blogid : 319 postid : 1397008

480 रुपए सैलेरी में गोलगप्पे और ऑफिस से मिला खाना खाकर गुजारा करते थे अमिताभ, कुछ ऐसे थे संघर्ष के दिन

Posted On: 25 Sep, 2019 Bollywood में

Pratima Jaiswal

खजाना मस्तीजब हों अकेले और उदास कर लें थोड़ी मस्ती से मुलाकात

Entertainment Blog

2746 Posts

670 Comments

कहते हैं, दुनिया में सबसे बलवान वक्त है। इंसान को अर्श और फर्श के महत्व को सिखा देता है। मनोरंजन की दुनिया में कई सितारों के संघर्ष से जुड़ी कहानियां हमें पढ़ने-सुनने को मिलती रहती है। इसी तरह बॉलीवुड के ‘शंहशाह’ कहे जाने वाले अमिताभ की कहानी भी है। उन्हें भारतीय सिनेमा का सबसे बड़ा ‘दादा साहब फाल्के अवॉर्ड’ मिलने की घोषणा हुई है। सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने मंगलवार शाम ट्वीट करके इस बारे में जानकारी दी। ऐसे में उनके कॅरियर के उतार-चढ़ाव वाले दिनों की फिर से यादें ताजा हो गई। आइए, जानते हैं उनकी जिंदगी से जुड़ी कुछ खास बातें-

 

 

पहले कोलकाता में करते थे काम
पहली मूवी में काम करने से पहले अमिताभ बच्चन 1962 से 1969 तक कोलकाता में रहे। यहां उन्होंने 7 साल में 4 अलग-अलग कंपनियों में जॉब की। उनकी पहली जॉब कोलकाता में ब्रिटिश कोल फर्म ‘बर्ड एंड कंपनी’ में बतौर एक्जीक्यूटिव लगी थी। वहां से रिजाइन के बाद दूसरी जॉब ‘मैकिनन मैकेंजी’ में, तीसरी ‘शॉ वैलेस’ में और लास्ट जॉब के तौर पर ब्रिटिश शिपिंग कंपनी ‘ब्लैकर एंड कंपनी’ में बतौर मार्केटिंग एक्जीक्युटिव काम किया।

 

गोलगप्पे खाकर गुजारा करते थे अमिताभ
अपने एक ब्लॉग में अमिताभ ने अपने संघर्ष के दिनों की यादों को अपने फैंस के साथ शेयर किया था।अमिताभ को उस दौरान करीब 480 रूपये सैलरी मिलती थी, जिसमें से 350 रूपये उनके हॉस्ल का रहने और खाने का खर्चा था, ऐसे में उनके पास बहुत कम पैसे बचते थे, इसलिए वो ऑफिस का मुफ्त खाना खाते और शाम को 2 रूपये के गोलप्पे खाकर अपना गुजारा करते थे।

 

View this post on Instagram

… On fleek !!!

A post shared by Amitabh Bachchan (@amitabhbachchan) on

 

रेकॉर्डिंग सेंटर में कमाते थे 50 रुपए
जी हां, अमिताभ जब मुंबई आए उस दौरान उनके पास काम नहीं था। जलाल आगा ने एक विज्ञापन कंपनी खोल रखी थी, जो विविध भारती के लिए विज्ञापन बनाती थी। जलाल, अमिताभ को वर्ली के एक छोटे से रेकॉर्डिंग सेंटर में ले जाते थे, और एक-दो मिनट के विज्ञापनों में वे अमिताभ की आवाज रिकॉर्ड करते और उन्हें बदले 50 रुपए देते थे।

 

बिस्कुट खाकर रहते थे कई बार
अमिताभ के पास तब इतने पैसे नहीं थे कि वो पेट भर खाना खा सकते थे। 50 रुपये बहुत थे, लेकिन उनका खर्चा इससे कहीं ज्यादा था। हर दिन सुबह वो काम की तलाश में भटकते और रात को बचे पैसों से बेकरी के सस्ते बिस्कुट आधे दाम में खरीद लेते औऱ वही खाया करते थे।

 

 

यहां लिया पहला घर
आनंद’ और ‘परवाना’ फिल्मों में काम करने के बदले अमिताभ को तीस-तीस हजार रुपए मिले थे। उस वक्त अमिताभ अनवर अली के साथ रहत थे। पैसै आते ही सबसे पहले अमिताभ ने अनवर अली के फ्लैट को छो़ड़कर जुहू-पार्ले स्कीम में नार्थ-साउथ रोड पर सात नंबर के मकान में रहने लगे।

 

12 फिल्में हुई थी फ्लॉप
अमिताभ का सफर बेहद कठिन था, उनकी 12 फिल्में ने बॉक्स ऑफिस पर बहुत खराब काम किया था। कोई भी अमिताभ के साथ काम करने को तैयार नहीं था, ऐसे में उनकी झोली में आ गिरी उनकी 13वें फिल्मी ‘जंजीर’ और इसी फिल्म ने अमिताभ को बॉलीवुड में रातों-रात स्टार बना दिया।

 

इतने घरों के मालिक हैं अमिताभ
मुंबई में अमिताभ के करीब पांच घर है। बिग बी, के पास पहले से जलसा, प्रतीक्षा, जनक, वत्स नाम से कुल पांच बंगले हैं। हालांकि, बच्चन परिवार जलसा में रहता है। जनक बंगले में बिग बी ने अपना ऑफिस बनाया है।

 

इन शानदार कारों के हैं मालिक
अमिताभ के पास पनी कार कलेक्शन के लिए भी फेमस हैं। उनके पास रॉल्स रॉयल, फैंटम, पोर्शे, बीएमडब्ल्यू टोयोटा लैंड क्रूसर जैसी कारें हैं। अमिताभ बच्चन की ज्यादातर कारों को उनकी जरूरत के हिसाब से कंपनियों ने कस्टमाइज करके दिया है। ये बुलेटप्रूप और रेडियल टायर वाली कारें हैं। एक टायर की कीमत 2. 5 लाख रुपए है।

 

 

करोड़ो की है संपत्ति
अमीर एक्टर्स की लिस्ट में बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता अमिताभ बच्चन का भी स्थान आता है। सदी के महानायक अमिताभ बच्चन की कुल संपत्ति 2,800 करोड़ रुपए की है। अगर पूरी बच्चन फैमिली की बात की जाए तो बच्चन परिवार 400 मिलियन डॉलर का मालिक है। अमिताभ कई ऐड करते हैं, जिससे उन्हें कई गुना पैसे मिलते हैं।…Next

 

Read more

तो इन्होंने पॉल वॉकर के मरने के बाद फास्ट एंड फ्युरियस7 फिल्म को पूरा किया, जाने कौन हैं ये

अपने ब्यॉयफ्रेंड को पीछे छोड़ बॉलीवुड में नाम कमाया इन स्टार अभिनेत्रियो ने

बॉलीवुड में एक्टिंग करने से पहले ये एक्टर थे चौकीदार, जानिये इनकी कहानी

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग