blogid : 319 postid : 2982

पुराने प्यार की याद कभी ना कभी तो आती है

Posted On: 25 Dec, 2012 Bollywood में

खजाना मस्तीजब हों अकेले और उदास कर लें थोड़ी मस्ती से मुलाकात

Entertainment Blog

2041 Posts

669 Comments

nagma and ravi kishanजब किसी को सच्चा प्यार हो जाता है तो व्यक्ति कितनी भी कोशिशें कर ले पर सच्चा प्यार कभी ना कभी उसकी जिंदगी में वापस आ ही जाता है. बहुत बार तो ऐसा भी देखा गया है कि जब व्यक्ति को सच्चा प्यार हो जाता है तो वो उसके सिवा किसी और से शादी तक नहीं करता है. ऐसा ही कुछ हाल नगमा का लगता है. नगमा का नाम बॉलीवुड की उन अभिनेत्रियों में से एक है जिन्होंने पर्दे पर तो नाम कमाया ही और राजनीति में भी अपने आप को बेहतर साबित किया है.

Read:‘अंतिम संगीत ताजमहल को दिया’


नगमा और रवि किशन का प्यार

एक समय था जब नगमा ने भोजपुरी फिल्मों के मशहूर अभिनेता रवि किशन से सच्चा प्यार किया था पर दोनों का प्यार ज्यादा समय तक चल नहीं सका या फिर सीधा कहें तो दोनों का प्यार शादी की मंजिल तक नहीं पहुंच सका था. रवि किशन और नगमा एक बार फिर खबरों में छा गए थे जब 1970 में आई अमिताभ बच्चन और जीनत अमान स्टारर फिल्म ‘डॉन’ का भोजपुरी रीमेक बनाने की बात हो रही थी और उस फिल्म में नगमा और रवि किशन को एक साथ काम करने का ऑफर दिया जा रहा था. वो एक ऐसा समय था जब मीडिया में यह खबर चल रही थी कि नगमा और रवि फिर से एक साथ प्यार करते हुए नजर आएंगे.


‘कभी भी आपत्तिजनक बातों को सहन नहीं करती’

नगमा उन अभिनेत्रियों में से एक हैं जो कभी भी अपने सम्मान के साथ कोई भी आपतिजनक बातों को सहन नहीं करती हैं. नगमा एक राजनेत्री के रूप में तब चर्चा में आई थीं जब एक बार कांग्रेस पार्टी का प्रचार करते समय कांग्रेस प्रत्याशी हुसैन अहमद अंसारी ने नगमा को माला पहनाते वक्त उनके कंधे पर हाथ रखने की कोशिश की थी और नगमा ने बिना देर किए उनका हाथ झटक दिया था. हुसैन अंसारी यहीं नहीं रुके थे और उन्होंने नगमा की आंख और जुल्फों की तारीफ में कसीदे पढ़ने शुरू कर दिए थे. इस वारदात के बावजूद नगमा ने अपने आप को संभालते हुए पार्टियों के नेताओं को इशारा दिया था कि वो कभी भी किसी आपत्तिजनक बातों को सहन नहीं करती हैं.

Read:वेश्या बनकर मुजरा करने की बात ही कुछ और है


nagmaनगमा का फिल्मी सफर

नगमा ने बॉलीवुड में ही नहीं तेलुगू, भोजपुरी, मराठी, पंजाबी भाषाओं की फिल्मों में भी काम किया था. यदि नगमा के बारे में ऐसा कहा जाए कि नगमा की अभिनय की चाहत ने ही उन्हें हर भाषा की फिल्म में प्रसिद्धि दिलाई तो शायद यह वाक्य गलत नहीं होगा. नगमा के पिता टेक्सटाइल जगत के धुरंधर अरविंद प्रतापसिंह मोरारजी और उनकी मां सीमा सदाना हैं. नगमा ने 1990 में सलमान खान के साथ बॉलीवुड में धमाल एंट्री ली थी और फिल्म का नाम (Baaghi: A Rebel for Love) था. नगमा जब 16 साल की थी तो करिश्मा कपूर के साथ 1994 में आई फिल्म सुहाग में भी अपने अभिनय का बेहतर प्रदर्शन दिया था. नगमा ने तेलुगू में हिट फ़िल्में दीं जिसमें 1993 में आई चिंरजीवी और चंद्रकाता जैसी फिल्में सुपरहिट थीं. 1994 में प्रभु देवा के साथ नगमा ने ‘कादलन’ फिल्म की थी जो सुपरहिट तेलुगू फिल्मों की लिस्ट में शामिल है.


नगमा जैसी अभिनेत्रियों का नाम हमेशा ही उस लिस्ट में रहेगा जो अपनी अभिनय की कला को हर भाषा की फिल्म में दिखाती हैं और पर्दे की दुनिया में हिट होने के साथ-साथ राजनीतिक गलियारों में भी शख्सियत हासिल करती हैं.

Read:पत्नी किसी की थी प्यार किसी और से करती थी


Tags: Nagma, Nagma and Ravi Kishan, Ravi Kishan, Nagma affairs, Nagma Filmography, नगमा, रवि किशन, नगमा और रवि किशन

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 1.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग