blogid : 3738 postid : 2521

अभिनय नहीं बोल्डनेस से बनाई पहचान – पूजा बेदी

Posted On: 11 May, 2012 Others में

Special Daysव्रत-त्यौहार, सितारों के जन्म दिन, राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय महत्व के घोषित दिनों पर आधारित ब्लॉग

महत्वपूर्ण दिवस

1021 Posts

2135 Comments

अपनी बोल्ड अदाओं से दर्शकों को आकर्षित करने वाली पूजा बेदी का फिल्मी कॅरियर भले ही बहुत लंबा नहीं रहा लेकिन काफी कम समय में उन्होंने बॉलिवुड प्रशंसकों के दिलों पर अपने लिए एक खास जगह अवश्य बना ली है. अत्याधुनिक विचारधारा और वैयक्तिक स्वतंत्रता की बड़ी पक्षधर पूजा बेदी का आज जन्मदिन है.


poojaपूजा बेदी का शुरुआती जीवन

पूजा बेदी का जन्म 11 मई, 1970 को मुंबई में अभिनेता कबीर बेदी के घर हुआ था. पूजा बेदी की मां प्रतिमा गौरी एक भूतपूर्व मॉडल और ओडिशी नृत्यांगना थीं. मुंबई स्थित बेसेंट मांटेसरी से अपनी प्रारंभिक शिक्षा पूरी करने के बाद पूजा बेदी ने सनावर (हिमाचल प्रदेश) स्थित लॉरेंस स्कूल में दाखिला लिया. पूजा बेदी ने फरहान इब्राहिम नामक व्यक्ति से विवाह किया लेकिन वर्ष 2003 में उन दोनों का तलाक हो गया.


पूजा बेदी का फिल्मी कॅरियर

वर्ष 1991 से लेकर 1994 के बीच पूजा बेदी ने कई फिल्मों में काम किया. फिल्मों के अलावा पूजा बेदी ने कई विज्ञापनों में भी काम किया. कामसूत्र कंडोम के लिए किया गया विज्ञापन लोगों को काफी लंबे समय तक याद रहेगा. पूजा बेदी की पहली फिल्म 1991 में प्रदर्शित विषकन्या थी. जबकि इन्हें पहचान मिली फिल्म जो जीता वही सिकंदर से, जिसमें उनके अभिनेता आमिर खान थे. इस फिल्म में अपने सशक्त अभिनय के बल पर उन्हें फिल्मफेयर अवॉर्ड की बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस की श्रेणी के लिए नामित किया गया था.


महान रचयिता रबिंद्रनाथ टैगोर


बाद में अभिनेत्री की भूमिकाओं को अलविदा कहकर पूजा बेदी टेलीविजन पर सक्रिय होने लगीं. उन्होंने जस्ट पूजा नाम का एक टॉक शो होस्ट किया, जिसे कई पुरस्कारों से नवाजा गया. पूजा बेदी झलक दिखला जा और नच बलिए जैसे डांस शोज में भाग लेकर अपनी नृत्य प्रतिभा से भी लोगों को वाकिफ करवा चुकी हैं. इसके अलावा वह खतरों के खिलाड़ी में भी भाग ले चुकी हैं. बिग बॉस सीजन 2 के दौरान वह शो से बाहर निकलने वाले प्रतिभागियों का इंटरव्यू भी लेती थीं. वर्ष 2010 में पूजा बेदी मां एक्सचेंज में भी प्रतिभागी की तौर पर नजर आई थीं.


इन सब के अलावा पूजा बेदी काया स्किन क्लिनिक की ब्रैंड एम्बैसडर भी हैं. वह टाइम्स ऑफ इंडिया जैसे कई प्रतिष्ठित समाचार पत्रों में अपने लेख भी लिखती हैं. वर्ष 2000 में उन्होंने अपनी मां प्रतिमा गौरी द्वारा लिखे गए पत्रों और लेखों को एक किताब में संग्रहित किया.


मिस्टर  पर्फेक्शनिस्ट आमिर खान की कहानी



Read Hindi News




Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 3.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग