blogid : 7002 postid : 1389333

जब तेंदुलकर के इस शॉट ने रचा कीर्तिमान, सचिन... सचिन... की आवाज से गूंज उठा मैदान

Posted On: 16 Mar, 2018 Sports में

क्रिकेट की दुनियाक्रिकेट की हर हलचल पर गहरी नजर के साथ उसके विविध पक्षों को उकेरता ब्लॉग

Cricket

1179 Posts

126 Comments

सचिन तेंदुलकर ने अपने क्रिकेट करियर के दौरान कई कीर्तिमान स्‍थापित किए हैं। उन्‍होंने न जाने कितने ही दिग्‍गजों के रिकॉर्ड ध्‍वस्‍त किए और कई नए रिकॉर्ड बनाए। उन्‍होंने लंबे समय तक क्रिकेट खेला और भारतीय क्रिकेट को एक नई पहचान दिलाई। उन्‍हें क्रिकेट का भगवान कहा जाता है। सचिन ने इतने रिकॉर्ड बनाए हैं, जिनमें पूरे रिकॉर्ड शायद ही किसी को याद हों। हालांकि, उनका एक रिकॉर्ड ऐसा है, जो हर क्रिकेटप्रेमी को याद होगा और वो है शतकों के शतक का रिकॉर्ड। उन्‍होंने जब ये रिकॉर्ड बनाया, तो क्रिकेट जगत के लिए यह नया रिकॉर्ड था, जिसे इससे पहले कोई खिलाड़ी नहीं बना पाया था। आइये आपको उस दिन के बारे में बताते हैं, जब सचिन ने यह रिकॉर्ड बनाया था।

 

 

सचिन ने पूरा किया 100वां अंतरराष्‍ट्रीय शतक

 

 

दिन 16 मार्च, 2012, सचिन तेंदुलकर ने बांग्लादेश के खिलाफ शेर-ए-बांग्ला स्टेडियम, मीरपुर में शतक लगाया। इस मैच में सचिन ने 147 गेंदों पर 114 रनों की पारी खेली। यह सचिन के बल्ले से निकला 100वां अंतरराष्ट्रीय शतक था और यहां उनसे पहले कोई नहीं पहुंचा था। इस शतक के बाद सचिन उस पायदान पर खड़े थे, जिसे आने वाले वक्त में एक मील के पत्थर के तौर पर देखा जाने वाला था। स्‍टेडियम सचिन… सचिन… की आवाज से गूंज रहा था। सचिन के शतक पूरा करते ही ड्रेसिंग रूम में बैठा हर खिलाड़ी, टीम के सदस्‍य और मैच देख रहे प्रशंसक उनके सम्‍मान में खड़े हो गए थे। सचिन खुद भी भावुक नजर आए और अपने बल्‍ले को बड़े आत्‍मविश्‍वास से देखने लगे। मानो, वे बल्‍ले से कह रहे हों कि तुम ही सच्‍चे साथी हो। हालांकि, सचिन को यह कीर्तिमान स्‍थापित करने के लिए लंबा इंतजार करना पड़ा था।

 

34 पारियों बाद खत्‍म हुआ इंतजार

 

 

12 मार्च 2011 को विश्व कप के दौरान साउथ अफ्रीका के खिलाफ सचिन का 99वां शतक बना था। इसके बाद सचिन एक साल चार दिन तक 99 के आंकड़े पर रहे। इस दौरान उन्होंने इंग्लैंड, वेस्टइंडीज और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज खेली। इसके अलावा ऑस्ट्रेलिया में त्रिकोणीय सीरीज में भी सचिन खेले, लेकिन 100 शतकों तक नहीं पहुंच पाए। वे कई मौकों पर इसके नजदीक आए। इस दौरान उन्होंने 34 पारियां खेलीं, लेकिन इंतजार खत्म हुआ मशरफे मुर्तुजा की गेंद पर। यह बांग्लादेश के खिलाफ उनका पहला वनडे शतक था। इसके साथ ही उन्होंने हर पूर्ण सदस्य टीम के खिलाफ वनडे और टेस्ट सेंचुरी लगाने का रिकॉर्ड भी पूरा किया।

 

138वीं गेंद पर निकले शॉट ने बना दिया ‘शतकवीर’

 

 

यह कारनामा करने वाले दिन बांग्‍लादेश के खिलाफ सचिन की पारी की शुरुआत सधी हुई थी। शतक के करीब पहुंचते-पहुंचते उनकी बल्लेबाजी की रफ्तार और धीमी होती गई। आखिर 138वीं गेंद पर उनके बल्ले से वह शॉट निकला, जिसने उन्हें ‘शतकवीर’ बना दिया। हालांकि, इस मैच में भारत को हार का सामना करना पड़ा था। भारत ने 50 ओवरों में 289 रन बनाए थे, लेकिन बांग्लादेश ने 4 गेंद बाकी रहते 293 रन बनाकर मैच जीत लिया था। क्रिकेट के भगवान ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 34,347 रन बनाए हैं। वनडे में उनके नाम 18,426 और टेस्ट में 15,921 रन हैं। टेस्ट में सचिन ने 51 और वनडे में 49 शतक लगाए हैं। सचिन के 100 शतकों के रिकॉर्ड के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में रिकी पोंटिंग (71), कुमार संगकारा (63), जैक कैलिस (62) और विराट कोहली (56) हैं…Next

 

Read More:

5 धाकड़ क्रिकेटर, जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट से अचानक संन्यास लेकर चौंकाया

PF अकाउंट बैलेंस जानना चाहते हैं आप, तो घर बैठे ऐसे करें पता

रेलवे हुआ यात्रियों की हरकत से परेशान, अब ट्रेन में नहीं मिलेगी ये सुविधा!

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग