blogid : 3738 postid : 2809

Ganesh Chaturthi 2012: गणेश चतुर्थी

Posted On: 22 Aug, 2012 Others में

Special Daysव्रत-त्यौहार, सितारों के जन्म दिन, राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय महत्व के घोषित दिनों पर आधारित ब्लॉग

महत्वपूर्ण दिवस

1021 Posts

2135 Comments

Ganesh Chaturthi Pooja Vidhi

हिंदू धर्म में देवी-देवताओं का बहुत बड़ा स्थान होता है. यहां की धार्मिक संस्कृति में आपको कई देवी-देवता मिलेंगे. इन देवी-देवताओं में सबसे अग्रणी हैं भगवान गणेश. भगवान गणेश को हिंदू धर्म में सबसे पहले पूजे जाने वाले देवता का स्थान प्राप्त है और उनकी बाल लीलाएं भी बेहद रोचक और मनोरंजक हैं.

Read: Maha Shivratri -पर्व शिव और शक्ति के मिलन का


गणेश जी को विघ्न विनाशक और बुद्धिदाता कहा जाता है. हिन्दू धर्म में किसी भी शुभ कार्य की शुरुआत भगवान श्री गणेश का नाम लेकर ही किया जाता है. हाथी जैसा सिर होने की वजह से उनका एक नाम गजानन भी है. गणेश जी के कई नाम हैं और हर नाम से जुड़ी अलग-अलग कहानियां भी.


भगवान श्री गणेश के महत्व को दर्शाता त्यौहार गणेशोत्सव भी उनकी ही तरह प्रसिद्ध और फलकारी माना जाता है.


Ganesh Chaturthi 2012Ganesh Chaturthi in 2012

गणेशोत्सव की शुरुआत गणेश चतुर्थी से होती है. गणेश चतुर्थी हिन्दुओं का एक प्रमुख त्यौहार है. गणेश चतुर्थी से अनन्त चतुर्दशी (अनंत चौदस) तक दस दिन गणेशोत्सव मनाया जाता है. भाद्रपद शुक्ल की चतुर्थी ही गणेश चतुर्थी कहलाती है. इस साल गणेश चतुर्थी 19 सितंबर को है और गणेशोत्सव 29 सितंबर तक चलेगा.


Read: आरती श्री गणेश जी की- Ganesh ji ki Aarti


Ganesh Chaturthi Pooja Vidhi in Hindi

गणेश चुतर्थी भारत का एक अहम त्यौहार है. इस दिन पूजा करने वाले इंसान को सुबह उठकर स्नानादि से निवृत होकर सोना, तांबा, चांदी, मिट्टी या गोबर से गणेश की मूर्ति बनाकर उसकी पूजा करनी चाहिए. पूजने के समय 21 मोदकों का भोग लगाना चाहिए. इसके साथ ही हरित दूब (घास) के इक्कीस अंकुर लेकर यह दस नाम लेकर चढ़ाने चाहिये – ऊँ गताप नम:, ऊँ गोरीसुमन नम:, ऊँ अघनाशक नम:, ऊँ एक दन्ताय नम:, ऊँ ईश पुत्र नम:, ऊँ सर्वसिद्धिप्रद नम:, ऊँ विनायक नम:, ऊँ कुमार गुरु नम:, ऊँ इम्भववक्त्राय नम:, ऊँ मूषकवाहन संत नम:. इसके बाद  इक्कीस लड्डुओं में दस लड्डू ब्राह्मणों को दान देना चाहिए और ग्यारह लड्डू प्रसाद रूप में बांटे और खाने चाहिए.

Ganesh Chaturthi Vrat: गणेश चुतर्थी व्रत का फल

पुराणों में इस बात का बड़ा महत्व बताया गया है कि इस व्रत को करने से संतान प्राप्ति, दीर्घायु, मानसिक तथा शारीरिक बल की वृद्धि होती है. इस व्रत को करने से  सभी संकटों एवं बाधाओं की समाप्ति होती है.

Post your Comments on: गणेश चतुर्थी की कोई खास याद हमसे शेयर करें ?

Read: Sankashti Ganesh Chaturthi


Tag: Ganesh Chaturthi, Ganesh Chaturthi 2012, Ganesh Chaturthi in India, Ganesh Chaturthi in India 2012, Ganesh Chaturthi Pujan Vidhi, Ganesh Chaturthi

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (4 votes, average: 4.75 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग