blogid : 7002 postid : 1311698

कभी खेत में पिच बनाकर गेंदबाजी करते थे ये क्रिकेटर, कोहली से है इनका खास रिश्ता

Posted On: 3 Feb, 2017 Sports में

क्रिकेट की दुनियाक्रिकेट की हर हलचल पर गहरी नजर के साथ उसके विविध पक्षों को उकेरता ब्लॉग

Cricket

849 Posts

126 Comments

बुधवार को बेंगलुरु के एम.चिन्नास्वामी स्टेडियम में इंग्लैंड के छक्के छुड़ाने वाले ‘युजवेंद्र चहल’ ने भारतीय टीम की जीत में अहम भूमिका निभाई थी. हरियाणा के जींद में जन्में युजवेंद्र चहल ने पिछले मैच में  4 ओवर में 27 रन देकर 6 विकेट चटकाए थे. इस प्रदर्शन की बदौलत वह एक ही रात में स्टार गेंदबाज बन गए और खुद का नाम टी-20 क्रिकेट में 6 विकेट लेने वाले गेंदबाजों की सूची में ला खड़ा किया. युजवेंद्र ऐसा करने वाले तीसरे गेंदबाज हैं, लेकिन इस कामयाबी के पीछे उन्होंने बड़ा लंबा सफर तय किया है.


Yazvendra-


आईपीएल से मिली पहचान

युजवेंद्र ने जब आईपीएल खेलना शुरू किया उस दौरान उन्हें कोई नहीं जानता था, लेकिन धीरे-धीरे उनकी गेंदबाजी मे निखार आने लगा और उन्होंने अपनी पहचान बनाई और यही से उनके लिए भारतीय टीम का रास्ता खुला. चहल 2016 में आईपीएल सीजन के तीसरे बेस्ट बॉलर बनें थे. आईपीएल खेलने से पहले वो रणजी भी खेलते थे.


YuzvendraChaha


कोहली की टीम से खेलते हैं युजवेंद्र

युजवेंद्र कोई नया नाम नहीं है, लेकिन कहते हैं ना जब तक कोई बड़ा काम ना करो तब तक लोग आपको पहचानते नहीं. युजवेंद्र इससे पहले कई सालों से विराट की ही कप्तानी में खेले रहे हैं, दरअसल आईपीएल में विराट और युजवेंद्र एक ही टीम बेंगलुरु रॉयल चैलेंजर्स का हिस्सा हैं और शायद यही वजह है जो विराट को युजवेंद्र पर इतना भरोसा है.


_Yuzvendra_Chahal_Virat

हरियाणा से भारतीय टीम तक का सफर

हरियाण के जींद के रहने वाले चहल शुरू से ही पढ़ाई में अच्छे नहीं थे, उनका झुकाव क्रिकेट की तरफ ज्यादा था, ऐसे में परिवार का साथ उन्हें मिला. चहल के पिता शुरू से चाहते थे कि बेटा क्रिकेटर हो और इसलिए उन्होंने चहल के सपनों को पूरा करने के लिए उसका पूरा साथ दिया.


Read: सौतेली मां ने बदल दी इस क्रिकेटर की जिंदगी, आज दुनिया कर रही है सलाम


खेत में करते थे प्रैक्टिस

चहल के पिता केके चहल ने बताया कि, ‘2004 में युजवेंद्र के लिए डेढ़ एकड़ खेत में पिच तैयार करवाई. वहीं से चहल ने प्रैक्टिस शुरू की. 2011 तक युजवेंद्र ने खेत में ही प्रैक्टिस की. चहल का जब अंडर-19 में जगह मिली, तो उनके पिता को लगा की अब उनका सपना सच में पूरा होगा.


chahall




पिता हैं वकील और सरपंच

युजवेंद्र के पिता एडवोकेट और 1983 में गांव दरियावाली के सरपंच रह चुके हैं. 1984 में वह मार्केट कमेटी जींद के चेयरमैन भी रहे. 2002-03 में वह बार एसोसिएशन जींद के प्रेजिडेंट भी रह चुके हैं. फिलहाल वह जींद कोर्ट में वकील हैं.


chahal house




आईसीसी की टी-20 रैंकिंग में चहल की छलांग

टीम इंडिया के लेग स्पिनर यजुवेंद्र चहल ने आईसीसी टी-20 रैंकिंग में लंबी छलांग लगाई है. चहल गुरुवार को जारी ताजा रैंकिंग में 86वें स्थान पर आ गए हैं. चहल ने बेंगलुरु में खेले गए आखिरी टी-20 मैच में छह विकेट लिए थे. इंग्लैंड ने आठ रनों के भीतर आठ विकेट गंवा अपनी हार तय की. चहल इस सीरीज में कुल 8 विकेट लेकर प्लेयर ऑफ द सीरीज रहे…Next



Read More:

बस कंडक्टर है कोहली का ये ‘विराट’ फैन, मैच देखने के लिए बेच दिए मां के गहने

विश्व विजेता टीम के इस क्रिकेटर ने की थी 4 बार आत्महत्या की कोशिश, आज हैं एक बड़े खिलाड़ी

4 करोड़ की कार चलाते हैं विराट कोहली, जानें कितनी कारों के हैं मालिक

बस कंडक्टर है कोहली का ये ‘विराट’ फैन, मैच देखने के लिए बेच दिए मां के गहने
विश्व विजेता टीम के इस क्रिकेटर ने की थी 4 बार आत्महत्या की कोशिश, आज हैं एक बड़े खिलाड़ी
4 करोड़ की कार चलाते हैं विराट कोहली, जानें कितनी कारों के हैं मालिक

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग