blogid : 319 postid : 1396943

90 के दशक के ये 5 मजबूत महिला किरदार, टीवी की आज की नायिकाओं को पीछे छोड़ते हैं

Posted On: 16 Sep, 2019 Bollywood में

Pratima Jaiswal

खजाना मस्तीजब हों अकेले और उदास कर लें थोड़ी मस्ती से मुलाकात

Entertainment Blog

2746 Posts

670 Comments

घर-घर में मनोरंजन का सबसे बड़ा माध्‍यम टीवी सीरियल्‍स हैं। ज्‍यादातर घरों में एक-दो सीरियल ऐसे जरूर होते हैं, जो पूरा परिवार या परिवार के ज्‍यादातर सदस्‍य देखना पसंद करते हैं। इन सीरियल्‍स के बारे में घरों में चर्चा भी ऐसे होती है, जैसे सीरियल के किरदार उस घर का हिस्‍सा हों। टीवी पर आने वाले ज्‍यादातर सीरियल्‍स फैमिली ड्रामा होते हैं। इन टीवी सीरियल्स में दिखाए जाने वाले अधिकतर महिला किरदार सुंदर और सुशील पत्नियों के होते हैं। इन किरदार में या तो महिलाएं हमेशा साजिशों से घिरी रहती हैं या फिर अपने परिवार की रक्षा के लिए जान देने तक को तैयार रहती हैं। मगर आज से 10-15 साल पहले टीवी पर ऐसे सीरियल आते थे, जिनमें महिलाओं का बेहद मजबूत किरदार होता था। आइये आपको ऐसे ही पांच महिला किरदारों के बारे में बताते हैं, जो आज भी यादगार हैं-

 

TV cover

मोनिका

monica

टीवी सीरियल ‘सारा आकाश’ में साई देवधर ने फ्लाइट लेफ्टिनेंट ‘मोनिका विक्रम कोचर’ का किरदार निभाया था। ‘मोनिका’ एक मजबूत लड़की थी, जिसे हर चैलेंज का सामना करना अच्छा लगता था। ‘मोनिका’ एक बेधड़क और कॉन्फिडेंट महिला का किरदार था।

सिमरन

simran

सीरियल ‘अस्तित्व: एक प्रेम कहानी’ में ‘सिमरन’ एक महिला डॉक्टर थी। ‘सिमरन’ खुद से दस साल छोटे लड़के के साथ घर छोड़कर भाग जाती है। इसकी वजह से उसे अपने परिवार और समाज दोनों का विरोध झेलना पड़ता है। ‘सिमरन’ की खासियत वह थी कि वो खुद को बहुत अच्छे से जानती थी और समाज के सारे विरोध का जवाब देने के लिए तैयार थी।

स्वेतलाना

swabhiman

दूरदर्शन के पॉपुलर टीवी शो ‘स्वाभिमान’ में एक्ट्रेस किटू गिडवानी ने ‘स्वेतलाना’ का किरदार निभाया था। ‘स्वेतलाना’ को खुद को समझने में काफी समय लगता है और वो एक मजबूत व सशक्त महिला बनकर उभरती है। इस सीरियल को बॉलीवुड डायरेक्टर महेश भट्ट ने डायरेक्ट किया था।

तारा

tara

भारतीय टेलीविजन पर ‘तारा’ पहला शो था, जिसमें मॉडर्न महिला किरदारों को लेकर कहानी लिखी गई थी। इस सीरियल में मुख्य भूमिका नवनीत निशान ने निभाई थी, जिन्‍होंने बॉलीवुड फिल्मों में भी काम किया है। ‘तारा’ के साथ-साथ उसकी तीन सहेलियों ‘कंचन’, ‘शीना’ और ‘आरजू’ के किरदार भी बहुत मजबूत थे। इस सीरियल के सभी किरदारों को जीवन में बहुत कड़े फैसले लेते हुए दिखाया गया था।

शांति

shanti1

‘शांति’ भारत का पहला डेली सोप था। इसमें मंदिरा बेदी ने एक ऐसी निडर जर्नलिस्ट का किरदार निभाया था, जो एक मजदूर की बेटी रहती है। ‘शांति’ का जन्म उसकी मां के गैंगरेप के कारण हुआ था। इस किरदार का मुख्य मकसद अपनी मां को न्याय दिलाना और अपने पिता की पहचान करना है। अपने मकसद को पूरा करने के लिए ‘शांति’ अपनी मां का रेप करने वाले ‘कामेश महाजन’ और ‘राज सिंह’ से दोस्ती करती है। यह बेहद मजबूत किरदार है…Next

Read More:

कनाडा के पीएम का नहीं हुआ अपमान, ट्रूडो से मोदी के न मिलने की ये है वजह!

नागालैंड के चुनाव में  रईसों का दबदबा, इतने उम्‍मीदवार हैं करोड़पति

शाहरुख की रिजेक्‍ट की हुई इन 7 फिल्‍मों ने बॉक्‍स ऑफिस पर जमकर मचाया धमाल

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग