटकीपर के रूप में शामिल थे और बिना खाता खोले पवेलियन लौट गए थे। बांग्लादेश की मौजूदा टीम के कप्तान मशरफे मुर्तजा ने उस मैच में चार विकेट चटकाए थे।

 

 

पांच विकेट से जीता था भारत
भारत से मिले 192 रनों के मामूली लक्ष्य का पीछा करते हुए बांग्लादेश ने तमीम इकबाल (51), मुशफिकुर रहीम (नाबाद 56) और शाकिब अल हसन (53) की अर्धशतकीय पारियों की बदौलत 48.3 ओवरों में पांच विकेट पर जीत हासिल कर ली थी।

 

 

2011 के विश्व में भारत ने हराया था भारत

इसके बाद भारत ने अगले ही विश्व कप में इस हार की कसर निकालते हुए आईसीसी वर्ल्‍ड कप-2011 के उद्घाटन मैच में बांग्लादेश को 87 रनों से मात दी। इस बार टॉस बांग्लादेश ने जीता और भारत को बल्लेबाजी का न्यौता दिया।

 

 

एशिया कप में भी बांग्लादेश दे चुका है मात

आईसीसी वर्ल्‍ड कप-2007 में बांग्लादेश के हाथों मिली हार के बाद से दोनों टीमें 13 बार एक-दूसरे के खिलाफ खेल चुकी हैं और केवल एक बार भारत को एशिया कप-2012 में हार का सामना करना पड़ा। एशिया कप 2011-12 के उस मैच में बांग्लादेश के हाथों मिली हार इस मायने में भी चकित करने वाली रही, क्योंकि भारतीय टीम सचिन तेंदुलकर 289 रनों का बड़ा स्कोर खड़ा करने में सफल रहा था। गौरतलब है कि तमीम इकबाल एक बार फिर भारत के खिलाफ बांग्लादेश के संकटमोचक बनकर उभरे और शाकिब अल हसन ने भी अहम योगदान दिया। बांग्लादेश ने चार गेंद शेष रहते पांच विकेट पर 293 रन बनाकर यह मैच जीत लिया।…Next

 

Read More:

रोहित और धवन ने तोड़ा सचिन-सहवाग का ये रिकॉर्ड, धवन का नाम रिकॉर्ड बुक में दर्ज

क्रिकेट मैदान के बाहर हिंदी कमेंटरी से चौके छक्के लगा रहे हैं ये 5 भारतीय क्रिकेटर

Injury या बीमारी के बाद और खतरनाक हो गए ये खिलाड़ी, धाकड़ थी वापसी

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग