blogid : 4721 postid : 198

श्री हनुमान मंत्र (जंजीरा)

Posted On: 2 Nov, 2011 Others में

Religious Mantra, Festivals, Vrat katha, Poojan Vidhiविविध धर्मों-त्यौहारों के रीति-रिवाज, पूजा पद्धति, धार्मिक मंत्रों का समग्र संकलन

Religious-Spiritual Blog

191 Posts

264 Comments

tantric_diagram_of_fivefaced_lord_hanuman_wi11हनुमान को हिन्दु धर्म में विघ्नहर्ता और संकठमोचक बताया गया है. श्री राम भक्त हनुमान की महिमा देश में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी प्रचलित है. यूं तो हनुमान जी का नाम लेने भर से डर और भय का निवारण हो जाता है लेकिन फिर भी अति संकठ आने पर “हनुमान चालिसा” सबसे प्रभावशाली मंत्र माना जाता है.


आस्था के इस भगवान को पवनपुत्र और राम भक्त जैसे नामों से भी जाना जाता है. हनुमान चालिसा के अतिरिक्त भगवान हनुमान की अराधना करने के लिए हनुमान बाण और हनुमान जी की आरती भी हैं. लेकिन एक मंत्र ऐसा भी है जो डर और भय को मात्र एक माला के जाप मॆं ही छूमंतर कर देता है. “हनुमान जंजीरा” नामक यह मंत्र आसान और बेहद कारगर है.


इस मंत्र की प्रतिदिन एक माला जप करने से मंत्र सिद्ध हो जाता है। हनुमान मंदिर में जाकर साधक अगरबत्ती जलाएँ। इक्कीसवें दिन उसी मंदिर में एक नारियल व लाल कपड़े की एक ध्वजा चढ़ाएँ। जप के बीच होने वाले अलौकिक चमत्कारों का अनुभव करके घबराना नहीं चाहिए। यह मंत्र भूत-प्रेत, डाकिनी-शाकिनी, नजर, टपकार व शरीर की रक्षा के लिए अत्यंत सफल है।


श्री हनुमान मंत्र (जंजीरा)

ॐ हनुमान पहलवान पहलवान, बरस बारह का जबान,

हाथ में लड्‍डू मुख में पान, खेल खेल गढ़ लंका के चौगान,

अंजनी‍ का पूत, राम का दूत, छिन में कीलौ

नौ खंड का भू‍त, जाग जाग हड़मान

हुँकाला, ताती लोहा लंकाला, शीश जटा

डग डेरू उमर गाजे, वज्र की कोठड़ी ब्रज का ताला

आगे अर्जुन पीछे भीम, चोर नार चंपे

ने सींण, अजरा झरे भरया भरे, ई घट पिंड

की रक्षा राजा रामचंद्र जी लक्ष्मण कुँवर हड़मान करें।


Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (20 votes, average: 4.30 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग