blogid : 14778 postid : 738221

बदनाम होते होते हम मशहूर हो गये(ग़ज़ल)

Posted On: 4 May, 2014 Others में

CHINTAN JAROORI HAIजीवन का संगीत

deepak pande

174 Posts

948 Comments

अपने ही इस अहं मेँ यूँ चूर हो गये ।

अपनोँ से अपने आप ही हम दूर हो गये ॥

जिन दरख्तोँ के साये मेँ बीता था ये बचपन ।

उन दरख्तोँ को काटने को हम मजबूर हो गये ॥

जिन्दगी तुझे अपने अन्दाज मैँ जीने चले थे हम ।

खुद जिन्दगी के फैसले मन्जूर हो गये

अपनो ने अपने आप ही इतने दिये जखम ।

रिसते हुए वो जख्म भी नासूर हो गये ॥

बन्दगी मेँ तेरी ए खुदा इतने हुए बदनाम ।

बदनाम होते होते हम मशहूर हो गये ॥

दीपक पाण्डेय

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 4.50 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग