blogid : 7831 postid : 352

दिल्ली की दिल्लगी

Posted On: 22 Dec, 2012 Others में

मुझे याद आते हैJust another weblog

D33P

48 Posts

1061 Comments

1047_india-gate-new-delhiकभी दिल्ली को दिल वालो की  कहने वालो का सर फक्र से ऊँचा होता था और वो खुद का दिल्लीवासी होने मे गर्व महसूस करता था पर आज हालत बिलकुल इसके विपरीत है ,दिल्ली वालो को खुद को दिल्ली वासी कहने में शर्म आने लगी है ….इन सबके पीछे क्या कारण है ? आज दिल्ली दिल्लगी हो गई है जैसे कोई शरीफ  और इज्ज़तदार लड़की किसी रेड अलर्ट  क्षेत्र में से गुजरने भर  से खौफ  खाती है !वही हाल आज दिल्ली की सडको का है !लड़की घर से बाहर  निकलने में और अभिभावक बाहर भेजने से डरने लग गए है !कोई लड़की दिल्ली की सडको पर पिता भाई मित्र पति के साथ भी खुद को सुरक्षित महसूस नहीं कर पा  रही …तो  क्या लड़की की शिक्षा और नौकरी आदि छुडवाकर घर में  बिठा दिया जाये !

gauraiyaa delhi

क्यों आखिर दिल्ली के पुरुष रेपिस्ट कहलाये जाने लगे है ?
कुछ समय  पहले जब एक इज्ज़तदार लड़की की अस्मत पर गुंडों ने हाथ डाला तो उस लड़की ने सवाल किया क्या दिल्ली में कोठे बंद हो गए है जो आज सरेराह  लडकियों की इज्ज़त पर हाथ डाला जा रहा है !
ससंद में आये दिन अपने वेतन भत्तो के लिए संसद कुत्तो की तरह लड़ते नज़र आ जायेंगे लेकिन देश की, शहर की व्यवस्था पर चर्चा हो तो सब  चुप्प !आज जब इंडिया गेट पर दिल्ली गेंगरेप के विरोध पर प्रदर्शन और रैली निकली गई तो पत्रकार प्रदर्शन कारियों से  बार बार एक ही सवाल करता नज़र आया कि आप क्या चाहते हो ?  कितना बेमानी सवाल है !!

smiling-slum-girl-by-meanest-indian

जब पूरी सत्ता दिल्ली  में है ! दिल्ली में जहा एक महिला  मुख्यमंत्री है ,देश की कमान की डोर एक महिला ने संभाल रखी है वही महिलाएं सुरक्षित नहीं है और फिर उनकी नाक के नीचे शहर का ये हाल …इससे ज्यादा शर्म की क्या बात होगी ? मुंबई जैसे महानगर में भी मध्य रात्रि लोकल ट्रेन तक में  नौकरी से घर लौटी महिलाएं खुद को असुरक्षित  महसूस नहीं  करती है !
आज पूरे देश के हालत पर गौर किया जाये तो दिल्ली सबसे असुरक्षित जगह  है ! हर तरह के जुर्म में आगे दिल्ली !सभी यही पूछ रहे है की आखिर दिल्ली पुलिस को हुआ क्या है !पुलिस बल मंत्रियो और नेताओ के जूते साफ़ करते नज़र आयेंगे !उनके घर की दीवारों की सुरक्षा में तैनात नज़र आयेंगे पर सड़क और शहर व्यवस्था का SWAL  हो तो उसके   लिए पुलिस सुरक्षा दल की कमी का बखान करते नज़र आयेंगे !दिल्ली पुलिस की कार्यशैली पर हो रही रोज़ की  घटनाओं ने लाखों सवाल खड़े कर दिए है !आखिर आम आदमी अपनी परेशानियों की गुहार किससे लगाये ?हर  घटना के बाद आम जनता के आक्रोश शांत करने की जल्दबाजी में गृह मंत्रालय को सभी आवश्यक कदम उठाने के निर्देश दे दिए जाते है ….समय के साथ न वो कदम  उठते है न बढते है .और कुछ समय बाद एक और घटना अपने अंजाम को पहुँचती है !
दिल्ली की रोज़ की घटनाओ ने देश को मजाक बना कर रख दिया है

जब पूरी सत्ता दिल्ली  में है ! दिल्ली में जहा एक महिला  मुख्यमंत्री है ,देश की कमान की डोर एक महिला ने संभाल रखी है वही महिलाएं सुरक्षित नहीं है और फिर उनकी नाक के नीचे शहर का ये हाल …इससे ज्यादा शर्म की क्या बात होगी ? मुंबई जैसे महानगर में भी मध्य रात्रि लोकल ट्रेन तक में  नौकरी से घर लौटी महिलाएं खुद को असुरक्षित  महसूस नहीं  करती है !

आज पूरे देश के हालत पर गौर किया जाये तो दिल्ली सबसे असुरक्षित जगह  है ! हर तरह के जुर्म में आगे दिल्ली !सभी यही पूछ रहे है की आखिर दिल्ली पुलिस को हुआ क्या है !पुलिस बल मंत्रियो और नेताओ के जूते साफ़ करते नज़र आयेंगे !उनके घर की दीवारों की सुरक्षा में तैनात नज़र आयेंगे पर सड़क और शहर व्यवस्था का SWAL  हो तो उसके   लिए पुलिस सुरक्षा दल की कमी का बखान करते नज़र आयेंगे !दिल्ली पुलिस की कार्यशैली पर हो रही रोज़ की  घटनाओं ने लाखों सवाल खड़े कर दिए है !आखिर आम आदमी अपनी परेशानियों की गुहार किससे लगाये ?हर  घटना के बाद आम जनता के आक्रोश शांत करने की जल्दबाजी में गृह मंत्रालय को सभी आवश्यक कदम उठाने के निर्देश दे दिए जाते है ….समय के साथ न वो कदम  उठते है न बढते है .और कुछ समय बाद एक और घटना अपने अंजाम को पहुँचती है !

दिल्ली की रोज़ की घटनाओ ने देश को मजाक बना कर रख दिया है!

19_12_2012-19cnt17

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (25 votes, average: 4.80 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग