blogid : 7002 postid : 1391803

खदान में काम करते थे उमेश यादव के पिता, स्‍टेडियम में बैठी फैन से हो गया था प्यार

Posted On: 25 Oct, 2018 Sports में

Shilpi Singh

क्रिकेट की दुनियाक्रिकेट की हर हलचल पर गहरी नजर के साथ उसके विविध पक्षों को उकेरता ब्लॉग

Cricket

1013 Posts

126 Comments

उमेश यादव भारतीय टीम के मुख्य गेंदबाज के तौर पर जानें जाते हैं। आज हर कोई उनकी गेंदबाजी की क्रद करता है लेकिन उनका ये सफर इतना आसान नहीं था। उमेश यादव का जन्म 25 अक्टूबर 1987 को हुआ था। उमेश को भी बचपन से ही क्रिकेटर बनना था, लेकिन घर की स्थिती अच्छी न होने की वजह से उनके सपनों की उड़ान में की सारे मोड़ आए और आखिरकार हर हार को हराकर वो आज भारत के गेंदबाज के तौर पर अपना मुकाम बना चुके हैं। वैसे उमेश एक पुलिसवाला बनना चाहते थे, लेकिन किस्मत उन्हें क्रिकेट के मैदान तक ले आई।

 

 

पिता कोयले की खदान में करते थे काम

उमेश यादव आज भारतीय क्रिकेट टीम की गेंदबाजी का मुख्य हिस्सा है। उमेश का जन्म उत्तर प्रदेश के देवरिया के रहने वाले हैं, उमेश नागपुर के निकट खापरखेड़ा की वेस्टर्न कोल लिमिटिड की कॉलोनी में रहते थे। वह कोयला खदान में काम करते थे। यहीं पर उमेश की परवरिश हुई थी।

 

umesh yadav1

पुलिस ने जाना चाहते उमेश

क्रिकेट में स्टार बनने से पहले उमेश के पिता चाहते थे कि उनके बेटा पुलिस या सेना में नौकरी करे। पिता के कहने पर उमेश ने भी सरकारी नौकरी के लिए खूब कोशिशें कीं। कद काठी इन दोनों नौकरियों के लायक थी, पर किस्मत ने साथ नहीं दिया। सेना और पुलिस बल में नौकरी के लिए आवेदन करने की असफल कोशिश करने के बाद, 19 वर्षीय यादव ने क्रिकेट खेलने की शुरुआत की थी। उमेश सेना और पुलिस में सिपाही बनना चाहते थे। उमेश यादव घरेलू क्रिकेट में विदर्भ की तरफ से खेलते हैं विदर्भ के पहले खिलाड़ी हैं जिसने टेस्ट क्रिकेट खेला है।

 

umesh02

टेनिस बॉल से की थी खेल के शुरुआत

विदर्भ की टीम में शामिल होने के बाद उमेश यादव ने पहली बार लेदर की गेंद से गेंदबाजी की। इसके पहले वह टेनिस बॉल से क्रिकेट खेलते थे। विदर्भ की टीम को घरेलू क्रिकेट में एक पिछड़ी हुई टीम के तौर पर जाना जाता था, लकिन उमेश ने अपनी शानदार गेंदबाजी से सबकौ हैरान कर दिया था। उमेश की सबसे तेज गेंद की गति.154.8 kmph थी,औसतन वह 140 kmph गेंद डालते हैं।

 

umesh yadav

 

क्रिकेट में बनाया अपना नाम

घरेलू क्रिकेट में तहलका मचा कर उन्होंने 2010 के आईपीएल सीजन में दिल्ली डेयरडेविल्स के तेज गेंदबाज के तौर पर अपनी पहचान बना ली। IPL 2010 में उमेश को दिल्ली डेयरडेविल्स ने 18 लाख रुपए में खरीदा था। इसके बाद वेस्टइंडीज में वर्ल्ड टी20 टूर्नामेंट खेलने पहुंची टीम इंडिया के गेंदबाज प्रवीण कुमार चोटिल हो गए तो उमेश को वहां बुला लिया गया।

 

umesh

 

IPL के दौरान हुआ प्यार
उमेश की निजी जिंदगी में झांके तो उनकी लव लाइफ भी कम रोचक नहीं है। उमेश और उनकी पत्‍नी तान्‍या की मुलाकात आईपीएल मैच के दौरान हुई थी। तान्‍या अपने एक दोस्‍त के साथ मैच देखने स्‍टेडियम आईं थी, वह दोस्‍त उमेश को भी जानता था। उसने तान्‍या को उमेश से मिलवाया और दोनों एक अच्‍छे दोस्‍त बन गए। धीरे-धीरे यह दोस्‍ती प्‍यार में बदल गई।

 

 

2013 में लिए सात फेरे
तान्‍या ने एक इंटरव्‍यू में कहा था कि, 2012 में उमेश ने उन्‍हें शादी के लिए प्रपोज किया और तान्‍या ने तुरंत हां कह दी। 16 अप्रैल 2013 को उमेश यादव ने दिल्ली में रहने वाली फैशन डिजाइनर तान्या वाधवा से शादी की है। इसके साथ ही हाल ही में उन्हें रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के नागपुर ऑफिस में असिस्टेंट मैनेजर के पद पर नियुक्त किया गया है।

 

 

अब तक ऐसा रहा है करियर

2010 में अपना पहला इंटरनेशनल मैच खेलने वाले उमेश यादव भारत की तरफ से अब तक 40 टेस्ट खेल चुके हैं। जिसमें उनके नाम 117 विकेट दर्ज हैं। वहीं वनडे की बात करें तो इस तूफानी गेंदबाज ने 74 मैच खेलकर 105 विकेट अपने नाम किए। हाल ही में खत्म हुई भारत-वेस्टइंडीज टेस्ट सीरीज में उमेश ने शानदार गेंदबाजी की थी। हैदराबाद टेस्ट में तो उमेश ने 10 विकेट निकाले थे।…Next

 

Read More:

डेब्यू मैच से पहले शाहरुख खान बन गए ऋषभ पंत, ट्विटर पर लिखा कुछ ऐसा

धोनी के साथ जोगिंदर शर्मा ने शुरू किया था अपना करियर, 2007 विश्व का थे अहम हिस्सा

जीत दिलाने के मामले में विराट कोहली के रनों का औसत सचिन तेंदुलकर से ज्यादा, देखें आंकड़े

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग