blogid : 7831 postid : 106

अरमान

Posted On: 18 Feb, 2012 Others में

मुझे याद आते हैJust another weblog

D33P

48 Posts

1061 Comments

मेरे दिल में अरमान न थे तुम प्यार बनकर आ गए

आँखों में केवल पानी था तुम खवाब बनकर आ गए

चले जा रहे थे सूनी राहो ओ अजनबी

तुम हमराह बनकर आ गए

दुनिया की इस भीड़ में तन्हा थे हम ,

मेरी तन्हाई में तुम मेरी दुनिया बनकर आ गए

कभी रात की अँधेरी कालिमा में खोजते थे

तारो के बीच तुम चाँद बनकर आ गए

कोई अपना भी होगा यहाँ नहीं तो   वहां होगा

और अजनबी तुम अपने बनकर आ गए

मेरे दिल में अरमान न थे तुम प्यार बनकर आ गए

तुम्हारे प्यार में ,हर ख,वाब सिंदूरी हो गया

जो जीवन मेरा न हुआ वो तुम्हारा हो गया

गुनगुनाया है हर मंजर तुम्हारे  करीब आने से

वो अपने हो गए ,जो लगते थे कभी बेगाने से

सब दूरियां मिटाकर करीब आ गए

मेरे दिल में अरमान न थे तुम प्यार बनकर आ गए91-352448

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (4 votes, average: 3.50 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग