blogid : 16095 postid : 791644

चला जारहा कौन .... डा श्याम गुप्त ..

Posted On: 1 Oct, 2014 Others में

drshyam jagaran blogJust another Jagranjunction Blogs weblog

drshyamgupta

125 Posts

230 Comments

१.

कमर झुकाए लाठी टेके,

तन पर धोती एक लपेटे |

नंगे पैरों कठिन मार्ग पर

चला जारहा कौन |

चला जारहा मौन |

२.

‘रघुपति राघव राजाराम,

पतित पावन सीताराम |’

मधुरिम स्वर लहरी में गाता,

चला जारहा कौन |

चला जारहा मौन |

3.

‘ईश्वर अल्लाह तेरे नाम

सबको सम्मति दे भगवान |’

हम सबको है एक्य बताता,

चला जारहा कौन |

चला जारहा मौन…

४.

ये तो अपने राष्ट्र पिता हैं,

ये तो अरे महात्मा गांधी |

ये तो विश्व वंद्य बापू हैं,

ये तो रे इस युग की आंधी |

५.

ये तो कलियुग के मोहन हैं,

ये बच्चों के गांधी बावा |

ये भारत के लौह पुरुष हैं,

ये भारत के भाग्य विधाता |

६.

पत्थर पर पदचिन्ह बनाता,

आज़ादी की राह दिखाता |

सारा जग है जिसके पीछे,

चला जारहा मौन |

चला जारहा कौन ||

-3

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग