blogid : 7037 postid : 248

चराग मिल के जलाओ अजी दिवाली है

Posted On: 13 Nov, 2012 Others में

दिल की बातें दिल सेdrsuryabali.com

डॉ॰ सूर्या बाली "सूरज"

47 Posts

1463 Comments

diwali-pictures1

चराग मिल के जलाओ अजी दिवाली है।

सियाह1 रात हटाओ अजी दिवाली है॥


भुला के हर गिला शिकवा क़रीब आ जाओ,

गले से सबको लगाओ अजी दिवाली है॥


किसी भी दर2 पे ग़मों की न तीरगी3 ठहरे,

खुशी के दीप जलाओ अजी दिवाली है॥


चरागो जलते रहो शाम से सहर4 तक तुम,

हवा के होश उड़ाओ अजी दिवाली है॥


बिखर रही है चरागो की रौशनी हरसू5,

अंधेरे दिल के मिटाओ अजी दिवाली है॥


ज़मीन पे आज उतर आई कहकशाँ6 जैसे,

नक़ाब तुम भी उठाओ अजी दिवाली है॥


हरेक शख़्स को खुशियाँ मिले यहाँ “सूरज”,

जहां में प्यार लुटाओ अजी दिवाली है॥


डॉ. सूर्या बाली “सूरज”


1=अंधेरी 2=दरवाजा 3=अंधेरा 4=सुबह 5=चारो ओर 6= आकाश गंगा

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (9 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग