blogid : 3736 postid : 3

क्रिकेट विश्व कप का रोचक सफरनामा [Cricket World Cup]

Posted On: 1 Dec, 2010 Others में

वर्ल्ड कप क्रिकेट 2011Just another weblog

cricketworldcup2011

78 Posts

18 Comments

2011 Cricket World Cupक्रिकेट का महाकुंभ यानी क्रिकेट विश्व कप (Cricket World Cup) जिसे हम आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप भी कहते हैं, के शुरू होने में तीन महीनों से भी कम समय बचा है. 2011 के फरवरी माह में शुरू होने वाला क्रिकेट विश्व कप इस बार भारतीय उपमहाद्वीप में आयोजित होगा. भारत, बांग्लादेश और श्रीलंका इस बार के क्रिकेट विश्व कप की मेजबानी करेंगे.

क्रिकेट विश्व कप (Cricket World Cup) पुरुषों की एकदिवसीय क्रिकेट की प्रमुख अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता है जिसका आयोजन आईसीसी (अंतराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद) के द्वारा हर चार साल के बाद होता है. विश्व में क्रिकेट की बढ़ती हुई ख्याति के साथ-साथ विश्व कप क्रिकेट में भाग लेने वाली टीमों की संख्या में भी वृद्धि हुई है. पहले जहां केवल टेस्ट खेलने वाले देश ही इसमें भाग लेते थे वहीं अब विश्व कप क्रिकेट में भाग लेने वाली टीमों की संख्या बढ़ गई है. टेस्ट टीमों के अलावा अन्य टीमों का चयन प्रारंभिक क्वालीफाइंग राउंड के द्वारा किया जाता है. दुनियां में क्रिकेट विश्व कप (Cricket World Cup) चौथे नंबर की सबसे बड़ी खेल प्रतियोगिता है जिसे पूरा विश्व देखता है.

क्रिकेट का इतिहास

Test Matchपहला क्रिकेट मैच 24 और 25 सितम्बर 1844 को अमेरिका और कनाडा के बीच खेला गया था लेकिन पहला अधिकारिक क्रिकेट मैच 1877 को ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के मध्य खेला गया. तब से लेकर 1889 तक इन दोनों टीमों के मध्य हर दूसरे वर्ष ‘एशेज़’ नाम से क्रिकेट प्रतियोगिता आयोजित होने लगी. 1899 में दक्षिण अफ्रीका को टेस्ट क्रिकेट खेलने का दर्ज़ा मिलने के बाद तीनो देशों के मध्य क्रिकेट प्रतियोगिताएं होने लगीं. 1990 के पेरिस ओलंपिक खेलों में भी क्रिकेट को शामिल किया गया जहां फाइनल मुकाबले में ग्रेट ब्रिटेन ने फ्रांस को हरा स्वर्ण पदक जीता था. 1990 के पेरिस ओलंपिक में क्रिकेट पहली और आखिरी बार शामिल किया गया था.

समय के साथ-साथ टेस्ट खेलने वाले देशों की संख्या में वृद्धि होने लगी. 1928 में वेस्टइंडीज, 1930 में भारत, 1932 में पाकिस्तान और 1952 में न्यूज़ीलैण्ड को टेस्ट मैच खेलने का दर्ज़ा मिला. लेकिन इसके बावज़ूद केवल द्विपक्षीय टेस्ट क्रिकेट सिरीज़ ही आयोजित किए जाते थे.

1960 में इंग्लैंड की काउंटी क्रिकेट की टीमों के मध्य टेस्ट क्रिकेट का संक्षिप्त संस्करण शुरू किया गया जो केवल एक दिन के लिए खेला जाता था. इसी संस्करण को लेकर चार इंग्लिश काउंटी टीमों को लेकर एक प्रतियोगिता भी आयोजित की गई. देखते ही देखते लोगों ने क्रिकेट के इस संस्करण को बहुत पसंद किया. चूंकि क्रिकेट का यह संक्षिप्त संस्करण केवल एक दिन का था अतः इसका नाम एकदिवसीय क्रिकेट रखा गया.

विश्व कप क्रिकेट का इतिहास

आईसीसी को क्रिकेट विश्व (ICC Cricket World Cup) कप की प्रेरणा इंग्लैंड और दूसरे देशों में घरेलू एकदिवसीय क्रिकेट प्रतियोगिताओं की लोकप्रियता से मिली जहां लोगों ने इसे खूब पसंद किया.

प्रूडेंशियल कप

1975 से लेकर 1983 तक तीनों विश्व कप इंग्लैंड में आयोजित किए गए. इन विश्व कपों को हम प्रूडेंशियल विश्व कप के नाम से भी जानते हैं.

1975 विश्व कप

cricket-world-cup-1975_thumb[1]क्रिकेट का पहला विश्व कप 1975 को इंग्लैंड में आयोजित किया गया जो 7 जून को आरम्भ हुआ. इस विश्व कप में प्रत्येक टीम को 6-6 गेंद के 60 ओवर फेंकने थे. यह प्रतियोगिता पारंपरिक क्रिकेट की पोशाक (सफ़ेद) पहनकर खेली गयी, जिसमें लाल रंग की क्रिकेट गेंद का प्रयोग किया गया.

पहले विश्व कप में आठ टीमों ने भाग लिया (ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, वेस्टइंडीज, न्यूज़ीलैण्ड, भारत, पाकिस्तान, श्रीलंका और पूर्वी अफ्रीका). फाइनल मुकाबला इंग्लैंड के लॉर्ड्स स्टेडियम में खेला गया, जिसमें वेस्टइंडीज ने ऑस्ट्रेलिया को 17 रन से हरा पहले विश्व कप पर कब्ज़ा किया.

1979 दूसरा विश्व कप

दूसरा विश्व (Second Cricket World Cup) कप भी इंग्लैंड में आयोजित किया गया. इस विश्व कप में पहली बार गैर टेस्ट क्रिकेट खेलने वाली टीमों को विश्व कप में भाग लेने के लिए क्वालीफाई करना पड़ा. पिछले विश्व कप की तरह 1979 के विश्व कप का फाइनल भी लॉर्ड्स में खेला गया, जिसमें वेस्टइंडीज ने मेजबान इंग्लैंड को 92 रन से हरा दूसरी बार ख़िताब पर कब्ज़ा किया.

1983 तीसरा विश्व कप

Cricket World Cup 1983प्रूडेंशियल कप के नाम से होने वाला यह तीसरा और अंतिम क्रिकेट विश्व कप था जो एक बार फिर इंग्लैंड में आयोजित किया गया.

इसी विश्व कप में पहली बार 30 यार्ड सर्किल का प्रयोग किया गया. जिसके तहत इस घेरे के अंदर हर समय कम से कम चार क्षेत्ररक्षक खिलाड़ी होने चाहिए. यह विश्व कप भारत के लिए एक यादगार लम्हा लेकर आया जब हमने पहली और अब तक आखिरी बार विश्व कप जीता. लॉर्ड्स में खेले गए फाइनल मुकाबले में हमने दो बार के क्रिकेट विश्व कप (World Cup Cricket) विजेता वेस्टइंडीज को 43 रन से हराया.

1987 से 1996 तक जितने भी विश्व कप आयोजित हुए वह रिलायंस विश्व कप के नाम से जाने जाते हैं क्योंकि इन सभी विश्व कपों का प्रायोजक रिलायंस ग्रुप था.

1987 तीसरा विश्व कप

1987 का विश्व कप पहली बार इंग्लैंड से बाहर आयोजित किया गया. 1987 के विश्व कप की मेजबान भारत और पाकिस्तान ने संयुक्त रूप से की. इस विश्व कप में पहली बार कुल ओवरों की संख्या 60 से घटाकर 50 कर दी गयी. इंग्लैंड के मुकाबले भारत और पाकिस्तान के छोटे दिनों के कारण यह किया गया.

1987 के विश्व कप का फाइनल कोलकाता के ईडन गार्डन में खेला गया. फाइनल मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड को 7 रनों से हराकर ख़िताब जीता.

1992 चौथा विश्व कप

Cricket World Cup 19921992 का विश्व कप ऑस्ट्रलिया और न्यूज़ीलैण्ड में आयोजित किया गया. 1992 के विश्व कप में कई परिवर्तन देखने को मिले. चूंकि 1992 के विश्व कप दिन-रात्रि प्रारूप में खेले गए अतः इसी विश्व कप (Cricket World Cup) में पहली बार रंगबिरंगी पोशाकों और सफ़ेद गेंद का प्रयोग भी किया गया. इसके अलावा इसी विश्व कप में फील्डिंग रिस्ट्रिक्शन का प्रयोग भी पहली बार किया गया.

1992 के विश्व कप में दक्षिण अफ्रीका ने भी प्रतिबंध हटने के बाद भाग लिया. यह विश्व कप पाकिस्तान ने इंग्लैंड को 22 रनों से हरा कर जीता.

1996 पांचवां विश्व कप

1996 का विश्व कप दूसरी बार भारतीय उपमहाद्वीप में आयोजित किया गया, जिसका आयोजन भारत, पाकिस्तान और श्रीलंका ने संयुक्त रूप से किया. फाइनल मुकाबला लाहौर के गद्दाफ़ी स्टेडियम में खेला गया गया. जहां श्रीलंका ने ऑस्ट्रेलिया को 7 विकेट से हराया.

1999 छठां विश्व कप

Cricket World Cup 1999यह चौथी बार था कि क्रिकेट विश्व कप इंग्लैंड में आयोजित किया गया. 1999 के विश्व कप (1999 ICC Cricket World Cup) के कुछ मैच स्कॉटलैंड, आयरलैंड, वेल्स और नीदरलैंड्स में भी आयोजित किए गए. यह वही विश्व कप था जिसमें ऑस्ट्रलिया और दक्षिण अफ्रीका के बीच सेमीफाइनल मुकाबला ड्रा रहा लेकिन बेहतर रनगति के कारण ऑस्ट्रेलिया ने फाइनल के लिए क्वालीफाई कर दूसरी बार विश्व कप पर कब्ज़ा किया.

2003 सातवां विश्व कप

तीन उपमहाद्वीप के सफ़र के बाद 2003 का विश्व कप पहली बार अफ्रीका पहुंचा. दक्षिण अफ्रीका, केन्या और ज़िम्बाब्वे ने 2003 के विश्व कप की मेजबानी की. 2003 के विश्व कप में भारत और ऑस्ट्रलिया ने दूसरों के मुकाबले दमदार प्रदर्शन करते हुए फाइनल में प्रवेश किया. लेकिन फाइनल मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया के सामने भारत की एक न चली और ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 125 रन से हरा क्रिकेट विश्व कप (World Cup) जीतने की तिगड़ी बनाई.

2007 आठवां विश्व कप

Cricket World Cup 2007छोटे-छोटे देशों की द्वीपमाला वेस्टइंडीज था आठवें विश्व का आयोजन स्थल. यह विश्व कप खेल के साथ-साथ पाकिस्तानी कोच बॉब वूल्मर की दिल का दौरा पड़ने से अकस्मात मौत के लिए भी जाना जाएगा. विश्व कप में भारत और पाकिस्तान ने खराब प्रदर्शन किया और दूसरे दौर में भी जगह नहीं बना पाए. जबकि दूसरे एशियाई टीम बंगलादेश ने पहली बार दूसरे राउंड में जगह बनाया. फाइनल मुकाबले में 1996 के विश्व कप (World Cup Cricket) की तरह ऑस्ट्रेलिया और श्रीलंका एक बार फिर आमने-सामने थे. परन्तु इस बार वार ऑस्ट्रेलिया का चला और फाइनल मुकाबले में उसने श्रीलंका को 53 रन से हरा चौथी बार ख़िताब पर कब्ज़ा किया.

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (6 votes, average: 4.50 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग