blogid : 7002 postid : 1392572

2018 में अपने देश ही नहीं विदेश में भी टीम इंडिया ने लहराया है परचम, ऐसा रहा सफर

Posted On: 31 Dec, 2018 Sports में

Shilpi Singh

क्रिकेट की दुनियाक्रिकेट की हर हलचल पर गहरी नजर के साथ उसके विविध पक्षों को उकेरता ब्लॉग

Cricket

1170 Posts

126 Comments

भारतीय क्रिकेट टीम ने इस वर्ष कई उपलब्धियां हासिल की। टीम इंडिया ने एक ओर जहां दक्षिण अफ्रीका में 26 साल बाद द्विपक्षीय वनडे सीरीज जीतकर इतिहास रच दिया वहीं एशिया कप में अजेय रहते हुए रिकॉर्ड 7वीं बार चैंपियन बनने का गौरव हासिल किया। वर्ष 2018 अब अलविदा कहने की दहलीज पर है। ऐसे में आइए टीम इंडिया के इस साल भर के प्रदर्शन पर डालते हैं नजर।

 

 

भारत का दक्षिण अफ्रीका दौरा

भारतीय टीम ने 2018 की शुरुआत जनवरी में दक्षिण अफ्रीका के दौरे से की थी। टीम इंडिया ने दक्षिण अफ्रीका में तीन मैचों की टेस्‍ट सीरीज खेली जहां उसे 1-2 से सीरीज गंवानी पड़ी। केपटाउन में खेले गए पहले टेस्‍ट मैच में मेजबान टीम ने 72 रन से जीत दर्ज की जबकि सेंचुरियन में खेला गया दूसरा टेस्‍ट मैच 135 रन से जीतकर दक्षिण अफ्रीका ने सीरीज पर कब्‍जा कर लिया। सीरीज का तीसरा टेस्‍ट मैच भारत के नाम रहा। भारत ने जोहांसबर्ग में 63 रन से जीत दर्ज की। टेस्‍ट सीरीज हारने के बाद विराट ब्रिगेड ने जबरदस्‍त वापसी करते हुए 6 मैचों की वनडे सीरीज 5-1 से जीतकर इतिहास रच दिया। भारत ने 26 साल बाद दक्षिण अफ्रीका में कोई द्विपक्षीय वनडे सीरीज जीतने में सफलता पाई। टीम इंडिया ने इसके बाद तीन मैचों की टी-20 सीरीज भी 2-1 से अपने नाम दक्षिण अफ्रीका का दौरा जीत से खत्‍म किया।

 

 

रोहित की कप्‍तानी में जीती निदहास टी-20 ट्रॉफी

इस वर्ष रोहित शर्मा की कप्‍तानी में भारतीय टीम ने निदहास टी-20 ट्राई सीरीज अपने नाम की। इस सीरीज में टीम के नियमित कप्‍तान विराट कोहली को आराम दिया गया था। ये टूर्नामेंट में श्रीलंका में आयोजित किया था जिसमें भारत के अलावा मेजबान श्रीलंका और तीसरी टीम बांग्‍लादेश की थी।

 

 

इंग्‍लैंड दौरे पर छाए रहे कोहली

इस वर्ष जून ने भारत ने आयरलैंड का दौरा किया था। इस दौरे पर उसने दो टी-20 मैच खेले और दोनों ही जीते। इसके बाद टीम इंडिया जुलाई में इंग्‍लैंड का दौरा किया जहां उसने सीरीज की शुरुआत टी-20 से की। भारत ने टी-20 सीरीज में इंग्‍लैंड को 2-1 से हराया जबकि वनडे सीरीज में मेजबान टीम ने भारत को 2-1 से पटखनी दी। टेस्‍ट सीरीज में भारतीय टीम को 1-4 से हार मिली। कोहली ने पांच मैचों की सीरीज में 593 रन बनाए जिसमें दो शतक और तीन अर्धशतक शामिल थे। गेंदबाजी में टेस्‍ट सीरीज में इशांत शर्मा ने 18 जबकि बुमराह ने तीन मैचों में 14 विकेट लिए।

 

 

रिकॉर्ड 7वीं बार टीम इंडिया के सिर सजा एशिया का ताज

भारतीय टीम ने सितंबर में संयुक्‍त अरब अमीरात (यूएई) का दौरा किया था। यूएई में भारत ने अजेय रहते हुए फाइनल में बांग्‍लादेश को 3 विकेट से हराकर रिकॉर्ड 7वीं बार एशिया कप खिताब अपने नाम किया। इस टूर्नामेंट में भी टीम के नियमित कप्‍तान विराट कोहली को आराम दिया गया था। कोहली की जगह रोहित शर्मा टीम की कप्‍तानी कर रहे थे।

 

 

भारत ने विंडीज को रौंदा

भारतीय टीम ने अक्‍टूबर में अपनी घरेलू सरजमीं पर मेहमान वेस्‍टइंडीज को दो मैचों की टेस्‍ट सीरीज, 5 मैचों की वनडे और 3 मैचों की टी-20 सीरीज में रौंद दिया। टी इंडिया ने टेस्‍ट सीरीज 2-0 से जबकि वनडे सीरीज 3-1 से अपने नाम की। वहीं वनडे सीरीज में भारत ने 3-0 से विंडीज को रौंदा।…Next

 

Read More:

इस साल कोहली की कप्तानी में तीन देशों में जीत, 15 साल बाद एडिलेड में मिली जीत खास

ऑस्ट्रेलिया के पर्थ स्टेडियम में भारत के लिए खराब रहा है रिकॉर्ड, नसीब हुई सिर्फ एक बार जीत

पहला टेस्ट जीतने के बाद 14 में से सिर्फ एक सीरीज हारी है टीम इंडिया, बना सकती है ये रिकॉर्ड

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग