blogid : 7002 postid : 1393510

बांग्लादेश ही नहीं, कभी आतंकी हमले से यह क्रिकेट टीम भी निकली थी बचकर, करने पड़े थे सारे मैच रद्द

Posted On: 18 Mar, 2019 Sports में

Shilpi Singh

क्रिकेट की दुनियाक्रिकेट की हर हलचल पर गहरी नजर के साथ उसके विविध पक्षों को उकेरता ब्लॉग

Cricket

1175 Posts

126 Comments

न्यूजीलैंड और बांग्लादेश के बीच खेला जाने वाला सीरीज का तीसरा टेस्ट शुक्रवार को क्राइस्टचर्च मस्जिद शूटिंग की घटना के बाद कैंसिल किए जाने का फैसला लिया गया। घटना के वक्त बांग्लादेशी टीम अल नूर मस्जिद में मौजूद थी और वहां से जान बचाकर निकली। ऐसे में फिलहाल न्यूजीलैंड में माहौल बेहद गर्म है और वहां पर सुरक्षा भी बढ़ा दी गई। पूरा देश इस वक्त न्यूजीलैंड के साथ खड़ा है सुरक्षा के मद्देनजर फलिहाल न्यूजीलैंड और बांग्लादेश के सारे मैच रद्द कर दिए गए हैं। हालांकि ये पहली बार नहीं है की इस तरह के हमले के बाद मैचों पर प्रभाव पड़ा है। इसके पहले भी इस तरह की घटनाओं की वजह से क्रिकेट पर प्रभाव पड़ा है।

 

 

न्यूजीलैंड और बांग्लादशे के सारे मैच कैंसिल

न्यूजीलैंड में हुई इस घटना में लगभघ 50 आम लोगों की मौत हो गई है। ऐसे में जाहरि है की इस वक्त वहां के माहौल थोड़ा तनाव पूर्व है। इस घटना के बाद न्यूजीलैंड क्रिकेट ने ट्विटर पर इस मैच को कैंसिल किए जाने की घोषणा की। उन्होंने लिखा, ‘मैच को ना खेलने का फैसला बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड के साथ मिलकर लिया गया है’। यह पहली घटना नहीं जिसने किसी क्रिकेट मुकाबले पर अपना असर छोड़ा है। इससे पहले भी इस तरह की घटना की वजह से मैच या दौरे को कैंसिल करना पड़ा है।

 

 

आतंकी हमले में बाल बाल बची बांग्लादेश क्रिकेट टीम

न्यूजीलैंड में मस्जिद पर हुए आतंकी हमले में बाल बाल बची बांग्लादेश क्रिकेट टीम स्वदेश लौटी आई और खिलाड़ियों ने कहा कि उन्हें सामान्य होने में अभी समय लगेगा। बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड के अध्यक्ष नजमुल हसन ने कहा है कि खिलाड़ियों का अनुभव इतना भयावह रहा कि उन्हें क्रिकेट से ब्रेक की जरूरत है। बांग्लादेश के एक अखबार से नजमुल ने कहा, ‘खिलाड़ियों को अपने परिवार के साथ समय बिताने और उस दिन को याद नहीं करने के लिये कहा है।’

 

 

खिलाड़ियों को सामान्य होने में समय लगेगा

बांग्लादेश के सीनियर बल्लेबाज तामीम इकबाल ने कहा कि खिलाड़ियों को सामान्य होने में समय लगेगा। उन्होंने कहा, ‘हमने जो कुछ यहां देखा है, उससे उबरने में समय लगेगा। यह अच्छी बात है कि हम परिवार के पास लौट आये हैं क्योंकि हर कोई चिंतित है। उम्मीद है कि जल्दी ही हम इसे भूल जायेंगे।’

 

 

श्रीलंका क्रिकेट टीम पर हुआ पाक में हमला

साल 2009 में श्रीलंका क्रिकेट टीम पाकिस्तान के गद्दाफी स्‍टेडियम में प्रैक्टिस के लिए जा रही थी तभी आतंकियों ने बस पर फायरिंग करनी शुरू की। इस घटना में कुमार संगकारा, अजंता मेंडिस, तिलन समरवीरा, तरंगा परानविताना, सुरंगा लकमल और तिलन तुषारा घायल हो गए। श्रीलंका बोर्ड ने घटना के बाद दौरा रद्द करने की घोषणा कर दी। इसके बाद से बेहद कम मैच पाकिस्तान में कराए जा सके हैं।

 

 

इफलें ग्रेनेड और राकेट लांचर से हुआ था हमला

श्रीलंका पर हमला एक दर्जन नकाबपोश आतंकवादियों ने किया था, जिनके पास राइफलें ग्रेनेड और राकेट लांचर थे। आतंकवादियों ने श्रीलंकाई खिलाड़ियों को ले जा रही लग्जरी बस को उस समय निशाना बनाया जब क्रिकेटर पाकिस्तान के खिलाफ दूसरे और अंतिम क्रिकेट टेस्ट के तीसरे दिन के खेल के लिए गद्दाफी स्टेडियम जा रहे थे। म्यूनिख ओलिंपिक 1972 के बाद खेलों पर हुए दूसरे सबसे बड़े हमले के बाद श्रीलंका ने दौरा रद्द कर दिया। गौरतलब है कि श्रीलंका ने भारत के स्थान पर पाकिस्तान दौरा किया था, जिसने मुंबई आतंकी हमले के बाद वहाँ जाने से इनकार कर दिया था।

 

 

ऑस्ट्रेलिया ने दौरा रद्द कर दिया था

मार्च 2008 में पाकिस्तान में हुए आत्मघाती बम विस्फोट की वजह से ऑस्ट्रेलिया ने दौरा रद्द कर दिया था। इसके ठीक बाद अगस्त में आईसीसी ने सुरक्षा कारणों से चैंपियंस ट्रॉफी के आयोजन को एक साल के लिए टाल दिया था। पाकिस्तान टूर्नामेंट का सह आयोजक था, पाकिस्तान में हुए धमाको के बाद से कई सारे देशों ने वहां पर मैच खेलने से इंकार कर दिया और कई सालों तक वहां पर कोई अंतरराष्ट्रीय मैच नहीं हुए।…Next

 

Read More:

दूसरे T20 में सीरीज बचाने उतरेगा भारत, मुकाबले के लिए टीम इंडिया में हो सकते है बड़े बदलाव

World Cup 2019: इन भारतीय क्रिकेटर्स का हो सकता है यह आखिरी विश्व कप

साउथ अफ्रीका के 26 वर्षीय तेज गेंदबाज ने लिया संन्यास, इंग्लिश काउंटी की तरफ दिखा

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग