blogid : 3738 postid : 2762

Janmashtami : हर जगह है धूम कान्हा की

Posted On: 9 Aug, 2012 Others में

Special Daysव्रत-त्यौहार, सितारों के जन्म दिन, राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय महत्व के घोषित दिनों पर आधारित ब्लॉग

महत्वपूर्ण दिवस

1021 Posts

2135 Comments

मेरे तो गिरधर गोपाल दूसरा ना कोई

जाके सिर मोर मुकुट मेरो प्रभु सोई


कहानी कृष्ण जन्म की

तरह-तरह की लीलाओं से सबके मन को भाने वाले, सांवले रंग और मनमोहनी सूरत वाले भगवान कृष्ण के जन्मोत्सव को इस साल 10 अगस्त को मनाया जाएगा. कृष्णा की धूम सिर्फ मथुरा या ब्रज तक ही सीमित नहीं है बल्कि पूरे भारत में इनकी धूम देखने को मिलती है.


Janmashtami in India

देश के विभिन्न हिस्सों में यह पर्व अलग-अलग तरीके से मनाया जाता है. श्रीकृष्ण जन्माष्टमी (Janmashtami) के मौके पर मथुरा नगरी भक्ति के रंगों से सराबोर हो उठती है. मथुरा, वृंदावन और यूपी में आपको इस दिन कृष्ण-लीलाएं और रास-लीलाएं देखने को मिलेंगी तो वहीं महाराष्ट्र में मटकी-फोड़ने का विधान है. कृष्ण को लीलाओं का सरताज माना जाता है, उनका पूरा बचपन विभिन्न लीलाओं से भरा हुआ है. इसीलिए इस दिन झांकियों के द्वारा लोग उनके बाल जीवन को प्रदर्शित करने की कोशिश करते हैं. Watch: कृष्ण भजन (Krishna Bhajan)


 Janmashtami 2012Janmashtami in Brij: ब्रज की जन्माष्टमी

नंद के आनंद भये,जय कन्हैया लाल की

जवानन कूं हाथी-घोडा, बूढन कूं पालकी॥

ब्रज के लोग कन्हैया के जन्म की खुशी में नाचते हुए यह गा उठते हैं. यहां जन्माष्टमी (Janmashtami) अनोखे रूप में मनाई जाती है. संपूर्ण वातावरण वात्सल्य से भर उठता है. हर घर में खुशी की लहर दौड़ जाती है. मानो घर के सबसे छोटे व लाडले शिशु का जन्मोत्सव मनाया जा रहा हो.


वृंदावन के ठाकुर श्री बांके बिहारी मंदिर में वर्ष भर में केवल इसी दिन सुबह मंगला आरती होती है. समूचे ब्रज में दीपावली जैसी धूम रहती है.


Janmashtami in Mathura: मथुरा का सौन्दर्य
जन्माष्टमी वैसे तो पूरी भारत में पूरे हर्षोल्लास के साथ मनाई जाती है लेकिन कृष्ण के अपने घर यानी मथुरा में इसकी उमंग का रंग देखते ही बनता है. यहां का जन्माष्टमी (Janmashtami) उत्सव इतना प्रसिद्ध है कि विदेशों से लोग खास इसे देखने आते हैं.


मथुरा में ही भगवान श्रीकृष्ण के जन्मस्थान पर मंदिर है जहां कृष्ण भगवान ने द्वापर युग में जन्म लिया था. इसके साथ ही जन्माष्टमी के उपलक्ष्य में मथुरा में गौरांग लीला और रामलीला होती है और ठाकुरजी के नए वस्त्रों को तैयार किया जाता है. मान्यता है कि ठाकुर जी का श्रृंगार सभी देवों से अद्भुत होता है.


मथुरा में इस दिन इतनी भीड़ होती है कि प्रशासन को काबू करने के लिए पुलिस बल का भी प्रयोग करना पडता है.


Janmashtami 2012गोविंदा आला रे आला

जन्माष्टमी ( Janmashtami) भारत के हर हिस्से में मनाई जाती है. मथुरा के अलावा मुंबई की जन्माष्टमी भी बहुत लोकप्रिय है. महाराष्‍ट्र में जन्‍माष्‍टमी के दौरान मिट्टी की मटकियों में दही व मक्‍खन डालकर उन्हें चुराने की कोशिश करने का(जैसा कृष्ण अपने बचपन में करते थे) उल्‍लासपूर्ण अभिनय किया जाता है. इन वस्‍तुओं से भरा एक मटका जमीन से ऊपर लटका दिया जाता है तथा युवक व बालक इस तक पहुंचने के लिए मानव पिरामिड बनाते हैं और अन्‍तत: इसे फोड़ डालते हैं. इसे कई लोग गोविंदा का नाम भी देते हैं.



Read More: कृष्ण की रास लीलाएं

Tag: Janmashtami in mathura, Janmashtami celebrations in Mathura, Krishna Janmashtami in Mathura, Mathura,and,Vrindavan,during,Krishna,Janmashtami,festival, Mathura and Vrindavan during Krishna Janmashtami festival, Janmashtami in Mathura

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग