blogid : 3736 postid : 305

किसका पलड़ा भारी

Posted On: 8 Mar, 2011 Others में

वर्ल्ड कप क्रिकेट 2011Just another weblog

cricketworldcup2011

78 Posts

18 Comments

क्रिकेट वर्ल्ड कप 2011 में आज ग्रुप ए में दो दिग्गज पाकिस्तान और न्यूज़ीलैण्ड आमने-सामने होंगे. जहां पाकिस्तान ने अभी तक वर्ल्ड कप में सबसे अच्छा प्रदर्शन कर अपने सभी मैच जीते हैं वहीं न्यूज़ीलैण्ड ने ज़िम्बाब्वे और केन्या के खिलाफ़ बहुत अच्छा प्रदर्शन किया लेकिन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ़ वह कुछ खास न कर पाए.

वीडियो में देखें इस मैच से पहले किसका पलड़ा भारी
[flv]http://cdn.marcellus.tv/2962/flv/9461054210382011104217.flv[/flv]
आंकड़े

इस मैच से पहले पाकिस्तान और न्यूज़ीलैण्ड ने वर्ल्ड कप में एक-दूसरे के खिलाफ़ 7 मैच खेले हैं, जिनमें से पाकिस्तान ने 6 मैच जीते वहीं न्यूज़ीलैण्ड के हाथ केवल 1 जीत लगी है. वर्ल्ड कप शुरू होने से पहले पाकिस्तान ने न्यूज़ीलैण्ड का दौरा किया था जहां पाकिस्तान ने टेस्ट और एकदिवसीय दोनों सीरीज जीती थी.

आंकड़ों के हिसाब से पलड़ा पाकिस्तान का भारी है. यही नहीं यह मैच श्रीलंका के पल्लेकेल्ले स्टेडियम में खेला जाएगा जहां की पिच धीमी है और जहां फ़िरकी गेंदबाजों को मदद मिलती है. दोनों टीमों के पास अच्छे फ़िरकी गेंदबाज़ हैं लेकिन पाकिस्तानी बल्लेबाज़ न्यूज़ीलैण्ड के बल्लेबाजों के मुकाबले फ़िरकी गेंदबाज़ी खेलने में ज़्यादा सक्षम हैं. इस लिहाज से परिस्थितियां पाकिस्तान के साथ भी हैं.

कहां आगे कहां पीछे

अब तक वर्ल्ड कप में पाकिस्तान की तरफ़ से उनके कप्तान शाहिद अफरीदी उनकी सबसे मजबूत कड़ी रहे हैं. उन्होंने अभी तक वर्ल्ड कप में सर्वाधिक 14 विकेट लिए हैं और पाकिस्तान को तीनों मैच जिताए हैं. बल्लेबाज़ी में मिसबाह उल हक का प्रदर्शन सबसे अच्छा रहा है. लेकिन जिस तरफ़ से उनके बल्लेबाजों ने कनाडा के खिलाफ़ प्रदर्शन किया था उससे टीम में अनुभव की कमी साफ़ झलकती है. ऐसे में टीम के दूसरे खिलाड़ियों को कप्तान शाहिद अफरीदी के कंधों से बोझ उतारना होगा.


न्यूज़ीलैण्ड की तरफ़ से मार्टिन गप्टिल और ब्रेंडन मैकेलम का प्रदर्शन सबसे अच्छा रहा है. परन्तु गेंदबाज़ी में उतार-चढ़ाव दिखा है. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ़ मैच के बाद न्यूज़ीलैण्ड के कप्तान विटोरी गेंदबाजों के प्रदर्शन से काफ़ी चिंतित दिखे.

वर्ल्ड कप में अभी तक बहुत से उलटफेर देखने को मिले हैं. इस मैच से पूर्व पलड़ा पाकिस्तान का भारी है, लेकिन न्यूज़ीलैण्ड को कम नहीं आंका जा सकता. जहां पाकिस्तान की सबसे बड़ी कमज़ोरी उनके खिलाड़ियों का जुझारूपन है वहीं भले न्यूज़ीलैण्ड के पास बड़े-बड़े नाम नहीं हों लेकिन उनके खिलाड़ी एक टीम की तरह खेलते हैं.

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग