blogid : 7002 postid : 1390379

7 साल बाद चेन्नई ने जीती ट्रॉफी, लेकिन ये खिलाड़ी तीन साल से हर बार IPL चैंपियन

Posted On: 29 May, 2018 Sports में

Shilpi Singh

क्रिकेट की दुनियाक्रिकेट की हर हलचल पर गहरी नजर के साथ उसके विविध पक्षों को उकेरता ब्लॉग

Cricket

1179 Posts

126 Comments

आईपीएल 2018 के फाइनल मुकाबले में एक बार फिर से चेन्नई ने अपनी जात दर्ज करवा ली है। चेन्नई ने तीसरी बार इस खिताब को अपने नाम किया है। फाइनल हैदराबाद और चेन्नई के बीच में हुआ था पहले था, लेकिन चेन्नई ने बड़ी आसानी से जीत दर्ज कर लिया। वॉटसन की बेहतरीन पारी की बदौलत चेन्नई ने वानखेड़े स्टेडियम में सनराइज़र्स हैदराबाद को आठ विकेट से हरा उसके दूसरे खिताब जीतने का सपना को तोड़ दिया। लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि चेन्नई की जीत वॉटसन के अलावा एक और खिलाड़ी के लिए बेहद लकी साबित हुई और ये खिलाड़ी एक इंडियन है।

 

 

वॉटसन की जबरदस्त पारी के आगे बेदम हैदराबाद

आईपीएल 2018 के फाइनल मुकाबले में शेन वॉटसन ने 57 गेंदों में नाबाद 117 रन जड़ते हुए चेन्नई सुपर किंग्स को तीसरी बार चैंपियन बना दिया। हैदराबाद के गेंदबाज़ों ने इस सीज़न में जिस तरह का प्रदर्शन किया था उसे देखकर लग रहा था कि चेन्नई के लिए यह जीत बेहद मुश्किल होगी, लेकिन वॉटसन ने एक छोर पर अकेले खड़े होकर हैदराबाद के गेंदबाज़ों की जमकर धुनाई की और चेन्नई को 18.3 ओवरों में ही लक्ष्य तक पहुंचा दिया।

 

 

कर्ण शर्मा ने जीते लगातार तीन आईपीएल खिताब

दरअसल चेन्नई टीम का हिस्सा स्पिनर कर्ण शर्मा के सितारे इन दिनों बुलंदियों पर चल रहे हैं। कर्ण शर्मा ने भले ही ज्यादा मैच न खेले हो इस सिजन में लेकिन उनके लिए ये सिजन बेहद खास रहा। कर्ण शर्मा ने फाइनल में विकेट तो सिर्फ एक ही लिया लेकिन फिर भी उनके लिए ये ख़ास बन गया। दरअसल, कर्ण शर्मा पिछले तीन सालों में तीन टीमों के साथ खेल चुके हैं। वो जिस भी टीम के जुड़े, उस टीम ने खिताब जीता। यानि कर्ण पिछले तीन सालों से उस टीम का हिस्सा हैं जिसने खिताब अपने नाम किया।

 

 

कर्ण जिस टीम का हिस्सा रहे वो टीम जीती

कर्ण शर्मा इकलौते ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने लगातार तीन साल आईपीएल ट्रॉफी जीती है। कर्ण 2016 में सनराइज़र्स हैदराबाद के हिस्सा थे तो उस साल हैदराबाद ने खिताब जीता था। इसके बाद उन्हें मुंबई ने चुना और साल 2017 में मुंबई तीसरे बार विजेता बनी और साल 2018 में चेन्नई ने उन्हें आईपीएल ऑक्शन में 5 करोड़ में खरीदा।

 

 

चेन्नई की तरफ से खेले 6 मैचे

कर्ण भले ही इसी सिजन में केवल 6 मैच खेले हों, लेकिन उनके लिए एक बार फिर से आईपीएल लकी साबित हुआ। कर्ण ने इस सीज़न में कुल 6 मैच ही खेले और उन्हें फाइनल में जगह मिली, हरभजन की जगह उन्हें टीम में शामिल किया गया था। कर्ण ने फाइनल में एक ही विकेट लिया लेकिन वो हैदराबाद के कप्तान केन विलियम्सन का था जो अच्छे फॉर्म में चल रहे हैं।…Next

 

Read More:

आईपीएल के इन हीरो को भूले दर्शक, कभी मैदान पर चलता था जादू

IPL के स्टार गेंदबाज हुआ करते थे कामरान, अब करते हैं खेतों में काम

IPL में बल्लेबाजी से धमाल मचाने वाले 6 खिलाड़ी, जो आज तक नहीं ठोक पाए शतक

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग