blogid : 7002 postid : 1392359

PM मोदी ने गंभीर की तारीफ में लिखा पत्र कहा 'आपका धन्यवाद', पूर्व क्रि‍केटर का ये था जवाब

Posted On: 17 Dec, 2018 Sports में

Shilpi Singh

क्रिकेट की दुनियाक्रिकेट की हर हलचल पर गहरी नजर के साथ उसके विविध पक्षों को उकेरता ब्लॉग

Cricket

1175 Posts

126 Comments

भारत को दो बार विश्व खिताब जिताने में अहम भूमिका निभाने वाले क्रिकेटर गौतम गंभीर ने पिछले दिनों क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास ले लिया। उन्होंने अपने कॅरियर का आखिरी मैच रणजी ट्रॉफी टूर्नामेंट में अपने होम ग्राउंड फिरोजशाह कोटला स्टेडियम में आंध्र प्रदेश के खिलाफ खेला। गौतम गंभीर ने अपने विदाई मैच शानदार शतकीय पारी खेली। गौतम गंभीर के संन्यास लेने पर क्रिकेट फैंस से लेकर विभिन्न पर्सनेलिटी ने साल 2007 के टी20 विश्व कप और साल 2011 के वनडे विश्व कप में उनके अहम योगदान को याद किया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने क्रिकेटर गौतम गंभीर के खेल में योगदान और ‘कम वंचित लोगों की जिंदगी में सकारात्मक बदलाव लाने’ की कोशिश की पत्र लिखकर सराहना की। मोदी ने टी-20 वर्ल्‍डकप 2007 और एकदिवसीय वर्ल्‍डकप 2011 में भारत को चैम्पियन बनाने में गंभीर के योगदान का विशेष उल्लेख किया।

 

 

पीएम ने गंभीर को दी बधाई

प्रधानमंत्री ने इस पत्र की शुरूआती पंक्तियों में कहा, ‘मैं भारतीय खेलों में आपके योगदान के लिए बधाई देने के साथ शुरूआत करना चाहूंगा। आपके यादगार प्रदर्शनों के लिये भारत हमेशा आभारी रहेगा। इसमें कई ऐसे प्रदर्शन थे, जिसने देश को ऐतिहासिक जीत दिलाई’। गंभीर ने मोदी के इस पत्र को अपने ट्विटर हैंडल पर साझा करते हुए लिखा, ‘इन शब्दों के लिए शुक्रिया। यह देशवासियों के समर्थन और प्यार के बिना संभव नहीं होता, मेरी सभी उपलब्धि देश के नाम’।

 

 

पीएम ने की गंभीर की तारीफ

गंभीर ने इस पोस्ट में मोदी और प्रधानमंत्री कार्यालय को टैग भी किया। प्रधानमंत्री ने खेल के प्रति गंभीर के जूनून की तारीफ की, उन्होंने कहा, ‘‘मुझे यकीन है कि अपकी यात्रा उतार-चढ़ाव से भरी रही होगी। लेकिन आपने समर्पण और दृढ़ता से देश के लिए खेलना सुनिश्चित किया। आप कम समय में ही एक भरोसेमंद सलामी बल्लेबाज के रूप में उभरे, जो अक्सर टीम को शानदार शुरूआत दिलाता था।

 

 

सन्यास की घोषणा से लोग निराश हुए थे

पीएम मोदी ने कहा, ‘‘जब आपने क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास की घोषणा की, तो आपके शुभचिंतक काफी निराश हो गए लेकिन इस निर्णय से एक नहीं बल्कि आपके जीवन की कई दूसरी पारियां शुरू होगी। आपके पास अन्य पहलुओं पर काम का समय और अवसर होगा, जिसके लिए पहले आपको समय नहीं मिल रहा था’। ऐसे कयास लगाये जा रहे थे कि गंभीर संन्यास के बाद राजनीति में हाथ आजमाएंगे, लेकिन उन्होंने ऐसा करने से मना कर दिया है।

 

 

बेहद उतार चढ़ाव भरा रहा करियर

क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर 10,000 से अधिक रन बनाने वाले इस 37 वर्षीय बल्लेबाज ने पिछले सप्ताह अपना आखिरी रणजी मैच खेल क्रिकेट से सन्यास लिया था। वह देश से जुडे विभिन्न मुद्दों पर बेबाकी से अपनी राय रखने के लिए जाने जाते थे। मोदी ने कहा, ‘जिस दृढ़ता और स्पष्टता से आपने अपनी बात रखी, खासकर भारत की एकता और अखंडता से जुड़े मुद्दों पर, उससे आप विभिन्न तबके के लोगों के चहेते बने’।

 

 

ऐसा रहा है गंभीर का क्रिकेटर

गंभीर ने 58 टेस्ट मैचों में 41.96 की औसत से 4154 रन बनाये, जिसमें नौ शतकीय पारी शामिल हैं, उन्होंने 147 एकदिवसीय मैचों में 39.68 की औसत और 11 शतकीय पारियों की मदद से 5238 रन बनाए। गंभीर से टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में भी अपनी छाप छोड़ी, उन्होंने 37 मैच में सात अर्धशतक की मदद से 932 रन बनाये, जिसमें उनका औसत 27.41 का था।…Next

 

Read More:

इस साल कोहली की कप्तानी में तीन देशों में जीत, 15 साल बाद एडिलेड में मिली जीत खास

ऑस्ट्रेलिया के पर्थ स्टेडियम में भारत के लिए खराब रहा है रिकॉर्ड, नसीब हुई सिर्फ एक बार जीत

पहला टेस्ट जीतने के बाद 14 में से सिर्फ एक सीरीज हारी है टीम इंडिया, बना सकती है ये रिकॉर्ड

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग