blogid : 7002 postid : 1392347

ऑस्ट्रेलिया के पर्थ स्टेडियम में भारत के लिए खराब रहा है रिकॉर्ड, नसीब हुई सिर्फ एक बार जीत

Posted On: 14 Dec, 2018 Sports में

Shilpi Singh

क्रिकेट की दुनियाक्रिकेट की हर हलचल पर गहरी नजर के साथ उसके विविध पक्षों को उकेरता ब्लॉग

Cricket

1179 Posts

126 Comments

आज भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच टेस्ट सीरीज का दूसरा मैच खेला जा रहा है। यह मैच पर्थ के नए ऑप्टस स्टेडियम में होगा। इस पिच पर आज तक कोई टेस्ट मैच नहीं खेला गया है। इस स्टेडियम पर ऑस्ट्रेलियाई फुटबॉल, रग्बी और क्रिकेट सबके लिए व्यवस्था भी है। बता दें कि सीरीज का पहला मैच एडिलेड में खेला गया था, जिसे भारतीय टीम ने 31 रन से जीतकर सीरीज में 1-0 से आगे है। ऐसे में चलिए जानते हैं आखिर क्यों ये जीत है बेहद खास और क्यों ये मैदान नहीं रहा है भारत के लिए लकी।

 

 

ड्रॉप इन विकेट पर खेला जाएगा मैच

यह पहली बार है जब मैच ड्रॉप इन विकेट पर खेला जा रहा है। यह पिच बनाई नहीं जाती बल्कि बिछाई जाती है। जिसे आम बोलचाल की भाषा में ड्रॉपइन पिच कहते हैं। ऑस्ट्रेलिया में इस तरह की पिचों का बहुत चलन है और नए स्टेडियम में इस प्रयोग को जारी रखा गया है। विशेषज्ञ बताते हैं कि इस पिच पर भी तेज़ गेंदबाज़ों का बोलबाला होगा। बता दें कि इन दिनों वहां गर्मी का मौसम है।

 

 

भारत के सामने ये हैं मुश्किलें

रोहित शर्मा, आर अश्विन और पृथ्वी शॉ चोट के चलते दूसरा टेस्ट मैच नहीं खेल रहे हैं। भारतीय बल्लेबाजी पूरी तरह से मुरली विजय, लोकेश राहुल, विराट कोहली, दिनेश कार्तिक और चेतेश्वर पुजारा पर ही टिकी होगी।

 

 

पर्थ के नए स्टेडियम पर दोनों मैच हारा है ऑस्ट्रेलिया

पर्थ के नए स्टेडियम में खेले गए दोनों वनडे मैचों में ऑस्ट्रेलिया को हार मिली है। पर्थ स्टेडियम पर पहला मैच 28 जनवरी 2018 को इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेला गया था। इस मैच में इंग्लैंड ने पहले बैटिंग करते हुए 259 रन बनाए और जवाब में ऑस्ट्रेलिया को 247 रन पर समेटते हुए 12 रन से जीत हासिल की थी। वहीं इस मैदान पर दूसरा मैच 4 नवंबर 2018 को दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेला गया था। इस मैच में ऑस्ट्रेलिया की टीम पहले बैटिंग करते हुए 152 रन पर सिमट गई थी, जिसके जवाब में दक्षिण अफ्रीका ने 29.2 ओवर में ही 4 विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया था।

 

 

भारतीय तेज गेंदबाजी आक्रमण

अगर ऑस्ट्रेलियाई पिचों पर तेज गेंदबाज बादशाह होते हैं, तो भारत के पास भी जसप्रीत बुमराह, इशांत शर्मा और मोहम्मद शमी जैसे तेज गेंदबाज हैं। यह गेंदबाज कभी भी गेम चेंज करने का दमखम रखतें हैं। वहीं ऑस्ट्रेलिया के पास मिशेल स्टार्क, जोश हेजलवुड और पैट कमिंस की रफ्तार है। कह सकते हैं कि पर्थ का ये मुकाबला अब दोनों टीमों की बल्लेबाजी पर आकर टिका है।

 

 

पर्थ के वाका मैदान में भारत vs ऑस्ट्रेलिया का रिकॉर्ड

इस बार भारतीय टीम पर्थ के नए मैदान में खेलेगी। जहां तक पर्थ के वाका मैदान पर भारतीय टीम के रिकॉर्ड का सवाल है तो उसमें ऑस्ट्रेलिया भारी पड़ता रहा है। इन दोनों के बीच पर्थ के वाका मैदान में खेले गए कुल चार टेस्ट मैचों में से भारत ने सिर्फ एक मैच जीता है जबकि ऑस्ट्रेलिया ने तीन मैचों में जीत हासिल की है।  भारत ने पर्थ में अपनी एकमात्र जीत 2008 में अनिल कुंबले की कप्तानी में 72 रन से जीत दर्ज करते हुए हासिल की थी। इस मैदान पर इन दोनों के बीच 2012 में हुई आखिरी भिड़ंत में ऑस्ट्रेलिया ने एक पारी और 37 रन से जीत हासिल की थी।

 

 

पर्थ के वाका मैदान में भारत बनाम  ऑस्ट्रेलिया मैच का रिकॉर्ड

1977-ऑस्ट्रेलिया 2 विकेट से जीता

1992-ऑस्ट्रेलिया 300 रन से जीता

2008-भारत 72 रन से जीता

2012-ऑस्ट्रेलिया पारी और 37 रन से जीता

 

कोहली रच सकते हैं विराट रिकॉर्ड

भारतीय कप्तान विराट कोहली इस ऑस्ट्रेलियाई दौरे पर एक और बड़ा रिकॉर्ड रचने के करीब हैं। विराट अगर पर्थ टेस्ट जीतने में कामयाब होते हैं, तो वे पूर्व कप्तान सौरभ गांगुली की बराबरी कर लेंगे। कोहली ने विदेशी जमीन पर अब तक 10 टेस्ट जीते हैं, जबकि गांगुली ने 11 मैच में भारत को जीत दिलाई है। यदि विराट कोहली इस सीरीज में क्लीन स्वीप करते हैं, तो वे पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को भी पछाड़ते हुए भारत के सफलतम कप्तानों की सूची में शिखर पर पहुंच जाएंगे।…Next

 

Read More:

युवी से भज्जी तक, 2019 विश्व कप के बाद रिटायरमेंट ले सकते हैं ये स्टार क्रिकेटर

पहला टेस्ट जीतने के बाद 14 में से सिर्फ एक सीरीज हारी है टीम इंडिया, बना सकती है ये रिकॉर्ड

इस साल कोहली की कप्तानी में तीन देशों में जीत, 15 साल बाद एडिलेड में मिली जीत खास

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग