blogid : 7002 postid : 1371873

जब गेंद लगने से भारत के इस कप्‍तान का टूटा दांत, उठाकर जेब में रखा और ठोक दिया अर्धशतक

Posted On: 2 Dec, 2017 Sports में

क्रिकेट की दुनियाक्रिकेट की हर हलचल पर गहरी नजर के साथ उसके विविध पक्षों को उकेरता ब्लॉग

Cricket

835 Posts

126 Comments

भारत में क्रिकेट को खेल ही नहीं, धर्म की तरह माना जाता है। इस खेल को लेकर भारतीयों में गजब की दीवानगी है। क्रिकेट की बदलती तकनीक और खिलाड़ियों की शानदार परफॉरमेंस इस खेल के प्रति इंडियंस को और आकर्षित कर रही है। ऐसा हो भी क्‍यों न, इस देश ने क्रिकेट जगत को एक से बढ़कर एक सितारे दिए हैं। भारतीय खिलाड़ियों ने न जाने कितने ही रिकॉर्ड बनाए हैं। उनके साथ कुछ ऐसे किस्‍से भी जुडे हैं, जिन्‍हें जब भी याद करो तो मन रोमांचित हो उठता है। ऐसा ही एक वाकया जुड़ा है भारतीय टेस्‍ट क्रिकेट टीम के पहले कप्‍तान सीके नायडू से, जिसे जानकर हर कोई रोमांचित हो उठेगा। आइये आपको बताते हैं उस खास घटना के बारे में, जो शायद कम लोग ही जानते हों।


symbolic-image
प्रतीकात्‍मक फोटो


दांत टूटकर पिच पर गिर गया

CK नाम से फेमस नायडू बेहद जीवट किस्म के खिलाड़ी थे। इसका अंदाजा आप उस किस्से से लगा सकते हैं, जब बल्लेबाजी के दौरान चोटिल होने के बावजूद नायडू ने खेल जारी रखा। इस घटना के बाद क्रिकेट जगत में नायडू का सम्मान और भी ज्यादा बढ़ गया। हुआ यूं कि एक घरेलू क्रिकेट मैच में भारतीय टीम के ऑलराउंडर रहे दत्‍तू फडकर ने सीके नायडू को बाउंसर फेंकी। इस गेंद को नायडू ने आगे बढ़कर खेला। बॉल सीधे नायडू के दांत पर लगी, जिससे दांत टूटकर पिच पर गिर गया।


CK naidu


दांत उठाकर जेब में रखा और करने लगे बल्‍लेबाजी

इसे देख फील्डिंग कर रहे माधव आप्टे उनकी ओर दौड़े और नायडू का हाल-चाल पूछा। मगर उन्होंने कहा कि मुझे मत छुओ। इसके बाद अपना रुमाल निकालकर नीचे गिरा हुआ दांत उठाया और उसे अपनी जेब में डालकर फिर बल्‍लेबाजी करने लगे। खास बात यह रही कि इस चोट के बावजूद उन्होंने बल्लेबाजी करते हुए 60 के आसपास रन बनाए, जिसमें दो छक्के भी शामिल थे।


Ck naidu1


ऐसा सिक्स जड़ा कि दूसरे शहर में जाकर गिरी गेंद

भारत के इस शानदार क्रिकेटर की जिंदगी से जुड़ा एक ऐसा किस्‍सा और है। 1932 में भारत-इंग्लैंड के बीच वर्वीकशायर में खेले गए मैच के दौरान सीके नायडू चोटिल होने के बावजूद क्रीज पर मौजूद थे। स्टेडियम के पास एक नदी थी, जिसके दूसरी ओर व्रस्टेशायर शहर था। सीके नायडू ने एक गेंद पर इतना लंबा सिक्स जड़ा कि बॉल सीधे नदी को पार करते हुए व्रस्टेशायर शहर में पहुंच गई।


CK naidu2


बल्‍लेबाजी ही नहीं गेंदबाजी में भी रहे अव्‍वल

31 अक्टूबर 1895 को नागपुर में जन्मे भारत के पहले टेस्‍ट कप्तान कर्नल सीके नायडू ने अपने कॅरियर में 7 टेस्ट मैच खेले, जिसकी 14 पारियों में उन्होंने 350 रन बनाए। इस दौरान उन्होंने 2 अर्धशतक भी जड़े। नायडू ने गेंदबाजी में भी हाथ आजमाया और 9 विकेट लिए। इस खिलाड़ी ने अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट में अपना डेब्यू मैच सन् 1932 में और आखिरी मैच सन् 1936 में खेला था। इसके अलावा फर्स्‍ट क्‍लास मैच में उनका रिकॉर्ड शानदार रहा है। उन्‍होंने 207 मैचों में 11,825 रन बनाए। फर्स्‍ट क्‍लास क्रिकेट में उन्‍होंने 411 विकेट भी लिए…Next


Read More:

सचिन से लेकर मेस्‍सी तक, इन 6 धाकड़ खिलाड़ियों पर सजी जर्सी नंबर 10
कैफ की वजह से गांगुली ने लॉर्ड्स में लहराई थी अपनी जर्सी, ऐसी है इनकी लव स्टोरी
इन 5 मौकों पर कोहली ने दिखाई दरियादिली, कायल हुआ विश्व क्रिकेट


Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग